विकास की बयार के बीच चचरी ही सहारा

सुपौल।रहनुमावोटरोंकीटोहलेरहेहैंतोवोटरभीपुरानेवादोंकोखंगालरहेहैं।खासकरऐसेवादेजिनकेपूरानहींहोनेसेलोगपरेशानहैं।क्षेत्रकेहहियाधारपरपुलबनानेकीमांगवर्षोंसेहोतीरहीलेकिनआलमयहहैकिपुलनहींरहनेसेलोगपरेशानहैं।विकासकीबयारकेबीचयहांलोगचचरीपरगुजरकरनदीपारहोतेहैं।चचरीकेकारणवाहनोंकीआवाजाहीनहींहोपातीहै।लोगोंकेपैदलपारकरनेमेंदुर्घटनाकीआशंकाबनीरहतीहै।

अनमंडलक्षेत्रकेचैनपुर,विशनपुरघनश्यामऔरबलुआबाजारकेलोगोंकीगोढि़यारीसेपश्चिमहहियाधारमेंपुलनिर्माणकीमांगसमय-समयपरकीजातीरही,जिसकीअनदेखीहोतीरही।आजादीकेबादसेअबतकइसमांगकेबदलेआश्वासनहीमिलतारहा।बरसातऔरखेतीकेमौसममेंपुलकेअभावमेंसबसेज्यादापरेशानीमहिलाएं,स्कूलीबच्चों,मरीजोंकोहोतीहै।इनगांवकेलोगोंकेलिएजोसबसेनजदीकीस्कूल,हाटबाजार,अस्पतालहैवहांपुलकेअभावमेंएककिलोमीटरकीबजायछहकिलोमीटरकीअतिरिक्तदूरीतयकरपहुंचनापड़ताहै।

बनसकताहैचुनावीमुद्दा

यहांपुलनहींबनाएजानेसेधारकेदोनोंतरफकीआबादीइसेचुनावीमुद्दाबनानेकोतैयारहैं।हहियाधारकेदोनोंतरफकीआबादीकेबच्चोंकेलिएहाईस्कूलतककीशिक्षाएवंदैनिकजरूरतकीचीजेंबलुआबाजारववीरपुरअनुमंडलपरनिर्भररहताहै।दोनोंभागकेकिसानोंकोकिसानीकेलिएभीसालोंभरधारपारकरनापड़ताहै।कईबारतोधारमेंअत्यधिकबहावकेकारणपारकररहेबच्चोंकेडूबजानेकीघटनाभीहोचुकीहै।

मरीजनहींजापातेअस्पताल

आबादीबढ़ी,वोटरबढ़े,लेकिनयहक्षेत्रबिनापुलकारहा।यहांकेमरीजसमयसेअस्पतालनहींपहुंचपाते।अस्पतालपहुंचनेकेलिएउन्हेंधारपारकरनापड़ताहै।पुलनहींरहनेकेकारणचचरीपरगाड़ियांपारनहींहोसकती,इसलिएमरीजकोकंधेयाखाटपरलादकरधारपारकरानाहोताहै।ऐसेमेंकईमरीजोंकीअस्पतालपहुंचनेसेपहलेमौतभीहोजातीहै।