उच्च शिक्षा की 'बुनियाद' मजबूत न कर सके नेता

निर्मलपांडेय,सीतापुर

खूबपढ़ो-खूबबढ़ो,लड़कीशिक्षितहोगीतोदोपरिवारोंमेंशिक्षाकास्तरबढ़ेगा।येस्लोगनसुननेमेंअच्छेलगतेहैंलेकिन,दुर्भाग्यहैकिहमारेशहरमेंउच्चशिक्षाकेमद्देनजरछात्राओंकेलिएकोईभीराजकीयमहिलाडिग्रीकालेजनहींहै।प्राइवेटमेंहिदूकन्यामहाविद्यालयजरूरहै,परयहांभीसीटेंकरीब1,050हीहैं।इसलिएइंटरमीडिएटउत्तीर्णकरनेवालीछात्राओंकोउच्चशिक्षामेंप्रवेशमिलनाकठिनहोजाताहै।ऐसेमेंछात्राएंनिजीविद्यालयमेंजातीहैंयाफिरघरबैठनेकेअलावाऔरदूसराकोईरास्तानहींहोताहै।हमारेजिलेकेजनप्रतिनिधिभीइससमस्याकीतरफकोईखासध्याननहींदेतेहैंनहीमहिलाशिक्षाकोकभीचुनावीमुद्दाबनातेहैं।

छहसालमेंनिर्माणपूरानहीहैंडओवरहुआकालेज:

पूर्ववर्तीसरकारमें2015मेंशहरमेंराजकीयबालिकाडिग्रीकालेजबनानेकीस्वीकृतिमिलीथी।यहकालेजपुरानेसीतापुरमेंशेल्टरहोमकेपासबनरहाहै।छहसालहोगएहैं,यहमहाविद्यालयअबतकनिर्माणाधीनहीहै।स्टाफतैनातहुआहैनहीवहांप्रयोगशालाओंकोतैयारकियाजासकाहै।बैठनेकीव्यवस्थाभीनहींहोसकीहै।कार्यदायीसंस्थाअभीतकसिर्फनिर्माणमेंहीलगीहुईहै।

ड्राइंगवकामर्सकीपढ़ाईसेवंचितहैंछात्राएं:

छात्राओंकाकहनाहैकियदिवहड्राइंग,गृहविज्ञानयाकामर्ससेउच्चशिक्षाप्राप्तकरनाचाहेंतोजिलेमेंइसकीसुविधाउपलब्धनहींहै।महिलाडिग्रीकालेजनहींहोनेकेकारणबड़ीसंख्यामेंछात्राएंनचाहतेहुएभीसहशिक्षाप्रदानकरनेवालेकालेजोंमेंदाखिलालेनेकोमजबूरहैं।इनमेंआरएमपीडिग्रीकालेजवपंडितदीनदयालउपाध्यायडिग्रीकालेजखैराबादशामिलहैं।वहीं,प्राइवेटकालेजमेंपढ़ाईमहंगीहैऔरवहशहरसेदूरभीपड़तेहैं।इसलिएप्रतिदिनकालेजजानाभीसंभवनहींहोपाताहै।

फरवरीमेंहैंडओवरकरेंगेभवन:अभियंता

राजकीयबालिकाडिग्रीकालेजकाभवनउप्रआवासविकासपरिषदबनारहाहै।परिषदकेसहायकअभियंताडीकेगोयलनेबतायाकिडिग्रीकालेजबनानेकीस्वीकृति2015मेंमिलीथी।इसकीलागतकरीब10करोड़रुपयेहै।निर्माणकार्यलगभगपूराहोगयाहै।फरवरीमेंइसभवनकोउच्चशिक्षाविभागकोहैंडओवरकरदेंगे।डिग्रीकालेजनिर्माणपूराहोनेमेंछहसालसेअधिककासमयलगनेकाकारणसहायकअभियंतानेकार्यदायीसंस्थाकेठेकेदारकेसाथकईघटनाएंहोनाबताया।

येकहनाहैछात्राओंका.

आरएमपीडिग्रीकालेजकाजलकैथवाल,बीए-द्वितीयवर्षनेबतायाकिइंटरमीडिएटपरीक्षापासकरनेकेबादउच्चशिक्षाकेलिएशहरमेंछात्राओंकेलिएसिर्फएककालेजहिदूकन्यामहाविद्यालयहै।इसमेंएकहजारहीसीटेंहैं।लड़कियांलड़कोंकेकालेजमेंदाखिलालेंयाफिरघरबैठें।

श्रुतिशुक्लाबीए-तृतीयवर्षनेबतायाकिहमनेइंटरतकपढ़ाईसेक्रेटहार्टइंटरकालेजसेकी।इसकेबादखगेसियामऊमेंडीपीवर्मामेमोरियलपीजीकालेजमेंदाखिलालेनापड़ा।यदिशहरमेंविकल्पमिलजातातोहमइतनीदूरपढ़नेक्योंजाते।हमारेजनप्रतिनिधिभीछात्राओंकीउच्चशिक्षापरध्याननहींदेतेहैं।

साक्षीअवस्थीबीएससी-प्रथमवर्षनेबतायाकिहमहबीबपुरमेंरहतेहैं।पढ़नेकोजीडीसीखैराबादसाइकिलसेजातेहैं।करीबनौकिलोमीटरजानाऔरलौटना,यानिकि18किमी.पड़जाताहै।यदिशहरमेंव्यवस्थाहोतीतोहमेंइतनीदूरपढ़नेकेलिएनहींजानापड़ता।