तेल की धार पर सरकार

विस।।नईदिल्लीपेट्रोलकेरेटमेंभारीबढ़ोतरीकेजबर्दस्तविरोधसेराजनीतिकमाहौलगरमागयाहै।ऐसेमेंयूपीएसरकारपरबढ़ोतरीवापसलेनेयानीरोलबैककादबावबढ़गयाहै।कांग्रेसनेकुछकटौतीकेसंकेतदेकरउम्मीदेंजगादीहैंलेकिनतेलकंपनियांराजीनहींहैं।मगरउनकाकहनाहैकिसरकारनेआदेशदियातोवेदामघटादेंगी।सूत्रोंकेअनुसार,1.50से2.50रुपयेतकरोलबैककीसंभावनापरविचारहोरहाहै।कांग्रेसप्रवक्तामनीषतिवारीनेकहाकिपार्टीकोउम्मीदहैकिकेंद्रसरकार,राज्यसरकारेंऔरतेलकंपनियांमिलकरऐसारास्तानिकालेंगीकिआमआदमीकाकुछबोझकमहोसके।इंडियनऑयलकेचेयरमैनआर.एस.बुटोलानेकहाकिअगरअंतरराष्ट्रीयबाजारमेंकच्चेतेलकेदाममेंगिरावटजारीरहीतोअगलेमहीनेयहांपेट्रोलकेदाम1.50से1.80रुपयेलीटरकमहोसकतेहैं।इधर,डीजलऔररसोईगैसकेदामबढ़ानेकेमुद्देपरवित्तमंत्रीप्रणवमुखर्जीकीअध्यक्षतावालीअधिकारप्राप्तमंत्रियोंकेसमूह(ईजीओएम)कीबैठकटलनेकेआसारहैं।यहबैठकशुक्रवारकोप्रस्तावितहैलेकिनपेट्रोलपरजबर्दस्तप्रदर्शनकेबादयहमीटिंगमुश्किललगरहीहै।पेट्रोलियममिनिस्ट्रीकेएकटॉपअफसरनेबतायाकिबैठकअभीतयनहींहै।अगरआजनहींहुईतोअगलेसप्ताहहोसकतीहै।