तमाड़ जंगल में आठ दिनों से बीमार नन्हे हाथी ने तोड़ा दम

रांची/तमाड़,संसू।तमाड़वनक्षेत्रकेसारजमडीहटोलाचिरूपीडीजंगलमेंहाथीकेएकबच्चेनेदमतोड़दिया।ग्रामीणोंकेमुताबिकवहसात-आठदिनोंसेबीमारथा।उन्होंनेइसकीसूचनातमाड़वनक्षेत्रपदाधिकारीअमरनाथभगतकोदी।सूचनापातेहीभगतडॉक्टरकीसहायतासेहाथीकेबच्चेकोकिसीतरहकेलेमेंदवाडालकरखिलानेकीकोशिशकी।लेकिनउसनेदवानहींखाया।

वहीं,हाथीकेबच्चेकोचारोंओरसेहाथियोंकेझुंडनेघेररखाथा।जिससेउसकेइलाजमेंकाफीपरेशानीआई।ग्रामीणोंनेबतायाकिनन्हेंहाथीकेचारोओरकरीब12से15जंगलीहाथीघेराबनाकरखड़ेथे।इधर,मौतकेबादवाइल्डचिकित्सकडॉजयकुमारतिवारीऔरमहिमामिंजनेहाथीकेबच्चेकापोस्टमार्टमकिया। इसकेबादउसकेशवकोदफनायागया।

बतादेंकितमाड़,बुंडू,सोनाहातू,अनगड़ा,सिल्ली,राहेआदिइलाकोंमेंआएदिनहाथीआतंकमचातेरहतेहैं। ग्रामीणहमेशाइनकेभयसेभयभीतरहतेहैं।शामहोते-होतेलोगअपने-अपनेघरोंमेंदुबकनेकोमजबूरहैं।ग्रामीणोंकाकहनाहैपहलेढोल,नगाड़ा,बम,फटाके,मशालआदिसेडरकरहाथीभागजातेथे।लेकिनअबयेनहींभागते।

तमाड़वनक्षेत्रमें5वर्षोंमेंलगभगदोदर्जनलोगोंकोमारचुकेहैंहाथी

तमाड़वनक्षेत्रमें5वर्षोंमेंलगभगदोदर्जनलोगोंकोहाथीमौतकेघाटउतारचुकेहैं।आएदिनहाथियोंकेद्वारालोगोंकोकुचलेजानेकीखबरेंसामनेआतीरहतीहै।ग्रामीणोंकीमानेंतोदलमासेआयेहाथियोंकादलसेअधिकसारकेलाकीओरसेहाथीहिंसकहोतेहैं।दलमाकेहाथीलंबेहोतेहै।जबकिसराईकेलाकिओरआएजंगलीहाथियांकदमेंछोटेहोतेहैपरकाफीहिंसकहोतेहैं।