तिगरी में फिर आबादी के करीब पहुंची गंगा

गजरौला:तिगरीधामपहुंचतेहीबुजुर्गलोग30-40सालपुरानेदौरमेंखोजातेहैं।उनकेदिमागमेंउसदौरानकीस्थिति-परिस्थितियांहीअनायासउभरआतीहैं।वहींघाटपरबैठनेकेबादउनकीचर्चाकरनेकोविवशहोजातेहैं।इसीमेंउनकेघंटोंबीतजातेहैंऔरमांगंगेकोनमनकरतेहुएकरतेवापसलौटजातेहैं।

वर्तमानमेंमानसूनकासमयनहींहै,लेकिनतिगरीधाममेंगंगातटपरपहुंचतेहीइसकाआभासहोनेलगताहै।हालांकिपतितपावनीमांगंगेसमानरूपमेंहीबहरहीहैं।जलस्तरभीबढ़ाहुआनहींहै।बसफर्कइतनाहैकिगंगाजीऔरगांवकीआबादीकीहिफाजतकोबनेतटबंधकेबीचकाफासलानामकाहीरहगयाहै।अबआधाकिमीसेलेकरडेढ़किमीतकफासलाखत्महोगयाहै।पंडितगंगासरनशर्माकहतेहैंमांगंगेआबादीकेनजदीकहीआपहुंचीहैं।तटबंधसेसटीपीलीकोठीसेतोगंगाजीमहजसौमीटरसेभीकमकेफासलेपरबहरहींहै।

55वर्षीयविनोदत्यागीकहतेहैंइतनीदूरीपरउनकेबचपनमेंबहाकरतीथीं।लगभगउन्हींकीउम्रकेमहावीरसिंह,छोटेऔरपंडितचंद्रकिशोरबतातेहैंकि30-40सालपहलेइसीस्थानपरगंगाजीविराजमानरहाकरतीथीं।उनकीधारयहीबहतीथी।रातमेंवातावरणसामान्यहोनेपरतिगरीकेलोगोंकोगंगाकेबहावकीआवाजेंभीसुनाईदेतींथीं।इसकीवजहयहहैकिपिछले18केमानसूनकेदौरानगंगामेंबाढ़आईथी।इसकाअसरडेढ़माहसेअधिकसमयतकरहाथा।उसकेबादसेशुरूहुआकटानकादौरानअभीतकनहींथमाहैऔरगंगाकटानकरते-करतेगांवकीआबादीतकआपहुंचीहै,जोबुजुर्गोंकोघाटपर30-40सालपुरानीस्थितिकाआभासकरारहीहै।हाथपरहाथधरेबैठाहैबाढ़नियंत्रणखंडविभाग

गजरौला:अक्टूबर,18सेतिगरीमेंरेतीलेकच्चेघाटोंकेकटानकादौरचलरहाहै,जोअभीतकजारीहै।इसीकटानकेबीचकार्तिकपूर्णिमापरलगनेवालागंगामेलाभीसम्पन्नहोगया,गंगाकेद्वाराकियाजानेवालाकटानबंदनहींहुआहै।ऐसानहींहैकिइसकीजानकारीबाढ़नियंत्रणखंडविभागकोनहींहो,लेकिनयहविभागजानकरभीहाथपरहाथधरेबैठाहै।उसेइसपरनियंत्रणकरनेकेलिएभारी-भरकमबजटकीजरूरतहै,जिसेदेनेकोसरकारतैयारनहींहै।पिछलेदिनोंतिगरीऔरदयावलीमेंकटानसेनिबटनेकोतत्कालीनडीएमहेमंतकुमारनेदूसरेमाध्यमसेकुछबजटकीव्यवस्थाकरादीथी,लेकिनवहऊंटकेमुंहमेंजीरासमानहोनेकेकारणसमस्याआजभीकटानकेरूपमेंबरकरारहै।मानसूनकेदौरानसेकटानहोरहाहै।इसेरोकनेकेपूर्वमेंप्रयासभीकिएगएलेकिनसफलतानहींमिलसकीहै।इसकेबारेमेंउच्चाधिकारियोंकोअवगतकरादियाहै।उनकेद्वाराकटानसेनिबटनेकीकार्ययोजनाकाप्रस्तावबनाकरशासनकोभेजदियागयाहै।मंजूरीमिलनेकेबादकामकरायाजाएगा।फिलहालबजटकेअभावमेंकोईकामकरानासंभवनहींहै।

प्रदीपकुमार,जेई,बाढ़खंडतिगरी।