World Water Day 2021: धरती का सीना चीर कर हो रहा पानी का अनाधिकृत कारोबार

आगरा, अंबुजउपाध्याय।जलसंकटगंभीररूपलेरहाहै।बूंद-बूंदपानीकेलिएलोगतरसरहेहैं,इसकेबादभीगंभीररुखनहींअपनायाजारहाहै।शहरीक्षेत्रमेंभूगर्भजलस्तरप्रतिदिनगिररहाहै,तो15मेंसे13ब्लाकक्रिटिकलस्थितिमेंआगएहैं।सूखतीधरतीकीकोखकेकारणपैदाहोरहेजलसंकटकीपानीकाव्यापारकरनेवालोंकोचिंतानहींहै।वेधरतीकासीनाचीरकररोजहजारोंलीटरपानीकादोहनकरतेहैं,लेकिनकोईलगामनहींलगपारहीहै।वहींअनाधिकृतरूपसेसंचालितवाहनधुलाईकेंद्रभीपानीकादोहनकररहेहैं।वाहनोंकोधोनेकेनामपरसैकड़ोंलीटरपानीरोजबर्बादहोताहै।

शहरीक्षेत्रमेंएकहजारप्लांटबिनालाइसेंससंचालितहोरहेहैं,जबकि14प्लांटनेखाद्यसुरक्षाएवंऔषधिप्रशासन(एफएसडीए)सेलाइसेंसलियाहै।घर-घरमेंप्लांटखुलेहुएहैं,लेकिनजिम्मेदारोंनेआंखेंमूंदरखीहैं।येप्रतिदिनवाटरकूलर,20लीटरकीबोतल,छोटीपैक्डबोतलतैयारकरउसेबाजारमेंउपलब्धकरातेहैं।पानीकोशुद्धबनानेमें70फीसदहिस्साबर्बादचलाजाताहै,जिसेअनाधिकृतप्लांटवालेनालीमेंबहादेतेहैं।इसीतरहपेयजलसेलेकरसिंचाईतककेलिएपानीकासंकटखड़ाहै।ग्रामीणक्षेत्रोंमेंकईकिलोमीटरचलकरलोगोंकोपानीलानापड़रहाहै,तोशहरीक्षेत्रमेंभीआएदिनपानीकेलोगपरेशानहोतेहैं।शहरमें270सेअधिकवाहनधुलाईकेंद्रहैं,जोपानीकीबर्बादीकरतेहैं।कुछस्थानोंपरतोबोरिंगकराऔरपाइपलगाधुलाईकेंद्रचलरहेहैं।

-पैक्डमिनरलवाटरप्लांटकेलिएब्यूरोआफइंडियनस्टैंटर्डकालाइसेंसजरूरी।

-फूडएंडसेफ्टीएक्टकेतहतकिसीमिनरलवाटरप्लांटकोसंचालितकरनेकेलिएभूगर्भजलसंचयविभागसेएनओसीलेनाजरूरी

-प्लांटलगानेसेपहलेवाटरहार्वेस्टिंगकीव्यवस्थाजरूरीहै

-कामर्शियलएरियामेंहोनाचाहिएप्लांट

येहैजलस्तरकाआंकड़ा

भूजलविभागनेपिछलेदिनोंकातुलनात्मकआंकड़ाजारीकियाहै।शहरमेंलगाएगएपीजोमीटरकीरिपोर्टकेमुताबिक97फीसदस्थानोंपरभूजलमेंगिरावटदर्जकीगईहै।प्रीमानसूनएवंपोस्टमानसूनकेबादभीजलस्तरकेआंकड़ेमेंसुधारनहींहै।विशेषज्ञोंकीमानेंतोबारिशकेबादभूजलमेंकमसेकमदोसेतीनमीटरकासुधारहोनाचाहिए,जबकिऐसानहींहुआहै।

भूजलदोहनकीयहहैस्थिति

-अतिदोहितब्लाक:बरौलीअहीर,बिचपुरी,फतेहाबाद,फतेहपुरसीकरी,खंदौली,सैंया,शमसाबाद,एत्मादपुर

-क्रिटिकलब्लाक:अछनेरा,अकोलाऔरपूराआगराशहर

-सेमीक्रिटिकलब्लाक:बाह,जगनेर,खेरागढ़

-सेफब्लाक:पिनाहट,जैतपुरकलां

पैक्डपानीकीबोतलकासैंपललियाजाताहैऔरसमय-समयपरकार्रवाईभीकीजातीहै।पानीकाखुलाव्यापारकरनेवालेदायरेमेंनहींआतेहैं।

अमितकुमारसिंह,जिलाअभिहितअधिकारी