World Autism Day 2022: कहीं आपका बच्चा भी तो ऑटिज्म से पीड़ित नहीं, इन्हें चाहिए प्यार की थेरेपी

लखनऊ,जेएनएन।WorldAutismDay2022 स्वलीनतायाआटिज्मएकदिमागीबीमारीहै।मेडिकलसाइंसमेंइसेडेवलपमेंटलडिसआर्डरकहतेहैं।यदिजन्मकेकुछमाहबादहीइसकेलक्षणोंकोसमझलियाजाएतोऐसेबच्चोंकीदेखभालकाफीआसानहोजातीहै।इसकेअधिसंख्यमामलोंमेंअभिभावकबीमारीकेबारेमेंतबजानपातेहैं,जबबच्चाबोलनेलायकहोताहै।ऐसेबच्चेसामनेवालेसेअपनीबातकहनहींपातेहैं।

कुछमामलोंमेंजबइनकीआंखोंमेंरोशनीपड़तीहैयाकोईआवाजदेताहैतोयेबहुतउग्रहोजातेहैं।इसकेअधितकरमामलोंमेंढाईसेतीनसालबादहीअभिभावकोंकोसमस्याकापताचलपाताहै।हालांकिजन्मकेकुछमाहबादशिशुआंखेंनहींमिलतायाआवाजदेनेपरआंखोंसेकोईप्रतिक्रियानहींदेताहैतोउसेतत्कालचिकित्सककोदिखानाचाहिए।ऐसेबच्चेजिसकामकोकरनेलगतेहैं,उनकामनउसीमेंलगारहताहै।इसकेकुछमामलोंमेंमिर्गीयाअधिकगुस्साकरनेकीभीआदतहोतीहै।अभीतकइसबीमारीकेकारणोंकेबारेमेंकुछस्पष्टरूपसेनहींकहाजासकताहै,लेकिनमानाजाताहैकिइसकीवजहआनुवांशिक,जीनमेंपरिवर्तनयागर्भावस्थाकीजटिलताएंहोसकतीहैं।

बीमारीकीस्थितिकेअनुसारलक्षणोंमेंभिन्नता: इससेपीडि़तसभीबच्चोंमेंलक्षणसमाननहींहोतेहैं।उनकास्वभावयाव्यवहाररोगकीस्थितिकेआधारपरनिर्भरकरताहै।जैसेअगरबच्चाआटिज्मकेआटिस्टिकडिसआर्डरसेपीडि़तहैतोवहकभी-कभीअपनेव्यवहारसेअलगदिखसकताहै,लेकिनकिसीखासविषयपरउसकीगहरीरुचिहोसकतीहै।

उपचार: आटिज्मकाइलाजनहींहै,लेकिनबीमारीकीस्थितिवलक्षणोंकेआधारपरचिकित्सकविहेवियर,स्पीच,औरआक्युपेशनलथेरेपीआदिसेइसेनियंत्रितकरनेकाप्रयासकरतेहैं।इसकेकुछमामलोंमेंदवाओंकाभीप्रयोगकियाजाताहै।इससेधीरे-धीरेबच्चेकादिमागजाग्रतहोताहै।इसकेसाथहीबच्चेकीपरवरिशकिसतरहकरनीहै,इसकेलिएअभिभावकोंकोभीप्रशिक्षणदियाजाताहै।यदिआपकेपरिवारमेंआटिज्मपीडि़तहैतोउसकातिरस्कारनहीं,उसेप्यारकरेंऔरऐसेबच्चोंकीदेखभालयहमानकरकरनीचाहिएकिआटिज्मसेपीडि़तबच्चाभीसामान्यजीवनजीसकताहै।