'वोकल फार लोकल' का जिक्र छेड़कर प्रधानमंत्री ने बुन दीं उम्मीदें

निर्मलपांडेय,सीतापुर

प्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदीनेसीतापुरकेमिलिट्रीमैदानपरवोकलफारलोकलवाली'सुई'में'बुनकरधागा'डालनेकीपूरीकोशिशकी।दरअसल,सीतापुरमेंकरीबदोलाखसेज्यादाआबादीबुनकरपरिवारोंकीहै।प्रधानमंत्रीनेकहाकिबुनकरसाथियोंकादरीवालाकामऔरपरिश्रमदुनियाभरमेंजाए,इसकेलिएवहएकजनपद-एकउत्पाद(ओडीओपी)लाए।लोगोंसेसवालकियाअगरवह'वोकलफार-लोकल'बार-बारचीख-चीखकरबोलतेहैं।दीवालीआएतो,होलीयाशिवरात्रीआएतोभी,शादीकीसीजनआएतोभी(वोकलफार-लोकल)बोलतारहताहूं।प्रधानमंत्रीनेकहाकिउन्हेंमालूमहैहिदुस्तानकेहरजिलेमेंदरीजैसेउत्पादहैं,जिनकेलिएवहवोकलफारलोकलबोलतेरहतेहैं।

प्रधानमंत्रीनेकहाकिऐसेउत्पादोंकोदुनियामेंबेचतारहूंगा,ताकिसीतापुरकीदरीदुनियाकेबाजारमेंबिकनाशुरूहोजाए।मोदीनेफिरसवालकिया,आपमुझेबताएंअगरकोईभीराजनीतिकदलकानेता'वोकलफार-लोकल'बोलेगा।स्थानीयचीजेंखरीदेगातोबताइएउसदलकाकोईनुकसानहोगाक्या?यदिदूसरेदलवाले'वोकलफार-लोकल'बोलतेऔरउनकेबोलनेसेआपकी10-12दरीज्यादाबिकतीहैतोआपका(बुनकर)भलाहोगा।

लेकिन,उनको(अन्यदलोंको)तोइसमेंभीदर्दहै।कारणप्रधानमंत्रीनेबड़ीआसानीसेबुनकरोंकोसमझायाकिअगरवेलोग'वोकलफार-लोकल'बोलेऔरआपकीकीदरीज्यादाबिकगईंतोसीतापुरकेलोगसुखीहोंगे,मगरक्रेडिटयोगी-मोदीकोचलाजाएगाना।इसलिएदूसरेदलवालेवोकलफार-लोकलबोलतेहीनहींहैं।

झांसीसेअलीगढ़तककेडिफेंसकारीडोरमेंभीवोकलफारलोकलकाजोर:

प्रधानमंत्रीमोदीनेकहाकिवहवोकलफारलोकलबुनकरोंकेलिए,उनकेपरिश्रमवहुनरकेलिएबोलरहेहैं।उन्होंनेएकदलकीओरइशाराकरबुनकरोंसेकहाकिये'घोरपरिवारवादियों'कोसोचनेदो,इतनेवर्षोंतकअपनेकारीगरोंकेहुनरकेबजाएविदेशसेहीआयातपरबलदिया।बतायाकिझांसीसेअलीगढ़तकडिफेंसकारीडोरकाजोकामशुरूकियाहै,उसमेंभीवोकलफारलोकलपरहीजोरहै।

प्रधानमंत्रीनेबजटतैयारीमेंकेंद्रीयवित्तराज्यमंत्रीपंकजचौधरीकीसराहनाकी।कहाकिपंकजचौधरीनेबजटमेंकहदियाहैकिरक्षाक्षेत्रमेंभीइतनेरुपयेकेमालकोहिदुस्तानसेहीलेनाहोगा,बाहरसेनहींलासकते।ऐसेमेंहमारेदेशमेंतैयारीहुईवस्तुएंबिकेंगी।प्रधानमंत्रीनेयहीप्रयासवोकलफार-लोकलहोनेकेपीछेहोनाबताया।

भारतमोबाइलफोनबनानेवालादुनियाकादूसराबड़ादेश:

प्रधानमंत्रीनेकहाकिकोशिशहैकिदेशमेंअधिकसेअधिकउत्पादनहोऔररोजगारकेअवसरबनें।कहाकिपांचसालपहलेमोबाइलफोनमहंगाहोताथा।ज्यादातरमोबाइलफोनविदेशसेआतेथे।लेकिन,भाजपासरकारकीकोशिशकीवजहसेआजभारतमोबाइलफोनबनानेवालादुनियाकादूसराबड़ादेशबनगयाहै।मोबाइल,इंटरनेटसस्ताहुआहै।गरीबसेगरीबकीपहुंचमेंहै।मोबाइलफोनदेशकेबेटे-बेटियांबनारहींहैं।कहाकिदोस्तोंनीयतसाफहो,प्रयासईमानदारहोऔरदिलमेंसेवाकाभावहोतोरास्तेनिकलतेहीहैं।

एलईडीकीबातकहघर-घरसेजुड़नेकीकोशिश:

प्रधानमंत्रीनेएलईडीबल्बकीबातकहकरघर-घरसेजुड़नेकीकोशिशकी।कहाकिछहसालपहलेएलईडीबल्बतीन-चारसौरुपयेकाआताथा।हमनेएलईडीबल्बकोबनानेपरबलदिया।आजयेबल्ब50-60रुपयेमेंमिलरहाहै।मोदीनेकहाकिएलईडीबल्बसिर्फसस्ताहीनहींहुआबल्किबिजलीकाबिलभीकमहुआहै।यूपीकेलोगोंकेसैकड़ोंकरोड़रुपयेएलईडीबल्बकीवजहसेबचेहैं।प्रधानमंत्रीनेकहाकियोगीकेनेतृत्वमेंरोजगारऔरस्वरोजगारकेविषयमेंभीअभूतपूर्वप्रयासहुएहैं।