Viral fever outbreak in Bihar: नजर आ रहे चमकी जैसे लक्षण, मुंगेर में हर रोज तकरीबन 90 बच्चे पहुंच रहे अस्पताल

संवादसूत्र,मुंगेर।ViralfeveroutbreakinBihar:जिलेमेंअबबच्चेवायरलफीवरकीचपेटमेंआनेलगेहैं।हरदिनइसकीसंख्याबढ़रहीहै।बच्चोंकोसर्दी-खांसी,बुखारसेलेकरनिमोनियाहोरहाहै।साथहीचमकीकीबीमारीकेभीलक्षणमिलरहेहैं।ऐसेबच्चोंकीसंख्याअस्पतालमेंबढ़गईहै।अस्पतालशिशुवार्डमेंतीनऔरएसएनएसीयूसातबच्चेभर्तीहैं,दूसरीओरनिजीक्लीनिकोंमेंवायरलसेपीडि़तबच्चेपहुंचरहेहैं,लगातारबच्चोंकेपीडि़तहोनेसेइनकेमाता-पिताकीनींदउड़गईहै।घरवालेकाफीपरेशानहैं।

जिलेकेप्रखंडऔरअनुमंडलअस्पतालोंमेंबच्चोंबेहतरइलाजकेलिएकिसीतरहकीखासचिकित्सीयसुविधानहींहै।सदरअस्पतालकोछोड़करजिलेकेप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रोंकीहालतकाफीदयनीयहै।प्राथमिक,सामुदायिकऔरअनुमंडलीयअस्पतालोंमेंएकभीशिशुरोगविशेषज्ञनहींहै।ऐसेमेंप्रखंडोंकेलोगभीअपनेबच्चोंकोलेकरजिलामुख्यालयपहुंचरहेहैं।

खासबातयहहैकिवायरलबुखारकाप्रकोपबच्चोंपरज्यादाहै।दोसप्ताहमेंऐसेमरीजोंकीसंख्यामेंतेजीहै।इसकासीधासंबंधमौसममेंआरहेबदलावसेहै।सदरअस्पतालकेओपीडीमेंइनदिनों80से90बच्चेहरदिनइलाजकेलिएपहुंचरहेहैं।इसमें70फीसदमरीजवायरलबुखारसेपीडि़तपहुंचरहेहैं।निजीक्लिनिकऔरअस्पतालकाभीयहीहालहै।

कोरोनाजैसेलक्षण,परपुष्टिनहीं

बच्चोंकेवायरबुखारमेंकोरोनाजैसेलक्षणदिखरहेहैं,लेकिनएकभीबच्चोंकेअभिभावकोंनेकोरोनाटेस्टनहींकरायाहै।इसकारणइसकीपुष्टिनहींहोरहीहै।बच्चोंकोदीजानेवालीकुछदवाइयांकाडोजकोरोनावालाहीहै।शिशुरोगविशेषज्ञडा.पंकजसागरनेकहाकिमौसममेंलगातारपरिवर्तनहोरहाहै।

कभीतेजधूपसेगर्मीतोकभीबारिशकीवजहसेवातावरणमेंनमीरहतीहै।इसमौसममेंआरएसवीवायरसबढ़जाताहै,जिससेवायरलसंक्रमणसेबच्चेपीडि़तहोनेलगेहैं।हालांकि,बच्चेस्वस्थभीहोरहेहैं,लेकिनकमउम्रकेबच्चोंकोवार्डयाशिशुगहनचिकित्साकेंंद्रमेंभर्तीकरनापड़रहाहै।

ठंडासेबचें,बच्चोंकेखानापानपरविशेषध्यान

चिकित्सककीमानेंतोबदलतेमौसमऔरउमसकेकारणबच्चोंमेंखांसी,जुकामऔरबुखारकीशिकायतआमहोगईहै।इसेवायरलफीवरकेनामसेजानतेहैं।बच्चोंकोसलाहहैकिठंडापानीपीनेसेबचें,ताजाभोजनकरें।घरमेंकिसीकोखांसीजुकामहैतोवहबच्चोंसेदूररहें।मास्कऔरशारीरिकदूरीकापालनकरें।प्रभावितव्यक्तिकेखांसनेयाछींकनेसेकीटाणुअन्यभीसंक्रमितहोसकताहै।

चिकित्सककीलिखीदवाकोबीचमेंनछोडें,पूरीडोजलें।वैसेबच्चोंकोजिन्हेंपहलेसेहीखांसीजुकामहैउनकोअन्यसेदूररखें।बच्चोंकोहेल्दीडाइटदें,फलकीमात्राबढ़ाएं,साफ-सफाईकाविशेषख्यालरखें।कोरोनागाइडलाइनकापालनकरें।