योग से मन को शांति और शरीर को मिलती है ऊर्जा

महराजगंज:योगकीसभीविधायेंमनुष्यकेस्वास्थ्यकेलिएलाभकारीहैं।योगकरनेसेजहांतनावदूरहोताहै,वहींमनकोशांतिऔरशरीरकोऊर्जामिलतीहै।प्रत्येकमनुष्यकोसमयनिकालकरयोगअवश्यकरनाचाहिए।

यहकहनाहैविस्मिलनगरकेरहनेवालेयोगसाधककृष्णकुमारका।उन्होंनेकहाकिकोरोनाकालमेंलोगोंकोयोगकीमहत्तासमझमेंआईहै।योगकरनेसेसांसकीप्रणालीनियंत्रितरहतीहै।योगकीशशांकासनक्रियाकेबारेमेंउन्होंनेबतायाकिनियमितअभ्याससेतनावखत्महोताहैवचितादूरहोतीहै,साथहीयहमुद्राक्रोध,भयआदिकोकमकरनेमेंअहमभूमिकानिभाताहै।

इसआसनकोकरनेकेलिएवज्राशनयापद्मासनमेंबैठजाएंऔररीढ़कीहड्डीकोसीधीरखें।दोनोंघुटनोंकोफैलाएंऔरदोनोंबाहोंकोसिरकेऊपरउठाएं।बांहोंकोकंधेकीचौड़ाईजितनीदूरीपररखें।सांसछोड़तेहुएऔरबांहसीधीरखतेहुएकमरसेआगेकीओरझुकें।ठोड़ीऔरबांहफर्शपरटिकीहोनीचाहिएऔरसामनेदेखनेकीकोशिशकरें।सांसलेतेहुएधीरे-धीरेआरंभिकअवस्थामेंआजाएं।यहएकचक्रहुआ।इसतरहसेआपतीनसेपांचचक्रकरसकतेहैं।उन्होंनेकहाकिशशांकासनपीठदर्दसेपीड़ितव्यक्तियोंकोनहींकरनाचाहिए।हाईब्लडप्रेशरसंबंधीसमस्याहोनेपरभीइसयोगाभ्यासकोनकरें।

बच्चोंकेस्वास्थ्यकोलेकरबरतेंसावधानी

महराजगंज:मौसमपरिवर्तनकेकारणतरह-तरहकीबीमारियांउत्पन्नहोतीहैं।इससमयबच्चोंकेस्वास्थ्यकोलेकरकाफीसावधानीबरतनेकीजरूरतहै।वर्तमानमेंसर्दी,जुकामवबुखारकीदिक्कतदेखीजारहीहै।इसतरहकीपरेशानीहोतोघबराएंनहीं,तुरंतइलाजकराएं।समयसेइलाजमिलनेपरबीमारीजल्ददूरहोजाएगी।

यहकहनाहैजिलाअस्पतालकेडा.आरपीरायका।उन्होंनेकहाकिप्राय:देखाजाताहैकिबुखारहोनेपरलोगतीनचारदिनतकअपनेमनसेदवाखातेहैं।सुधारनहींहोताहैतबचिकित्सककेपासजातेहैं।उससमयतकस्थितिकाफीबिगड़चुकीहोतीहै।इसतरहकीलापरवाहीसेलोगोंकोबचनाचाहिए।मास्कजरूरलगाएंएवंसर्दी,जुकामवबुखारयदिहोताहै,उसमेंलापरवाहीनबरतें।डायबिटीज,किडनीवहृदयसेसंबंधितमरीजभीविशेषसावधानीबरतें।नियमितदवाओंकोलेतेरहें,साथहीहर्बलचीजोंकाभीप्रयोगकरें।रोगप्रतिरोधकक्षमतामजबूतरहेगीतोबीमारीनिकटनहींआएगी।संक्रमणसेबचावकेलिएगाइडलाइनकापालनकरें।