टपकती है छत, रिकॉर्ड बचाना मुश्किल

संवादसहयोगी,जोगेंद्रनगर:बरसातकामौसमजोगेंद्रनगरकेतहसीलकार्यालयकेलिएआफतबनगयाहै।दशकोंपुरानेतहसीलकार्यालयकेभवनमेंबारिशकापानीटपकनेकेकारणरिकॉर्डखराबहोरहाहै।दोदिनपहलेहुईबारिशसेभीरिसावहुआऔरअधिकारीऔरकर्मचारियोंनेबड़ीमुश्किलसेरिकॉर्डकोसुरक्षितकिया।दिनमेंबारिशसेतोसरकारीदस्तावेजोंकोइधरउधरकरसुरक्षितबचालियाजाताहै,लेकिनरातकोहुईबारिशनुकसानदायीसाबितहोतीहै।

तहसीलकार्यालयभवनकाहालयहहैकिछतसेपानीटपकनेकेकारणखस्ताहालहैओरदीवारोंसेभीप्लास्टरउतररहाहै।उपमंडलकेकुछऔरसरकारीभवनोंकीभीऐसीदुर्दशाहैजिनकीदीवारोंपरपानीकाटपकनाआमहोचुकाहै।विडंबनायहहैकिहरबारबरसातकेमौसमसेपहलेखस्ताहालभवनोंकीमरम्मतकेलिएअधिकारियोंसेखाकातैयारकररिपोर्टहासिलकरलीजातीहैलेकिनमरम्मतकेलिएबजटउपलब्धनहींहोपाताहै।इसकाखामियाजाअधिकारीऔरकर्मचारियोंकोभुगतनापड़रहाहै।

उपमंडलकेजिनसरकारीकार्यालयोंकेभवनोंमेंपानीकेरिसावआदिकीसमस्याहैउनकेजीर्णोद्धारकेलिएउच्चाधिकारियोंकोविस्तृतरिपोर्टप्रेषितकरदीगईहै।अधिकांशसरकारीभवनोंकीमरम्मतकाकार्यभीपूराकरलियागयाहै।

-अमितमेहरा,एसडीएम,जोगेंद्रनगर।

तहसीलकार्यालयकेजिसभवनमेंपानीकारिसावशुरूहुआहैउसकीजल्दमरम्मतकाकार्यपूराकरलियाजाएगा।मामलाध्यानमेंलायागयाहै।इसबारेमेंप्रशासनकेउच्चाधिकारियोंकोभीअवगतकरवायाजाएगा।

-बीएसठाकुर,तहसीलदारजोगेंद्रनगर।