उत्तराखंड चुनाव से पहले राजनीति से संन्यास ले सकते हैं हरीश रावत, 5 जनवरी को कर सकते हैं बड़ा ऐलान...

उत्तराखंडचुनाव(Uttakhandelection 2022)सेपहलेकांग्रेस(Congress)केवरिष्ठनेताऔरपूर्वसीएमहरीशरावत(HarishRawat)पार्टीसेनाराजहोगएहैं।पंजाबऔरछत्तीसगढ़कामुद्दासुलझाहीथाकिरावतकेट्वीटसेपार्टीमेंफिलहलचलपैदाहोगईहै।अबपूर्वसीएमहरीशरावतकेसंन्यासकीखबरचलनिकलीहै।

उत्तराखंडविधानसभाचुनाव(Uttakhandelection 2022)सेपहलेकांग्रेस(Congress)केदिग्गजनेताऔरपूर्वमुख्यमंत्रीहरीशरावत(HarishRawat)कीनराजगीबुधवारकोसामनेआई।उन्होंनेट्विटरपरअपने'मनकीबात'रखी।कांग्रेसपरसवालउठातेहुए72वर्षीयनेतानेलिखाकिबहुततैरलिए,अबविश्रामकासमयहै।रावतकेइसट्वीटनेउनकेराजनीतिसेसंन्यासकेसंकेतदिएहैं।लेकिनचुनावसेऐनपहलेरावतकायहरुखपार्टीकोबड़ेसंकटमेंडालसकताहै। चर्चाहैकिरावतपार्टीसेनाराजहैंऔर5जनवरीकोराजनीतिसेसंन्यासलेनेकीघोषणाकरसकतेहैं।हरीशरावतकेकरीबीसूत्रोंकेमुताबिकवोआनेवालेदिनोंमेंअपनेराजनीतिकभविष्यकोलेकरकोईबड़ाफैसलाकरसकतेहैं।

कांग्रेसकेचुनावप्रचारकमेटीकेअध्यक्षरावतनेट्वीटकिया-हैनअजीबसीबात...चुनावरूपीसमुद्रकोतैरनाहै,सहयोगकेलिएसंगठनकाढांचाअधिकांशस्थानोंपरसहयोगकाहाथआगेबढ़ानेकेबजाययातोमुंहफेरकरकेखड़ाहोजारहाहैयानकारात्मकभूमिकानिभारहाहै। रावतनेलिखा-जिससमुद्रमेंतैरनाहै।सत्तानेवहांकईमगरमच्छछोड़रखेहैं।जिनकेआदेशपरतैरनाहै,उनकेनुमाइंदेमेरेहाथ-पांवबांधरहेहैं।मनमेंबहुतबारविचारआरहाहैकिअबबहुतहोगया,बहुततैरलिए,अबविश्रामकासमयहै!फिरचुपकेसेमनकेएककोनेसेआवाजउठरहीहै'नदैन्यंनपलायनम्' बड़ीउपापोहकीस्थितिमेंहूं...नयावर्षशायदरास्तादिखादे।मुझेविश्वासहैकि भगवानकेदारनाथजीइसस्थितिमेंमेरामार्गदर्शनकरेंगे।#[email protected]

रावतनेकिसीकानामनहींलिया,लेकिनइशारोंमेंउन्होंनेबतानेकीकोशिशकीहैकिकांग्रेससंगठनकोलेकरवोखुशनहींहैं।उन्होंनेहाथबांधेजानेकीबातलिखीहै,जिससेसाफहैकिवेअपनेहिसाबसेउत्तराखंडमेंभीकामनहींकरपारहेहैं।हालांकियेसवालनिरुत्तरहेकिहरीशरावतकाहाथोंकोकिसनेबांधरखाहै।

रावतकेट्वीटकेबादतरहतरहकीचर्चाएंचलनिकलीहैं।यहभीकहाजारहाहैकिहरीशरावतखुदकोसीएमफेसघोषितकरवाएजानेकेलिएप्रेशरपॉलिटिक्सकररहेहैं।उत्तराखंडकांग्रेसकेप्रभारीदेवेंद्रयादवनेहरीशरावतकीनाराजगीकोलेकरकहाकिवोसीनियरनेताहैं।उनसेहमारीबातनहींहुईहै।उधर,रावतकेट्वीटको लेकरकांग्रेसकीतरफसेकिसीतरहकीप्रतिक्रियानहींआईहै।

हरीशरावतकांग्रेसकेपुरानेसिपाहियोंमेंसेएकहैं।पंजाबमेंकैप्टनऔरसिद्धूकेबीचचलरहीराजनीतिकउठापटककेबीचपार्टीनेउन्हेंसबकुछठीककरनेकीजिम्मेदारीदीथी।सियासीसरगर्मियोंकेबीचरावतनेवहांकाफीकुछठीककरनेकीकोशिशकी।लेकिनअपनेहीप्रदेशमेंवेनाराजदिखरहेहैं।मानाजारहाहैकिरावतकीमर्जीकेबिनाउत्तराखंडमेंकांग्रेसचुनावकेलिएटीमगठितकीगईहै।इसलिएवेसंगठनसेअसंतुष्टहैं।रावतउत्तराखंडमेंचुनावप्रचारसमितिकेअध्यक्षहैं।उनकेकरीबीमानेजानेवालेगोदियालकोप्रदेशकांग्रेसकमेटीकाअध्यक्षबनायागयाहै,जबकिरावतकेधुरविरोधीमानेजानेवालेप्रीतमसिंहकोप्रदेशअध्यक्षपदसेहटाकरविधायकदलकानेतानियुक्तकियागयाथा।