तालिबान पर पाकिस्तानी समाज में दरार, जानिए इस्लामिक संगठनों से 'गृहयुद्ध' का खतरा कैसे मंडराया

इस्लामाबाद,अक्टूबर09:पाकिस्तानकीराजनीतिमेंशक्तिशालीइस्लामीगुटअफगानिस्तानमेंतालिबानसरकारकोआधिकारिकरूपसेमान्यतादेनेकेलिएसरकारपरभारीदबावडालरहेहैं।जिसकीवजहसेप्रधानमंत्रीइमरानखानकाफीटेंशनमेंआचुकेहैं।पाकिस्तानकीइस्लामिकपार्टियोंकेपासनासिर्फजनताकाबड़ाजनाधाररहताहै,बल्कियेसंगठनकिसीभीवक्तदेशमेंगृहयुद्धभड़कानेकीस्थितिमेंरहतेहैं।जिसकाउदाहरणइसीसालतहरीक-ए-लब्बैकपेशकरचुकाहै,जबएकहफ्तेसेज्यादावक्ततकपाकिस्तानगृहयुद्धकीआगमेंजलतारहाहै।ऐसेमेंतालिबानकोलेकरपाकिस्तानकासमाजदोहिस्सोंमेंबंटगयाहै।एकहिस्साजोतालिबानकाकट्टरसमर्थकहै,तोवहींएकहिस्साऐसाभीहै,जोतालिबानकेखिलाफखड़ाहोरहाहै।

100अरबडॉलरकेदुर्लभक्लबमेंशामिलहुएमुकेशअंबानी,अबएलनमस्क,जेफबेजोसकोदेंगेचुनौती?