संक्रामक रोगियों से पटा चिल्ड्रेन वार्ड, एक बेड पर दो मरीज

बस्ती:बदलतेमौसमकीचपेटमेंमासूमआरहेहैं।जिलाअस्पतालकाचिल्ड्रेनवार्डसंक्रामकरोगियोंसेपटगयाहै।एकबेडपरदो-दोमरीजभर्तीकिएगएहैं।44बेडकीक्षमतावालेवार्डमें67मरीजभर्तीकिएगएहैं।

दिनमेंगर्मीकेसाथतेजधूपऔररातमेंहल्कीसर्दीसेमौसमतकलीफदेनेलगाहै।बदलतेमौसमकेफेरमेंबच्चे,बूढ़े,जवानसबपरेशानहैं।तेजबुखारकेसाथखांसीऔरसिरदर्द,बदनदर्दऔरजुकामसेलोगजकड़ेहैं।बच्चेपीलियाऔरउल्टी-दस्तसेपरेशानहैं।अस्पतालकेबेडफुलहैं।जिम्मेदारभीएकहीबेडपरदो-दोमरीजलिटारहेहैं।इससेसंक्रामकरोगफैलनेकीआशंकाबनीरहतीहै।कैथोलियासेआईअर्पिताकीमांब्लडजांचकेलिएपरेशानथीं।बाहरसेजांचकेलिएएकव्यक्तिपर्चीथमाकरचलागया।पीड़ितानेकहातेजबुखारसेपरेशानहै।जिलाअस्पतालकेचिल्ड्रेनमेंएनसीयूवार्डमेंलगीवार्मरमशीनखराबहै।इससेमरीजोंकोभर्तीकरनेमेंसमस्याआरहीहै।नेशनलहेल्थमिशनकेकर्मचारीबुधवारकोअस्पतालपहुंचेऔरमशीनकीमरम्मतकरनेमेंजुटेरहे।

बालरोगविशेषज्ञडा.पंकजशुक्लनेबतायाकिमौसमबदलरहाहै।इसमेंबच्चोंकेलिएखतराबढ़जाताहै।शीत-गरमसेउन्हेंबचाएं।गर्मपानीपिलाएं।पूरेबदनकोकपड़ेसेढकें।बुखार,उल्टी-दस्तहोनेपरतत्कालचिकित्सकसेसंपर्ककरें।

प्रभारीएसआइसीडा.रामप्रकाशनेकहाकिबदलतेमौसमकोदेखतेहुएजिलाअस्पतालकेचिकित्सकोंकोएलर्टकरदियागयाहै।समयसेओपीडीमेंबैठनेऔरराउंडचेकअपकरनेकेलिएकहागयाहै।