विरोध में सड़कों पर उतरे सपाई, उग्र प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने किया गिरफ्तार

लखीमपुरकीघटनाकिआजप्रयागराजतकपहुंचगईहै।समाजवादीपार्टीकेसैकड़ोंकार्यकर्ताओंनेसोमवारकोसिविललाइंसकीसड़कोंपरउग्रप्रदर्शनकिया।समाजवादीयुवजनसभाकेपदाधिकारियोंवकार्यकर्ताओंनेमुख्यमंत्रीकापुतलादहनकरनेकीकोशिशकी।इसदौरानपुलिसनेजबउन्हेंरोकनेकीकोशिशकीतोपुलिसऔरकार्यकर्ताओंकेबीचमेंतीखीझड़पभीहुई।झड़पकेबीचपुलिसनेविरोध-प्रदर्शनकीअगुवाईकररहेएकदर्जनकार्यकर्ताओंकोगिरफ्तारकरलिया।

समाजवादीपार्टीकेकार्यकर्ताओंकाकहनाहैकिलखीमपुरमेंसांसदकेपुत्रनेकारसेकिसानोंकोकुचलदियाहै,जिससे4किसानोंकीमौतहोगईहै।इसघटनामेंकईकिसानघायलहोगएहैं।समाजवादीपार्टीकेमुखियाअखिलेशयादवपीड़ितपरिवारसेमिलनेजारहेथे,लेकिनसरकारकेइशारेपरप्रशासनऔरपुलिसनेउन्हेंरोकदिया।जानेनहींदियाऔरनहीपीड़ितपरिवारसेकिसीकोमिलनेदियाजारहाहै।

सरकारकीतानाशाहीनहींचलेगी

गिरफ्तारहोनेकेबादसमाजवादीपार्टीकीनेत्रीऔरइलाहाबादविश्वविद्यालयकीपूर्वछात्रसंघअध्यक्षऋचासिंहनेकहाकिप्रदेशसरकारतानाशाहीपरउतारूहोगईहै।पीड़ितपरिवारसेभीकिसीकोमिलनेनहींदियाजारहाहै।धरना-प्रदर्शनकररहेसपाकार्यकर्ताओंकेऊपरमुकदमालादाजारहाहै।अबसरकारकायहतानाशाहीरवैयाबर्दाश्तकेबाहरहोगयाहै।

किसानोंकेऊपरइतनासंगठितहमलाकभीनहींहुआ

ऋचासिंहनेआगेकहाकियेकिसानोंऔरपत्रकाराेंकीहत्यारीसरकारहै।किसानोंकोरौंदकरमारदेतेहैंऔरपत्रकारोंकोपीटकरमारदेतेहैं।इससरकारमेंवोहोरहाहैजैसाकभीहिटलरशाहीमेंनहींहुआ।किसानोंकेऊपरइतनासंगठितहमलादेशकेइतिहासमेंकभीनहींहुआ।

कानूनसेनहींमारपाएतोअबरौंदनेलगे

पहलेतीनकालेकानूनलाकरकिसानोंकोमारदेनेकीकोशिशकीगईँ।जबकिसानोंकेआंदोलनकोरौंदनेकीकोशिशकीगईअबकिसानोंकोरौंदनेकीकोशिशकीजारहीहै।हमारेनेताअखिलेशयादवकीगिरफ्तारीकरलीगईहै।योगीसरकारसमाजवादियोंसेडरतीहै।लेकिनसमाजवादीकिसानोंऔरपत्रकारोंकेलिएसंघर्षरतरहेंगे।इंकलाबजिंदाबाद।आनेवालेविधानसभाचुनावमेंसपाकार्यकर्ताबीजेपीकोसबकसिखाकरदमलेंगे।इसदौरानकार्यकर्ताओंनेप्रदेशसरकारकेखिलाफजमकरनारेबाजीकीऔरअपनाआक्रोशदिखाया।