यूपी पंचायत चुनाव: सियासत के मैदान में पूरा खानदान

राजनीतिमें3अक्तूबरकादिनकुछखासथा.यहीवहदिनथा,जबसबसेबड़ाराजनैतिकघरानायानीसमाजवादीपार्टी(सपा)केराष्ट्रीयअध्यक्षमुलायमसिंहयादवकाकुनबापंचायतचुनावकेजरिएअपनेपरिवारकेतीननएसदस्योंकेराजनीतिमेंप्रवेशकाइस्तकबालकररहाथा.समर्थकढोल-नगाड़ेकीथापपरनाचरहेथे.वाहनोंकेलंबेकाफिलेकेसाथदोपहरपौनेएकबजेमुलायमसिंह

केभतीजेअंशुलयादवइटावाकेएडीएमकोर्टमेंसैफईवितीयवार्डसेजिलापंचायतसदस्य(डीडीसी)पदकेचुनावकेलिएपर्चादाखिलकररहेथे.अंशुलनेताजीकेछोटेभाईराजपालयादवकेबेटेहैं.उनकीमांप्रेमलतायादवपिछले10सालसेइटावाजिलापंचायतअध्यक्षहैं, जो इसबारअपनेबेटेकीखातिरचुनावमैदानसेदूरहैं.

प्रेमलताअपनेबेटेकीखातिरचुनावनहींलड़रहींतोमुलायमसिंहकेपौत्रऔरमैनपुरीसेसांसदतेजप्रतापसिंहयादवउर्फ'तेज'कीमांमृदुलायादवअपनेपतिकीविरासतसंभालनेकीतैयारीमेंहैं.उन्होंने3अक्तूबरकोबड़ीसादगीकेसाथसैफईग्रामसभाकेवार्डनंबर10सेक्षेत्रपंचायतसदस्य(बीडीसी)केलिएअपनानामांकनभरा.इसकेबादमृदुलाकेसैफईब्लॉकप्रमुखकाचुनावलडऩेकीसंभावनाबलवतीहोगईहै.उसपदपरसांसदबननेसेपहलेउनकाबेटातेजप्रतापसिंहआसीनथा.हालांकि1994मेंजबसैफईद्ब्रलॉककागठनहुआथा,तबमृदुलाकेपतिरणवीरसिंहयादवपहलेब्लॉकप्रमुखबनेथे.

इसीतरहइटावामेंमुलायमकेबहनोईअजंटसिंहयादवइटावाकेबसरेहरब्लॉककीवार्डसंख्या24सेबीडीसीपदकेलिएअपनीदावेदारीठोकदी.6अक्तूबरकोशामपांचबजेनामवापसीकीघड़ीबीतनेकेसाथयहसाफहोगयाकिमुलायमपरिवारकेयेतीनोंसदस्यअपनेराजनैतिकजीवनकीपहलीजंगबिनाकिसीविरोधकेजीतनेजारहेहैं.

लालबत्तीपरनजर

जरारामपालराजवंशीकोदेखिए.वेवर्ष2012केविधानसभाचुनावमेंसपाकेटिकटपरसीतापुरकीमिश्रिखविधानसभासीटसेविधायकबने.इसकेबादप्रदेशसरकारमेंराज्यमंत्रीकीशपथली.इतनेसेमननहींभरा.जैसेहीपंचायतचुनावकाबिगुलबजा,राजवंशीनेजिलापंचायतऔरक्षेत्रपंचायत(ब्लॉक)अध्यक्षकेलिएलामबंदीशुरूकरदी.वेअपनेदोनोंबेटेऔरएकबहूकोजिलापंचायतसदस्यकाचुनावलड़वारहेहैंतोपत्नीसमेतदोबेटियांक्षेत्रपंचायतसदस्यकेलिएमैदानमेंहैं.रामपालअकेलेनहींहैं.बलरामपुरमेंगैसडीसेविधायकऔरसपासरकारमेंजंतुउद्यानमंत्रीडॉ.एस.पी.सिंहयादवकापूराकुनबापंचायतचुनावमेंकूदपड़ाहै.(देखेंग्राफिक)लखनऊविविमेंराजनीतिशास्त्रविभागकेपूर्वअध्यक्षडॉ.एस.के.द्विवेदीकहतेहैं,''नेताओंकीनजरजिलापंचायतऔरब्लॉकपंचायतअध्यक्षपदपरहै.जिलापंचायतअध्यक्षकोमिलनेवालीलालबत्तीऔरकईविभागोंमेंकरोड़ोंरुपएकेबजटनेइसपदकोप्रभावशालीबनादियाहै.''

सपासरकारकेमंत्रियोंकेनक्शेकदमपरचलतेहुएपार्टीकेविधायकोंनेभीपंचायतचुनावमेंअपनेनजदीकीरिश्तेदारोंकोराजनीतिकाककहरापढ़ानेकेलिएअपनीपूरीताकतझोंकदीहै.लखनऊसेसटेबाराबंकीजिलेकोहीलें.यहांसपाकेसदरविधायकसुरेशयादवकीपत्नीआशा,बेटीशालिनीऔरसुमननिर्विरोधक्षेत्रपंचायतसदस्यचुनीगईहैं.सुरेशयादवकेछोटेभाईधर्मेंद्रयादवकीपत्नीराजवंतीबंकीद्वितीयसेडीडीसीकाचुनावलड़रहीहैं.इसीतरहजैतपुरविधायकरामगोपालरावतकाबेटाऔरभतीजाजिलापंचायतसदस्यकेलिएअपनी-अपनीतालठोकरहेहैं.एकअनुमानकेमुताबिक,सत्तारूढ़सपाकेकरीब60फीसदीसेअधिकविधायकोंनेअपनेहीपरिवारकेसदस्योंऔरअपनेनजदीकीलोगोंकोपंचायतचुनावमेंउतारदियाहै.

आरक्षणसेचमकापरिवारवाद

यूंतोपंचायतचुनावोंमेंसभीपदोंपरचक्रानुक्रमआरक्षणकाप्रावधानकियागयाहै,लेकिनकईजगहोंपरयहीव्यवस्थापरिवारवादकीपोषकबनकरभीउभरीहै.मिसालकेतौरपरलखनऊकोलें.2010मेंयहांकाजिलापंचायतअध्यक्षपदसामान्यवर्गकेलिएआरक्षितथा.हालांकिइसपरबीएसपीनेताधर्मेंद्रप्रधानविजयीहुएथे.सपासरकारबननेकेबादहुएउलटफेरमेंजिलापंचायतसदस्यविजयबहादुरयादवनेकुर्सीसंभाली.इसबारयहपदपिछड़ेवर्गकीमहिलाकेलिएआरक्षितहोगया.अबविजयबहादुरनेअपनीपत्नीमायायादवकोचुनावलड़वायाहैताकिजिलापंचायतअध्यक्षकीकुर्सीपरदावाठोकाजासके.

इसीतरहपिछलेचुनावमेंजालौन,श्रावस्तीऔरललितपुरजिलोंकेपंचायतअध्यक्षकापदसामान्यवर्गकेलिएआरक्षितथा,लेकिनइसबारयहसीटसामान्यवर्गकीमहिलाकेलिएहै.नतीजाइनजिलोंकेनिवर्तमानपंचायतअध्यक्षोंनेअपनेपरिवारकीमहिलाओंकोचुनावमेंउतारदियाहै.इन्हींजिलोंमेंगोंडाभीहै.यहांसपासरकारमेंराज्यमंत्रीयोगेशप्रतापसिंहकीपत्नीविजयलक्ष्मीसिंहजिलापंचायतअध्यक्षहैं.इसबारयहसीटमहिलाकेलिएआरक्षितहोगईहैऔरविजयलक्ष्मीदोबारामैदानमेंहैं.लेकिनऔरैया,झांसीऔरइटावाकेजिलापंचायतअध्यक्षपदकेआरक्षणकोलेकरसवालउठरहेहैं.पिछलेचुनावमेंभीयहसामान्यवर्गकेलिएआरक्षितथाऔरइसबारभीइसमेंकोईबदलावनहींहुआहै.विपक्षीदलोंनेआरक्षणकेतरीकेपरसवालउठातेहुएराज्यचुनावआयोगकेसमक्षअपनीआपत्तिदर्जकराईहै.

विपक्षीदलभीचपेटमें

परिवारवादकीचपेटमेंकेवलसत्तारूढ़दलहीनहींहै.विपक्षीदलोंकेनेताभीइनचुनावमेंअपनेसगे-संबंधियोंकोराजनीतिमेंलानेकामौकाहाथसेनहींजानेदेनाचाहते.श्रावस्तीमेंबीजेपीकेजिलाअध्यक्षरामफेरनपांडेयखुदतोडीडीसीकेलिएकिस्मतआजमाहीरहेहैं.उनकीपत्नीऔरब्लॉकप्रमुखमिथिलेशपांडेयभीबीडीसीपदकेलिएअपनीदोपुत्रियोंनीतूपांडेयऔरसन्नोदेवीकेसाथमैदानमेंडटीहैं.प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेभलेहीअपनेसांसदोंकोपरिवारवादसेदूररहनेकीताकीदकीहो,लेकिनपंचायतचुनावमेंबीजेपीसांसदभीपारिवारिकसदस्योंपरदांवलगानेकामोहनहींछोड़पाए.धौरहरासेबीजेपीसांसदरेखावर्माअपनीमांउर्मिलाकटियारकोपसगवांब्लॉकसेबीडीसीकाचुनावलड़वारहीहैं.बीएसपीप्रमुखमायावतीकारुखभीनर्महै.पार्टीनेराज्यसभासांसदवीरसिंहकीपत्नीविनयवीरसिंहकोमुरादाबादकेवार्ड14सेडीडीसीपदकेलिएचुनावमेंउताराहै.मुजफ्फरनगरमेंबीएसपीविधायकअनिलकुमारकीपत्नीखड़ीहैं.

आदर्शवादकाढोलपीटनेवालेनेताओंनेजैसेपरिवारवादकीबेलअपनेऊपरचढ़ाईहै,उससेजनताकेसामनेउनकीअसुरक्षाहीजाहिरहोतीहै.चुनावमेंभलेवेजीतजाएं,लेकिनलोकतंत्रमेंआगेउनकीहारसुनिश्चितहै.