तालाबों को बचाने के लिए प्रशासनिक पहल की दरकार

बगहा।बगहादोप्रखंडकीबेलहवामदनपुर,बलुआछत्रौलवहरनाटांड़पंचायतकीगांवोंसेसरकारीतालाबगुमहोगए।सरकारीफाइलोंमेंतालाबतोहैं,लेकिनधरातलपरसिर्फअवशेषदिखताहै।यहस्थितिप्रशासनिकनिष्क्रियताकीवजहसेउत्पन्नहुईहै।बेलहवामदनपुरपंचायतमेंएकभीसरकारीयानिजीतालाबनहींहै।तोबलुआछत्रौलपंचायतमेंदोसरकारीतालाबहैं।लेकिनवहांतीनसार्वजनिकतालाबभीहैं।इतनाहीनहींइसपंचायतमें18निजीतालाबभीहैं।तालाबमालिकधन्नुसिंहनेबतायाकितालाबकेपीछेमत्स्यपालनकरपैसाकमानातोहै।पर,मुख्यउद्देश्यजलसंरक्षणहै।हरनाटांड़पंचायतमेंएकसरकारीपोखरहैं।लेकिनसार्वजनिकवनिजीमिलकरकरीबएकदर्जनतालाबहैं।तालाबोंमेंमछलीपालनभीहोताहैऔरउससेप्राप्तराजस्वसेसार्वजनिकक्षेत्रमेंसामाजिककार्यभीहोताहै।इसकेरखरखावकेप्रतिग्रामीणखुदसंवेदनशीलहैं।बलुआछत्रौलअंतर्गतस्थिततालाबपंचायतकासबसेपुरानाऔरबड़ातालाबहै।इसतालाबकाअतिक्रमणहोरहाहै।अभीबारिशहुईथी,इसवजहसेइनपोखरोंमेंपानीदिखरहाहै।मुखियाशंखधरमहतोनेबतायाकिपंचायतस्तरसेलेकरप्रखंडस्तरतककईबारइसकीसाफ-सफाईकेलिएप्रयासकिया।लेकिनकोईसफलतानहींमिली।बेलहवामदनपुरकेमुखियायोगेन्द्रमुशहरनेबतायाकिमदनपुरगांवस्थिततालाबकीसफाईकेलिएलिखितआवेदनभीदियागयाहैलेकिनअबतकअनुमतिनहींमिलीहै।हालांकिइसपंचायतमेंलोगमछलीपालनकोलेकरकाफीजागरूकहैं।जहांबेहतरढंगसेजलसंरक्षणसेलेकरमत्स्यपालनतकहोसकताहै।हरनाटांड़केमुखियाओमप्रकाशगुप्तानेबतायाकिपंचायतमेंतालाबोंकीसंख्याएकदर्जनसेअधिकहै।कुछेकछोड़करसबकीस्थितिअच्छीहै।मत्स्यपालनएवंजलसंरक्षणकेप्रतिलोगोंमेंजागरूकताआईहै।कईकिसानमछलीपालनकेलिएभीतालाबखुदवारहेहैं।