उप्र का बलरामपुर: अटल बिहारी वाजपेयी के पहले संसदीय क्षेत्र में नहीं जला कई घरों में चूल्हा

बलरामपुर:देशकेराजनीतिकक्षितिजपरकरीबछहदशकोंतकधूमकेतुकेसमानचमकनेवालेदिवंगतपूर्वप्रधानमंत्रीअटलबिहारीवाजपेयीकाबलरामपुरसेगहरानातारहाहै.इसीसरजमींसेअपनेराजनीतिकजीवनकीशुरुआतकरनेवालेवाजपेयीकीयादेंयहांकेबाशिंदोंकेजहनमेंअबभीताजाहैं.

वाजपेयीनेअपनेराजनीतिकजीवनकीशुरुआतबलरामपुरसेकीथीऔरवर्ष1957मेंपहलीबारयहींसेसांसदचुनेगयेथे.वर्ष1962केलोकसभाचुनावमेंपराजितहोनेकेबाद1967केचुनावमेंवहफिरचुनावजीते.वाजपेयीकेदेहांतपरबलरामपुरकीभीजनतागममेंडूबीहैऔरहरतरफउन्हींकीचर्चाहोरहीहै.

वाजपेयीकेसहयोगीऔरपूर्वमेंचुनावप्रचारकेदौरानउनकेकंधेसेकंधामिलाकरचलनेवालेशिवरत्नलालगुप्ताबतातेहैंकिवाजपेयीनेदोस्तीकेबीचकभीधर्म,जाति,ऊंच,नीचऔरवोटोंकेगणितकोबाधानहींबननेदिया.गुप्ताएककिस्साबतातेहैंकिवर्ष1967मेंलोकसभाऔरउत्तरप्रदेशविधानसभादोनोंकाचुनावएकसाथहोरहाथा.वाजपेयीबलरामपुरसेजनसंघकेलोकसभाप्रत्याशीऔरसूरजलालगुप्ताविधानसभाउम्मीदवारथे.चुनावप्रचारकेदौरानवहउतरौलाविधानसभाक्षेत्रकेमहदेयातालुकेदारहैदरअलीकेघरअपनेसाथियोंसहितपहुंचगए.अपनेघरपरवाजपेयीकोदेखकरगदगदअलीखाने-पानीकाइंतजामकरनेलगे.

अमरहुएअटल,अंतिमयात्रामेंजनसैलाबकेसाथ5किमीतकपैदलचलेपीएममोदी

उन्होंनेबतायाकिमहदेयागांवमेंब्राह्मणोंतथाअन्यअगड़ीजातियोंकीखासीतादादथी.हमलोगोंकोलगाकिमुस्लिमकेघरखानाखानेपरजनसंघकावोटखिसकजाएगा,जिससेदोनोंप्रत्याशियोंकोनुकसानहोगा.सूरजलालगुप्ताकेसाथजाकरहमलोगोंनेवाजपेयीकेपासजाकरचुपकेसेकहाकिआपयेक्याकररहेहैं.मुसलमानकेघरजलपानयाभोजनकरनेकीबातलोगोंकोपतालगीतोवोटखिसकजायेगा.यहसुनकरवाजपेयीठहाकामारकरहंसपड़ेऔरबोलेकिजोखिसकनाथावहपेटमेंखिसकगयाअबवोटखिसकेयाफिररहे.गुप्तानेबतायाकिवाजपेयीनेबेझिझकहोकरकहाकिहैदरअलीकेघरखानेसेमैंमुसलमानथोडे़हीबनजाऊंगा.बादमेंयहसंयोगरहाकिवाजपेयीचुनावजीतगएजबकिसूरजलालगुप्ताविधायककाचुनावहारगए.

स्मृतियांशेष:जबसंयुक्तराष्ट्रमेंवाजपेयीकीकप्तानीमेंक्लीनबोल्डहुआथापाकिस्तान

वाजपेयीकेखाससहयोगियोंमेंहसनदाऊदकानामप्रमुखमानाजाताहै.वहउनकेखाससिपहसालारथे.वर्ष1957मेंजबवाजपेयीपचपेड़वाक्षेत्रमेंचुनावप्रचारकेलियेनिकलेतोमोतीपुरगांवमेंहसनदाऊदसेमुलाकातहुई.दाऊदवाजपेयीसेप्रभावितहोकरबिनाकोईपरवाहकियेउनकेसाथनिकलपड़े.दाऊदजनसंघकादीपकबनागेरुआझंडालेकरआगेआगेचलतेऔरअटलजीकागुणगानकरतेहुएदामनफैलाकरलोगोंसेवोटमांगते.

वाजपेयीकेसहयोगीरहेपूर्वविघायकसुखदेवप्रसादबतातेहैंकिवाजपेयीजबविदेशमंत्रीबनेतोवेलोगउनसेमिलनेदिल्लीपहुंचे.उनमेंदाऊदभीशामिलथे.वाजपेयीकेघरपहुंचनेपरसुरक्षाकर्मियोंनेहमलोगोंकोरोकदिया.वाजपेयीसेमिलनेकेलियेबेचैनहोरहेदाऊदजोर-जोरसेचिल्लानेलगे.वाजपेयीअपनेआवासकेबाहरीकमरेमेंबैठेथे.दाऊदकीआवाजपहचानकरबाहरनिकलआयेऔरसुरक्षाकर्मियोंसेआनेदेनेकेलियेकहा.अंदरआतेहीअटलजीनेदाऊदकोगलेलगालिया.दोनोंकाआपसीप्रेमऔरस्नेहदेखकरसबकीआंखेंभरआयीं.

पूर्वप्रधानमंत्रीअटलबिहारीवाजपेयीकोखोकरगमगीनहैनवाबोंकाशहरलखनऊ

प्रसादनेबतायाकिवाजपेयीकोकुछदेरबादहवाईजहाजसेविदेशदौरेपरजानाथा.उन्होंनेदाऊदसेकहाकिमैंविदेशदौरेपरजारहाहूं.तुमसेबहुतबातेंकरनीहैं.इसलियेतुममेरेसाथहवाईअड्डेतकचलो.दाऊदकापरिवारभीवाजपेयीकाभक्तहै.उनकेदुनियासेअलविदाकहनेकीजानकारीमिलनेपरपूरापरिवारशोकमेंडूबाहुआहै.कलसेदाऊदकेघरचूल्हानहींजलाहै.