तालाबों के सूख रहे कंठ, कैसे हो जल संचयन

जेएनएन,शामली।प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेजलशक्तिअभियानकाशुभारंभकरदियाहै।इसकेतहतजिलाप्रशासननेभीतैयारियांतेजकरदीहै।होलीपर्वकेउपरांतयुद्धस्तरपरअभियानशरूकरदियाजाएगा।जिलेमेंतालाबोंपरअवैधकब्जेऔरअतिक्रमणकेकारणतालाबोंकेकंठसूखेहुएहैं।अतिक्रमणकाहीपरिणामहैकिजनपदकेसैकड़ोंतालाबविलुप्तहोनेकेकगारपरहै,जबकिकुछविलुप्तभीहोचुकेहै।कुछतालाबोंपरअवैधकब्जानहींहै,लेकिनयेसूखेपड़ेहुएहै।

तालाबकीजमीनकोमाफियाबेचकरखागएहैंऔरअबइनपरमकानखड़ेहैंतोकहींपरफसलेंलहलहारहीहैं।तालाबपरकब्जोंकीशिकायतजागरूकलोगलगातारअफसरोंकोकरतेभीरहेहैं,लेकिनहोताकुछनहींहै।जिलेकीतहसीलोंमेंविभिन्नजगहस्थिततालाबोंपरपक्केमकानबनादिएगएहैं।जिलाप्रशासननेअवैधकब्जाहटाओअभियानकईबारचलाया,लेकिननतीजाढाककेतीनपातवालाहीरहाहै।जिलेमेंदोहजारसेअधिकतालाबहैं।इनमेंसे1603शामलीतहसीलक्षेत्रमेंहैं।यहांआधारवर्षखतौनीमेंअंकिततालाब670है,जबकिवर्तमानमेंतालाबोंकीसंख्या933है।तहसीलशामलीवकैरानाक्षेत्रमेंसैकड़ोंतालाबोंपरअवैधकब्जेहैं।कईबारअवैधकब्जाहटाओअभियानचलाएगए,लेकिननतीजाढाककेतीनपातवालारहा।हालांकिडीएमकेनिर्देशोंपरकईबारअभियानचलतेरहेहैं।वहींएंटीभूमाफियाटास्कफोर्सनेभीकब्जोंकोचिह्नितकिया।कुछपरएफआइआरभीहुई,जबकिकुछसेअवैधकब्जेहटवायेभीगए,लेकिनकुछदिनोंबादहीयहदमतोड़गया।गौरतलबहैकिजनपदबीतेसाल2012सेलेकर2019तकहरसालतालाबोंसेअवैधकब्जाहटवानेकेलिएअभियानचलाएजातेरहेहैं,लेकिनयहअभियानकुछदिनोंबादहीदमतोड़तेरहे।इनकेपीछेराजनीतिकदबाव,तालाबोंपरपक्कानिर्माणवलोगोंकेमकानहोनेसेमुश्किलेंसामनेआतीरहीहैं।शामलीतहसीलक्षेत्रोंमेंपक्केवअस्थायीनिर्माणपरनोटिसभीजारीकिएगए,लेकिनयहकेवलकागजीपेटभरनेजैसाहीरहा।अपरजिलाधिकारीअरविदकुमारसिंहनेबतायाकितालाबोंपरअवैधकब्जाकरनेवालोंकेखिलाफकार्रवाईकीजाएगी।निरंतरजांचकराकरअवैधकब्जेहटवाएजातेरहेहै।फिरभीदिखवाकरकार्रवाईकराईजाएगी।