यहां हर रोज मुसीबतों का सामना करते हैं यात्री

सीतापुर:खैराबादकेविनीतलखनऊजानेकेलिएसीतापुरबसअड्डेपरपहुंचे।उनकेपासबड़ाबैगथा।वहसीटोंकेबीचनहींआसकताथा।इसेबसकेऊपरकैरियरपररखनाथा।यहबड़ामुश्किलकामथा।दरअसल,दोनोंतरफबसेंऔरबीचमेंमिट्टीकाढेर।मुश्किलमेंफंसेविनीतकेसामनेमिट्टीकेढेरपरचढ़नेकीमजबूरीथी।वहचढ़े।पैरमिट्टीमेंघुसनेलगे।जैसे-तैसेबचते-बचातेढेरपारकरनीचेउतरेऔरसामानकोकैरियरपररखवाया।जीहां,परिवहननिगमकेसीतापुरबसअड्डेपरयात्रियोंकोआजकलइसीतरहकीमुश्किलोंकासामनाकरनापड़रहाहै।दरअसल,बसअड्डेपरइंटरलॉकिगलगानेकाकामबेहदसुस्तगतिसेचलरहाहै।इससेयात्रियोंकोबहुतपरेशानीहोरहीहै।जमीनहीइनकीकुर्सियां

सोमवारदोपहरकरीब12:30बजेकाफीभीड़थी।मौजूदसवारियोंकीतुलनामेंबेंचेंकाफीकमथीं।इसवजहसेयात्रियोंकेसामनेजमीनपरबैठनेकीमजबूरीथी।इनमेंसेअधिकांशयात्रीतोअपनेसामानकोहीकुर्सीबनाकरबैठेहुएथे।मिट्टीकेबीचखुलेमेंरखेखाद्यपदार्थ

बसअड्डेपरयात्रियोंकेलिएयहभीबड़ीमुश्किलहै।दरअसल,धूलऔरमिट्टीकेबीचखुलेमेंरखेखाद्यपदार्थउनकेलिए'विष'बनसकतेहैं।मौसमतेवरबदलरहाहै।ऐसेमेंजिम्मेदारोंकोइसओरध्यानदेनेकीजरूरतहै।इनमेंभीसुधारकीजरूरत

-बसेंनिर्धारितप्लेटफार्मपरनहींखड़ीहोतीहैं।

-बसअड्डेपरयात्रियोंकेलिएलगीएलईडीबंदमिली।

-सफाईव्यवस्थाभीबदहालथी।रैपरबिखरेथे।

-इंटरलॉकिगभीबेतरतीबढंगसेलगाईगई।

चित्रपरिचय-17एसआइटी-35'हमेंदोदिनमेंइंटरलॉकिगकामपूराकरनेकेलिएबतायागयाथा।ऐसाहोनहींपाया।इसवजहसेदिक्कतेंकुछज्यादाहैं।अन्यव्यवस्थाओंकोहमसुधाररहेहैं।महिलाओंकेलिएदोशौचालयऔरबनवाएंगे।'

-विमलराजन,एआरएमसीतापुर