सुनें और सुनाएं, तब बने बात

रायबरेली:गांवचौपालकामुख्यउद्देश्यहैमतदाताजागरूकता।ब्लाककेदूरस्थछहगांवोंमेंइसकेआयोजनकीरूपरेखातयहोचुकीहै।18चौपालेंलगचुकीहैं।वोटिगसेसंबंधितचर्चाएंतोहोरहीहैंलेकिनग्रामीणअपनीसमस्याएंअभीखुलकरसाझानहींकररहेहैं।जबकिप्रशासनउनकेनिस्तारणकेलिएकमरकसेबैठाहै।चौपालमेंलोगअपनीबातरखेंगेतोउसपरकार्रवाईतयहै।

मंगलवारसेगांवचौपालकीशुरुआतहुई।शहरसेदूरकेगांवोंमेंअधिकारीग्रामीणोंकेसाथबैठकरचर्चाएंकररहेहैं।उन्हेंवोटकामहत्वबतारहेहैं।देशकाइतिहासबतायाजारहाहै।अच्छीसरकारचुननेकेफायदेगिनाएजारहेहैं।कहाजारहाहैकिजबइतनीगर्मीऔरधूपमेंआपघरसेनिकलकरयहांबैठेहैंतोचंदकदमचलकरवोटडालनेजरूरजाइएगा।अबतककेकार्यक्रमसफलरहे।भीड़जुटी,जिसमेंआधीआबादीकीसंख्याज्यादारही।घरकेमुखियाभलेहीरोजीरोटीकेलिएकार्यस्थलोंमेंव्यस्तरहे।मगरनतोमहिलाएंऔरनहीपुरुष,मूलभूतसमस्याओंकोसामनेरखनेकेलिएआगेआरहेहैं।यहचौपालसिर्फऔरसिर्फमतदाताजागरूकताकेलिएनहींहै।बल्किगांवस्तरपरबिजली,पानी,खडं़जा,सड़कमरम्मतआदिसमस्याओंकेनिस्तारणकेलिएभीहै।जबजिसगांवमेंचौपाललगे,वहांकेलोगइसेगंभीरतासेलेंतोमाहौलबदलसकताहै।जिनशिकायतोंकोलेकरवेमुख्यालयतकदौड़लगातेहैं,उनकावहींपरनिपटाराहोसकताहै।जरूरतहैतोसिर्फअपनीबातरखनेकी।जिलाधिकारीबोलीं

जनशिकायतोंकेलिएपहलेहीजिलालेवलकेदोअधिकारियोंकोलगायाहै।चौपालकेपहलेहीयेअधिकारीगांवजाकरशिकायतेंनोटकरतेहैं।ग्रामीणोंकीजोभीसमस्याएंहों,चौपालकेजरिएबतासकतेहैं।हमउनकात्वरितनिस्तारणकराएंगे।

नेहाशर्मा,जिलाधिकारी