ट्रामा सेंटर में चिकित्सक, उपकरण न दवाएं

हरदोई:जिलेमेंपांचवर्षपूर्वनयागांवमेंट्रामासेंटरतैयारहोनेकेसाथउसकासंचालनभीशुरूहोगया।मौजूदासमयमेंट्रामासेंटरमेंनतोचिकित्सकहैंऔरनहीउपकरण,इमारतशोपीसबनकररहगईहै।सेंटरमेंपड़ेपलंगऔरबेंचतकगायबहैं।

सड़कहादसोंमेंगंभीररूपसेघायलमरीजोंकोइलाजकेलिएलखनऊकीदौड़नापड़ताहै।समयसेलखनऊनपहुंचपानेपरकईमरीजदमभीतोड़देतेहैं।गंभीरमरीजोंकीजानबचानेकेलिएनयागांवमेंट्रामासेंटरबनायागया,जिसमेंसरकारकाकरोड़ोंखर्चहुआ।ट्रामासेंटरबननेकेबादजिलेकेलोगोंनेराहतकीसांसलीथी,लेकिनपांचसालबीतजानेकेबादभीट्रामासेंटरनहींचलसका।शुरुआतमेंसर्जन,आर्थोसर्जनकेसाथहीएनेस्थिसियाकेचिकित्सकोंकीतैनातीभीकीगई,लेकिनन्यूरोसर्जननहोनेकेकारणमरीजोंकाइलाजनहींहोसका।ट्रामासेंटरमेंअबनकोईचिकित्सकहैऔरनहीउपकरणवदवाएंहैं।यहांतकसेंटरमेंरखे30बेडवबेंचतकगायबहोगईहैं।ट्रामासेंटरकीइमारतकेवलशोपीसबनकररहगईहै।वार्डसेलेकरओटीतकलटकरहेताले:ट्रामासेंटरमेंमरीजनआनेकेकारणसभीवार्डोंऔरओटीकेसाथहीअन्यकमरोंमेंतालेलगादिएगएहैं,इनमेंरखेलाखोंरुपयोंकेवेंटिलेटरधूलखारहेहैं।बोलेजिम्मेदार:चिकित्सकोंकीकमीकेचलतेट्रामासेंटरकासंचालननहींहोसका।प्रभारीकेनिधनकेबादट्रामासेंटरमेंकोईभीचिकित्सकनहींबचाहै।

डा.जेएनतिवारी,सीएमएस