संक्रमण-मौतें कम नहीं, ज्यादा प्रभावित शहरों में बढ़ सकता है लाॅकडाउन, मंथन इसलिए 15 दिन में ही मिल गए 2 लाख मरीज

राजधानीसमेतप्रदेशके22सेअधिकजिलोंमेंमरीज़ोंकीसंख्याऔरमौतकेमामलेमेंलगातारवृद्धिकोदेखतेहुएअबलाकडाउनबढ़ानेपरमंथनशुरुहोगयाहै।फिलहालप्रदेशकेकईजिलोंमेंलाॅकडाउनहै।इसकीअवधि26सेलेकर29अप्रैलतकहै।लाॅकडाउनबढ़ानेकेमसलेपरराज्यसरकारनेकलेक्टरोंकोअंतिमनिर्णयकरनेअधिकृतकरदियाहै।

शासननेकलेक्टरोंकोसंकेतदिएहैंकिवेहालातकीखुदसमीक्षाकरेंऔरअलगलगताहैकिजरूरीहै,तोलाॅकडाउनबढ़ानेकाफैसलाकरसकतेहैं।शासननेकलेक्टरोंकोयहनिर्देशभीदिएहैंकिवेहीदिनोंकीअवधितयकरसकतेहैं।सरकारीसूत्रोंकेअनुसारराजधानीसमेतजिनजिलोंमेंलाकडाउन26कोखत्महोरहाहै,वहांकेकलेक्टरशनिवारकोआगेकाफैसलाकरेंगे।यहभीसंभवहैकिअगरछूटदेनेकीबातभीआईतोइसमामलेमेंसख्तीबरतीजाएगी।यहपुख्ताइंतजामकिएजाएंगेकिलोगोंकोसमूहमेंमौजूदगीसेकड़ाईसेरोकाजाएगा।

दरअसलदोदौरकेलाॅकडाउनकेबादभीसंक्रमणकीरफ़्तारकमनहींहोनेऔरमरीज़ोंकीसंख्यामेंलगातारवृद्धिसेप्रशासनिकअमलापरेशानहै।वहलगातारडाक्टरोंसेसंपर्ककरइसकातलाशरहाहै।अबफिरसेलॉकडाउनबढ़ाएजानेकेप्रश्नपरडाक्टरोंकाकहनाहैकिन्यूनतमचौदहदिनकालॉकडाउनजरुरीहै,औरयदिइसबीचसंक्रमणकीरफ़्तारमेंकमीनाआए.तोउसेऔरबढ़ानाचाहिए।वहीं,लाकडाउनकेदौरानआरहीपरेशानियोंकोदेखतेहुएजनसामान्यकुछछूटकेपक्षमेंभीहै।

सर्वाधिकपरेशानीकोरोनासंक्रमितमरीजोंकेपरिजनोंकोउठानीपड़रहीहै।हालकेदिनोंमेंमरीजोंकेलिएदवाओंकेलिएअस्पातलप्रबंधनपरिजनोंकोचिटथमानेलगेहैं।औरवेखरीददारीकेलिएपूरेशहरकाचक्करलगानेमजबूरहैं।साथहीघरेलूउपयोगकेसामाननमिलनेसेभीपरेशानीबढ़गईहै।

मंथनइसलिए...15दिनमेंहीमिलगए2लाखमरीज

लॉकडाउनके15दिनोंमेंप्रदेशमें210436वराजधानीमें47719कोरोनाकेनएमरीजमिलेहैं।इसदौरानप्रदेशमें2211वरायपुरमें908लोगोंकीकोरोनासेमौतभीहुईहै।लॉकडाउनकेदौरानहीप्रदेशमेंकोरोनापीककाकालशुरूहुअाहै।ठीकएकदिनपहलेयानीगुरुवारकोप्रदेशमेंकोरोनासेसर्वाधिक207लोगोंकीमौतऔररिकार्ड16750मरीजभीमिलचुकेहैं।प्रदेशकेज्यादातरजिलोंमेंइनदिनोंलॉकडाउनहैऔरइसदौरानसारेअनुमानोंकेविपरीतनएमरीजबेतहाशातोबढ़ेहीहैं,कोरोनासेजानभीज्यादाजारहीहै।

राहतवालीबातयहरहीकिअस्पतालोंवहोमआइसोलेशनमेंरिकवरकरनेवालोंकीसंख्याकाफीबढ़ीहै।विशेषज्ञोंकाकहनाहैकिलॉकडाउनमेंलोगघरोंमेंरहतेहैं।ऐसेमेंस्वाभाविकरूपसेमरीजोंकीसंख्याकमहोनीथी।मौतमेंभीकमीआनीथी,परऐसाबिल्कुलनहींहोरहाहै।इससेविशेषज्ञभीहैरानहै।जिनछोटेजिलोंमेंकेसकमथे,वहांभीपिछले15दिनमेंकेसबढ़ेहैं।यहीस्थितिमौतोंकीभीहै।राजधानीमेंजरूर18से20अप्रैलतक3000सेकममरीजमिलेथे,लेकिनपिछले3दिनोंसेफिरइससेज्यादामरीजमिलनेलगेहैं।

येतीनकारणजिम्मेदार

नएकेसवमौतोंकीसंख्याबढ़नेसेलगताहैकिलोगलॉकडाउनकापालननहींकररहेहैं।अंतरराज्यीयवअंतरजिलाआवागमनजारीहै।इससेसंक्रमणबढ़रहाहै।समयपरजांचवइलाजमेंदेरीसेमौतबढ़ीहै।

-डॉ.सुभाषमिश्रा,मीडियाप्रभारी,स्टेटकोरोनासेल