विशिष्ट विमानों की उपयोगिता : जानिए- क्‍यों भारत ने खरीदा 4000 करोड़ रुपये का एयर इंडिया वन विमान

अभिषेककुमारसिंह।किसीदेशकेमुखियायाकहेंकिराष्ट्राध्यक्षकेतौरपरउसकेकार्योकामूल्यांकनसिर्फइससेनहींहोताहैकिदेशकीजनतासेउसकाकैसासंवादहै,बल्कियहइससेभीतयहोताहैकिउसेदुनियाकिसनजरसेदेखतीहैऔरकितनीअहमियतदेतीहै।इससंदर्भकोयदिहमभारतकेप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीकेकार्यकालकोदेखेंतोपताचलताहैकिइंदिरागांधीकेबादवहभारतकेदूसरेऐसेप्रधानमंत्रीहैं,जिन्होंनेसबसेज्यादाविदेशीदौरेकिएहैंऔरइसकेबलपरउन्हेंदुनियामेंसबसेज्यादास्वीकृतिमिलीहै।हालांकिउनकेदोनोंकार्यकालोंकीतुलनाकरेंतोबीतेवर्षनवंबर2019केबादसेकोरोनाकालकीस्थितियोंमेंप्रधानमंत्रीमोदीकिसीभीविदेशयात्रपरनहींगएहैं।जबकिइसबीचविदेशमंत्रीएसजयशंकरऔररक्षामंत्रीराजनाथनेइसीवर्षरूसऔरईरानकीयात्रकीहै।

अतिविशिष्टलोगएयरइंडियाकेबोइंग-747विमानसेयात्राएंकरतेहैं:राजनाथसिंहनेजून2020मेंरूसकीएकयात्राऔरकीथी।इनविदेशयात्रओंकेउल्लेखकीयहांआवश्यकताइसलिएहै,क्योंकिहालमेंजबराष्ट्रपति,उपराष्ट्रपतिऔरप्रधानमंत्रीकेलिएअमेरिकामेंविशेषरूपसेतैयारकियागयाबोइंग-777विमानभारतआयातोसवालउठाकिएकविकासशीलदेशकेहस्तियोंकेलिएइतनेबड़ेऔरमहंगेविमानकीक्याजरूरतहै?यहभीबतायागयाहैकिऐसेकुलदोविमानप्रधानमंत्रीकेलिएएयरफोर्सकेबेड़ेमेंरहेंगे,जिनकाइस्तेमालउनकेअलावाराष्ट्रपतिऔरउपराष्ट्रपतिभीकरेंगे।अभीतकयेअतिविशिष्टलोगएयरइंडियाकेबोइंग-747विमानसेयात्रएंकरतेहैंजोसुविधाओंऔरसुरक्षाकेमामलेमेंकाफीकमजोरहै।जबकि‘बख्तरबंद’विमानकहाजारहाबोइंग-777इसमामलेमेंअमेरिकीराष्ट्रपतिडोनाल्डट्रंपकेएयरफोर्स-वनजैसीक्षमताओंसेलैसहै।देश-विदेशकीयात्रओंकोमहफूजबनानेकेनजरियेसेऐसेमजबूतविमानकीजरूरतसेइन्कारनहींकियाजासकताजोदेशकीसत्तामेंमौजूदहस्तियोंकेक्रियाकलापमेंसहयोगीहोनेकेसाथ-साथउनकीसुरक्षाकेपुख्ताप्रबंधभीकरे।

एयरइंडियावनकीखूबियां:बोइंग-777याफिरएयरइंडियावनकीदेखरेखएवंसंचालनवायुसेनाकरेगी।एकबारईंधनभरालेनेकेबादइनसेदिल्लीसेअमेरिकातकबिनारुकेसीधीयात्रहोसकेगी।दुश्मनकेरडारकोभीअपनेजैमरसेबाधितकरदेनेवालेइनविमानोंपरग्रेनेडयामिसाइलहमलेनहींहोसकतेहैं।इसकीवजहयहहैकिइनविमानोंमेंमिररबॉलसिस्टमकोइस्तेमालमेंलायागयाहैजोअत्याधुनिकइंफ्रारेडसिग्नलकेसहारेचलनेवालीऔरअपनेलक्ष्यकोउनसंकेतोंसेसहारेभेदनेवालीमिसाइलोंकोभ्रमितकरसकताहै।इनविमानोंकीएकखासियतयहभीहैकिजरूरतपड़नेपरइनसेहमलाभीकियाजासकताहै।इसकेलिएइनविमानोंकोलार्जएयरक्राफ्टइंफ्रारेडकाउंटरमेजर्स(एलएआइआरसीएम)औरसेल्फप्रोटेक्शनसूट्स(एसपीएस)नामकअत्याधुनिकमिसाइलरक्षाप्रणालियोंसेलैसकियागयाहै।

येविमानकईएडवांसऔरसुरक्षितसंचारप्रणालियोंभीसेलैस:विशेषरूपसेडिजाइनकिएगएइनविमानोंमेंलगींयेरक्षाप्रणालियांविमानकीतरफआनेवालीमिसाइलकोडिटेक्टकरनेऔरउसेजामकरनेमेंमददकरतीहैं।इसकेअलावाइनविमानोंमें12गार्जयिनलेजरट्रांसमीटरअसेंबली,मिसाइलवाìनगसेंसरऔरकाउंटर-मेजरडिस्पेंसिंगसिस्टमभीलगायागयाहै।येविमानकईएडवांसऔरसुरक्षितसंचारप्रणालियोंभीसेलैसहैं,जिनकीमददसेआसमानमेंअत्यधिकऊंचाईपरभीऑडियोऔरवीडियोसंचारकीसुविधाएंहैकिंगऔरटैपिंगकीकिसीसमस्याकेबिनामिलतीहैं।एकजैसेदोविमानलेनेकाउद्देश्ययहहैकियदिएकविमानमेंकोईसमस्याहुईतोस्टैंटबाईपरमौजूदउसीतरहकेदूसरेविमानकोतुरंतइस्तेमालमेंलायाजासके।

रखरखावकीजिम्मेदारी:प्रधानमंत्री,राष्ट्रपतिऔरउपराष्ट्रपतिजैसीहस्तियोंकेलिएसिर्फसुसज्जितऔरसुरक्षितविमानखरीदनाहीकाफीनहींहै,बल्किउनकेसंचालन,रखरखावऔरसुरक्षाकेलिएभीविशेषप्रबंधकिएजातेहैं।जैसेअभीएयरइंडियाकाजोविशेषबोइंग-747विमानहै,उसकेसंचालनऔरसुरक्षाकीजिम्मेदारीभारतीयवायुसेनाकेपासहै।बोइंग-747केअतिरिक्तभीकुछविमानहैंजिनकीमदददेशकीवीवीआइपीहस्तियोंकेविदेशदौरोंमेंलीजातीहै।इसकेलिएजैसेबोइंग-747केअलावाचार14-सीटरएंब्रेयरईआरजे-135,चार20-सीटरएंब्रेयर145विमानभीएयरइंडियाकेपासहैं।खासतौरपरयदिप्रधानमंत्रीकोदेशकेभीतरहीकहींविमानसेजानाहैयाकमदूरीपरस्थितपड़ोसीदेशोंकीयात्रकरनीहैतोयेविमानइसकाममेंआतेहैं।

इनविमानोंकीसभीव्यवस्थाओंपरखुफियाविभागकीनजर:यहभीउल्लेखनीयहैकिएयरइंडियाऔरभारतीयवायुसेनासाझातौरपरफिलहालप्रधानमंत्री,राष्ट्रपतिऔरउपराष्ट्रपतिकेलिएतीनबोइंगविमानतैयाररखतीहै।इनकेलिएइस्तेमालमेंआरहेविमानोंकोअभीराजदूत,राजकमलऔरराजहंसकहाजाताहैऔरइनविशेषविमानोंकीउड़ानेंसंचालितकरनेकाकामदेशकेसर्वश्रेष्ठआठपायलटोंऔरअलगसेतैयारकिएगएक्रूमेंबर्सकेजिम्मेहोताहै।दिल्लीस्थितपालमएयरफोर्सस्टेशनपरखड़ेइनविमानोंकीसभीव्यवस्थाओंपरखुफियाविभागऔरस्पेशलप्रोटेक्शनग्रुप(एपीजी)कीनजररहतीहै।वैसेतोदेशकीशीर्षराजनीतिकहस्तियोंकेलिएऐसेसुरक्षितविमानोंकीजरूरतसेइन्कारनहींकियाजासकताहै,लेकिनजबबातइनकीकीमतकीआतीहैतोउसपरहंगामाउठखड़ाहोताहै।

विशेषविमानोंकीकीमत:एकअनुमानहैकिइनदोनोंविमानोंकीकीमतकरीब8458करोड़रुपयेहै।इसकीमतकोलेकरपिछलेदिनोंसोशलमीडियापरएकसंदेशकाफीवायरलहुआथाकिअबदेशमेंएकबारफिरगांधीजीजैसेनेताओंकीजरूरतहैजोजमीनसेजुड़ेहों,आसमानसेनहीं।गांधीजीकीप्रासंगिकताआजपहलेसेज्यादासिद्धहोरहीहै।निश्चयहीगांधीजीकीविचारधारावालेनेताओंकीहरकालमेंजरूरतरहेगी,लेकिनइसकेलिएदुनियाकीमौजूदाजरूरतोंऔरउसकेसचसेआंखेंनहींचुराईजासकतीहैं।ऐसेमेंइनतथ्योंकोध्यानमेंरखनाहोगाकिप्रधानमंत्रीमोदीकीविदेशयात्रओंकेलिएबेड़ेमेंशामिलहोनेवालेविमानोंकेदामविश्वकेअन्यनेताओंकेविमानोंकीकीमतोंकेमुकाबलेकमहैं।जैसेअमेरिकीराष्ट्रपतिट्रंपकेएयरफोर्सवनकेबेड़ेमेंशामिलविमानबोइंग747-200बीकीकीमत325मिलियनडॉलरहै।इससेभीमहंगाविमानकतरकेअमीरशेखतमीमअलथानीकाविमानबोइंग747-8आइहैजोट्रंपकेविमानसे175मिलियनडॉलरमहंगायानीकरीब500मिलियनडॉलरकाहै।कतरकेअमीरनेअबयहविमानतुर्कीकेराष्ट्रपतिरेसेपतैयपएदरेगनकोतोहफेमेंदेदियाहैऔरवर्ष2021मेंउनकेलिएइससेभीमहंगाविमानसेवामेंलेलियाजाएगा।

उधरट्रंपकेबेड़ेएयरफोर्स-वनमेंशामिलबोइंग747-200बीकोभीबदलनेकीयोजनाकोमंजूरीमिलचुकीहै।उनकेलिएअबजोविमानआरहाहै,उसकीकीमत800मिलियनडॉलरबताईजारहीहै।दुनियाकेशीर्षनेताओंऔरहस्तियोंकीयात्रओंमेंइस्तेमालहोनेवालेविमानोंकीसूचीमेंकईऔरनामहैं।जैसेरूसीराष्ट्रपतिव्लादिमीरपुतिनकेविमानमेंसोनाचढ़ीटॉयलेटसीट,वॉशबेसिन,शानदारजिमऔरकिंगसाइजबेडकीमौजूदगीट्रंपकेविमानकोफीकाकरदेतीहै।ब्रिटेनकेशाहीपरिवारमेंमहारानीएलिजाबेथद्वितीयरॉयलएयरफोर्सकी32वींस्क्वाड्रनसेयात्रकरतीहैं।विदेशयात्रकेलिएशाहीपरिवारकेलिएब्रिटिशएयरवेजयावर्जनिएटलांटिकसेबोइंग-747या777लीजपरलियाजाताहै।

इसीतरहजर्मनीकीचांसलरएंजेलामर्केलजर्मनीआम्र्डफोर्सेसकेविमानसेयात्रकरतीहैं।उनकेविमानोंमेंएयरहॉस्पिटलकीभीव्यवस्थाहै।जबकिफ्रांसकेराष्ट्रपतिइमैनुएलमैक्रोंसामान्यएयरबसए-330-200सेयात्रकरतेहैं।इसमामलेमेंचीनीराष्ट्रपतिशीचिनफिंगकानामउल्लेखनीयहै,क्योंकिउनकीयात्रओंकेलिएकिसीनिजीविमानकाइंतजामनहींहै।इसकीजगहवहएयरचाइनाकेउन्हींविमानोंकोइस्तेमालमेंलातेहैं,जिनकेजरियेआमयात्रीसफरकरतेहैं।जबभीउनकाविदेशदौराहोताहै,एयरचाइनाकेदोबोइंग-747-400विमानोंमेंसेकिसीएककोउनकीजरूरतोंकेअनुरूपबेडरूम,लिविंगरूम,कांफ्रेंसरूमकेबतौरअस्थायीरूपसेपरिवíततकरदियाजाताहै।राष्ट्रपतिकीयात्रसेवापसीकेबादफिरसेउसेआमपैसेंजरफ्लाइटोंमेंबदलदियाजाताहै।

हालमेंजबराष्ट्रपति,उपराष्ट्रपतिऔरप्रधानमंत्रीकेलिएअमेरिकामेंविशेषरूपसेतैयारकियागयाबोइंग-777विमानभारतआयातोसवालउठाकिएकविकासशीलदेशकेहस्तियोंकेलिएइतनेबड़ेऔरमहंगेविमानकीक्याजरूरतहै?वास्तवमेंदेश-विदेशकीयात्रओंकोमहफूजबनानेकेनजरियेसेऐसेमजबूतविमानकीजरूरतसेइन्कारनहींकियाजासकताजोदेशकीसत्तामेंमौजूदहस्तियोंकेक्रियाकलापमेंसहयोगीहोनेकेसाथ-साथउनकीसुरक्षाकेपुख्ताप्रबंधभीकरे।

किसीराष्ट्राध्यक्षकीविदेशयात्रओंकेलिएयदिमहंगेऔरसुसज्जितविमानोंकाआगमनहोरहाहैतोयहसवालउठनास्वाभाविकहैकिआखिरइनयात्रओंसेदेशऔरउसकीजनताकोक्याहासिलहोताहै।जबमोदीकेविदेशीदौरोंकीजरूरतकाप्रश्नउठताहैतोइसकाजवाबयहकहकरदियाजाताहैकिप्रधानमंत्रीमोदीकीविदेशयात्रओंसेप्रवासीभारतीयोंकोउनकेदेशोंमेंकाफीबलमिलाहैऔरवेभारतकेनिकटआतेगएहैं।एकरिपोर्टकेअनुसार2014मेंविदेशमेंरहनेवालेभारतीयमूलकेलोगोंनेभारतको70अरबडॉलरभेजेथेजो2018मेंबढ़कर80अरबडॉलरऔर2019में83अरबडॉलरहोगई।भारतसरकारकेअनुसारप्रधानमंत्रीकीयात्रओंकेकारणविदेशीनिवेशमेंभीबढ़ोतरीहुईहै।सरकारकादावाहैकि2015मेंदुनियाभरमेंभारतमेंसबसेअधिकप्रत्यक्षविदेशीनिवेशआयाथा।

खुदप्रधानमंत्रीमोदीनेअपनीयात्राओंकेदौरानकईबारकहाहैकिप्रवासीभारतीयोंसेजुड़नेकाउद्देश्यउन्हेंभारतमेंनिवेशकेलिएप्रोत्साहितकरनाहै।कोरोनाकालमेंइसमेंगिरावटमुमकिनहै,क्योंकिविदेशोंमेंरहनेवालेभारतीयोंकेकामकाजपरभीकोविड-19काअसरपड़ाहै।प्रधानमंत्रीमोदीकीविदेशयात्राओंकाएकप्रत्यक्षलाभयहभीहुआहैकिकईताकतवरदेशभारतकेकाफीकरीबआगएहैं।चीन-पाकिस्तानसेविवादकीस्थितिमेंफ्रांस,ऑस्ट्रेलिया,जर्मनी,ब्रिटेन,अमेरिकाआदिदेशोंकाभारतकोमिलनेवालासमर्थनकाफीमसलोंकोशांतकरानेमेंमददगारसाबितहोताहै।इससेसाफहैकिप्रधानमंत्रीविदेशीदौरेनिजीलाभकेलिएनहीं,बल्किदेशकीगरिमाबढ़ानेऔरविकासकोगतिदिलानेकेलिएपूंजीकेइंतजामकेउद्देश्यसेकरतेहैं।

[संस्थाएफआइएसग्लोबलसेसंबद्ध]