'ठहर जाता हूं मैं' कविता संग्रह का विमोचन

जेएनएन,बुलंदशहर।गुलावठीकेडीएनइंटरकालेजमेंशुभमसंस्थाकेअध्यक्षडा.देवकीनंदनशर्माकेप्रथमकवितासंग्रह'ठहरजाताहूंमैं'काविमोचनहुआ।मुख्यअतिथिशिक्षाविदएवंसाहित्यकारडा.रमासिंह,अध्यक्षडा.ज्ञानेशदत्तहरितनेदीपप्रज्जवलितकरकार्यक्रमकाशुभारंभकिया।डा.देवकीनंदनशर्मानेकहाकि'ठहरजाताहूंमैं'सृजनकाएकपड़ावहैजोऔरबेहतरकरनेकीऊर्जाप्रदानकरताहै।समाजमेंमौजूदहरचीजकिसीनकिसीरूपमेंउपयोगीहै।मनुष्यकीमहत्वाकांक्षानेउसेस्वार्थतकसीमितरखकरउसकेमनकीपीड़ाओंसेविमुखकरदियाहै।समाजकेप्रतिचेतनाकाभावहीसृजनकाआधारहै।मुख्यअतिथिडा.रमासिंहनेकहाकिसृजनकेबीजमानवमस्तिष्कमेंहमेशासेरहेहैं।कार्यक्रमअध्यक्षडा.ज्ञानेशदत्त'हरित'नेकहाकिसाहित्यहीहैजोतप्तमानसकोसींचताहैऔरउसेसमाजकेविकासमेंप्रवृत्तकरताहै।ओपीसिंहअसिस्टेंटप्रोफेसरएनआरईसीकालेजखुर्जा,डा.अनूपसिंह,कविअर्जुनसिसौदिया,मुकेशनिर्विकार,इशाकअलीआदिनेभीविचारव्यक्तकिए।

आजबहेगीशिवमंदिरोंमेंभक्तिकीबयार

महाशिवरात्रिकेपर्वपरभोलेनाथकोजलाभिषेककरनेकेलिएशिवभक्तरंग-बिरंगीकांवड़केसाथअपनेअंतिमपड़ावपरपहुंचगएहैं।नगरकेसिद्धेश्वर,भूतेश्वरसमेतअधिकांशशिवमंदिरोंऔरकांवड़शिविरोंपरकांवड़िएउमड़ेहुएहैं।पर्वकोलेकरमंदिरोंपरभीतैयारियांपूरीहोचुकीहैं।

आजमहाशिवरात्रिकेपर्वपरभगवानभोलेनाथकोजलाभिषेककरनेकेलिएभक्तशिवालयोंमेंपहुंचेंगे।बुधवारकोशिवभक्तकांवड़लेकरअपनेगंतव्यकीतरफतेजीसेलौटतेहुएनजरआए।नगरक्षेत्रमेंहाईवे-91,खुर्जा-सिकंदराबादमार्ग,जेवरमार्ग,जंक्शनमार्ग,शिकारपुरमार्ग,पहासूमार्गआदिस्थानोंपरकांवड़ियोंकेजत्थेतेजीसेअपनेगंतव्यकीतरफबढ़रहेथे।बुधवारकोअधिकांशकांवड़िएअपनेअंतिमपड़ावपरपहुंचगए।जिसकेचलतेनगरकेगांधीमार्ग,जंक्शनमार्ग,मंदिरमार्ग,जीटीरोड,सिकंदराबादमार्गपरलगेसेवाशिविरोंमेंकांवड़िएउमड़ेनजरआए।वहांपरकांवड़यात्रियोंकीसेवाकरनेमेंभीसेवादारजुटेरहे।