सूर्य से निकली ताकतवर सौर लहर; उपग्रह संचार पर असर पड़ने की आशंका, प्रभावित हो सकता है जीपीएस

समाचारएजेंसीपीटीआइकीरिपोर्टकेमुताबिककोलकातास्थितभारतीयविज्ञानशिक्षाएवंअनुसंधानसंस्थानमेंसीईएसएसईकेएसोसिएटप्रोफेसरएवंकोआर्डिनेटरदिब्येंदुनंदी(DibyenduNandi)नेकहाकिसौरमैग्नेटिकसक्रियक्षेत्रएआर12992सेसमन्वितग्‍लोबलटाइमतीनबजकर57मिनटपरयहचमकपैदाहुई।इसेएक्स2.2श्रेणीकीसौरलहर(X2.2classsolarflareeruption)बतायागयाहै।

यहसौरलहरबेहदताकतवरबताईजातीहै।इसीलिएइसलहरकोएक्सकीश्रेणीमेंरखागयाहै।CESSIनेट्वीटकरबतायाकिभारत,दक्षिणपूर्वएशियाऔरएशियाप्रशांतक्षेत्रमेंइससेआयनमंडलीयउभारपैदाहोरहेहैं।इसकेप्रभावसेइलेक्ट्रिकबिजलीग्रिड,नौवहनसिग्नलप्रभावितहोसकतेहैं।यहअंतरिक्षयानोंकेलिएभीखतरापैदाकरसकतीहै।अंतरिक्षयात्रियोंकोइससेजोखिमकीआशंकाएंहैं।यहीनहींइससेसंचारमेंबाधापैदाहोसकतीहै।

साथहीसेटेलाइटविसंगतिआसकतीहै।इसकीवजहसेजीपीएसप्रभावितहोनेकेसाथहीविमानसंचारपरअसरपड़सकताहै।अबसीईएसएसआईमेंवैज्ञानिकइससौरलहरकेप्रभावकाअध्ययनकररहेहैं।वहींआर्यभट्टप्रेक्षणविज्ञानशोधसंस्थान(एरीज)केविज्ञानियोंनेबतायाकिमौजूदावक्‍तमें25वांसौर-चक्रचलरहाहै। नासाकेवीडियोमेंविस्फोटसेनिकलतीभीषणलपटोंकोदिखायागयाहै।बतायाजाताहैकिइससनस्पाटकेआगेभीबेहदसक्रियबनेरहनेकीसंभावनाहै।