तबाह हो रही फसल, तमाशबीन बने किसान

देवरिया:भलेहीसरकारनेबेसहारागोवंशीयपशुओंकोगांवमेंगोशालाबनाकरउनमेंरखनेकेनिर्देशदिएहो,लेकिनअबभीपशुओंकेआतंकसेकिसानोंकीनींदहरामहोगईहै।मौकामिलतेहीपशुकिसानोंकीफसलकोबर्बादकरनेमेंजुटजातेहैं।अधिकांशकिसानकड़ाकेकीठंडमेंदिनरातअपनीफसलोंकीरखवालीकररहेहैं।बड़ेकिसानोंनेपशुओंसेनिजातपानेकेलिएखेतोंकेचारोंतरफकटीलेतारलगादिएहै,लेकिनछोटेकिसानरुपयेकेअभावमेंतारभीनहींलगापारहेहैं।ऐसेमेंपशुउनकीफसलकोनुकसानपहुंचानेसेबाजनहींआरहेहैं।

ब्लाकक्षेत्रकेकिसानोंकेखेतोंमेंलगीरविकीफसलोंमेंगोवंशीयपशुबर्बादकररहेहै।ब्लाकक्षेत्रपथरदेवाकेमलघोटविरैचा,कंठीपट्टीगांवकेसाथहीशिवमंदिरमछैलावछितावनीगांवकेतालमेंगोवंशीयपशुओंमेंसबसेअधिकसंख्याबछड़ोंकीहैजोआसपासकेगांवमेंपहुंचकरफसलोंकोनष्टकररहेहैं।इनपशुओंसेगांवनेरुआरी,मुरारछापर,महुआरी,भेलीपट्टी,पकड़ियार,नोनियापट्टीआदिगांवकेलोगआतंकितहै।रातभरजगकरकिसानअपनेखेतोंकीफसलकीरखवालीकररहेहैं।इसकेबावजूदमौकापाकरपशुकिसानोंकीफसलनष्टकरदेरहेहैं।किसानोंकाकहनाहैकिक्षेत्रमेंएकसाथदर्जनोंबेसहारापशुरातमेंखेतोंमेंप्रवेशकरतेहैंऔरकुछहीघंटोंमेंफसलरौंददेतेहैं।ग्रामीणोंकाकहनाहैकिसरकारद्वाराहरब्लाकक्षेत्रमेंपशुओंकोरखनेकेलिएपशुआश्रयकेंद्रबनाएगएहैजहांउनकीदेख-रेखकेलिएसरकारद्वाराकर्मचारियोंकीतैनातीकेसाथहीउनकेचारेकेलिएधनकीभीव्यवस्थाकीगईहै।इसकेबादभीसंबंधितजिम्मेदारअधिकारीइसतरफध्याननहींदेरहेहैं।

आलोकसिंह,खंडविकासअधिकारीनेबतायाकिब्लाकक्षेत्रमेंअभीमात्रएकहीपशुआश्रयकेंद्रबनाहै,शीघ्रएकऔरमघोटविरैचामेंभीकेंद्रसंचालितहोनेजारहाहै,जिससेक्षेत्रकेकिसानोंकोआवारापशुओंसेछुटकारामिलसकेगा