यस बैंक की शाखाओं में कैश खत्म, ग्राहकों का आरोप- नकदी देने में भेदभाव

जागरणसंवाददाता,रोहतक:

वित्तीयसंकटसेजूझरहेयसबैंककेग्राहकअपनेसभीजरूरीकार्यछोड़करकैशनिकलवानेकेलिएलाइनमेंलगगएहैं।दिननिकलनेसेपहलेबैंककेबाहरलाइनमेंखड़ेहोजातेहैंऔरबंदहोनेकेबादघरवापसलौटतेहैं।ग्राहकोंनेबैंककर्मियोंपरकैशदेनेकेमामलेमेंभेदभावबरतनेकेआरोपभीलगानेशुरूकरदिएहैं।उनकाकहनाहैकिमिलीभगतसेचहेतेग्राहकोंकोहीचेकसेरुपयेदिएजारहेहैंजबकिअन्यग्राहकइधर-उधरधक्केखानेपरमजबूरहैं।भीड़अधिकजुटनेपरकर्मचारीकैशनहींहोनेकीबातकरटोकनदेनेलगेहैं।इससेग्राहकोंकीचितापहलेसेज्यादाबढ़गईहै।वहींदूसरीओरमुख्यशाखाकेप्रबंधकविकासनेइनदावोंकोखारिजकियाहै।वहींबैंकअधिकारियोंनेइनदावोंकोसिरेसेखारिजकियाहै।बतादेंकिरिजर्वबैंकऑफइंडिया(आरबीआइ)कीगाइडलाइनकेअनुसार

बैंककर्मचारियोंकेअनुसारसुबहकरीब11बजेतकबैंकमेंकैशआचुकाथा।दोपहरदोबजेतकटोकननंबरकेअनुसारराशिबांटीगई।हालांकि,ग्राहकोंनेदावाकियायसबैंककेखाताधारकमहीनेमेंअधिकतर50हजाररुपयेबैंकसेनिकालसकतेहैं।ग्राहकोंकोअपनेपैसेडूबजानेकाभयसतारहाहै।होलीकेमौकेपरग्राहकबड़ीसंख्यामेंबैंकमेंपहुंचरहेहैं।दूसरीओरखाताधारकोंकेडेबिट-क्रेडिटकार्डभीब्लॉककरदिएगएहैं।रोहतकजिलेकीयसबैंककीशाखाओंमेंसिर्फचेकसेहीखाताधारकपैसानिकालसकताहै।वर्जन:

दोदिनसेबैंककेचक्करलगारहाहूं।यहांकैशखत्महोगयाहै।अधिकारीसहीसेकोईजवाबनहींदेरहे।फिलहालटोकनदेकरदोघंटेबादआनेकोकहाहै।

-जितेंद्र,सेक्टर-4बैंकमेंकैशखत्महै।सुबहनौबजेहीलाइनमेंलगगयाथा।दसबजेबतायागयाकिनोएडाकीकिसीशाखासेपैसाआएगा।

-विजय।एटीएमबंदपड़ेहैं।शाखाओंमेंपैसानहींहै।त्योहारकेसमयमेंपरेशानीहोरहीहै।अबसोमवारकोफिरसेआनापड़ेगा।

-बीडीगुप्ता,नारायणाकॉम्प्लेक्स।दोचक्करबैंककेलगाचुकाहूं।यहांसेलरीअकाउंटहै।तीनदिनबादहोलीहै।ऐसेमेंपैसोंकीसख्तजरूरतहै।डेबिटकार्डचलनहींरहे,बहुतपरेशानहूं।

-सक्षम,रेलवेरोड।जिसकंपनीमेंकामकरताहूंउसकेसेलरीअकाउंटयसबैंकमेंहैं।सभीकर्मचारीपरेशानहैं।सुबह10बजेऔरदोपहर12.30बजेपैसेलेनेगया।लेकिननहींमिलपाए।

-अमन,किलारोड।नोटबंदीकेसमययहांखाताखुलवायाथा।बैंकमेंअच्छीसुविधाएंमिलतीथी।फिलहाल,अच्छेसंकेतनहींहैं।

-राजेंद्र,सेक्टर-1बैंककेपासकैशकीकोईकमीनहींहै।गाइडलाइनकेअनुसारअधिकतम50हजारकीराशिखाताधारकोंकोदीजारहीहै।वर्किंगहावर्समेंपैसानिकालनेकेलिएखाताधारकआसकतेहैं।

-विकास,प्रबंधकयसबैंकमुख्यशाखा,रोहतक