स्मृति की 'डिग्री' पर कोर्ट बुधवार को सुनाएगा फैसला

नईदिल्लीकेंद्रीयमानवसंसाधनमंत्रीस्मृतिईरानीद्वाराचुनावआयोगकेसमक्षदाखिलहलफनामेमेंअपनीशैक्षिकयोग्यताकेबारेमेंकथिततौरपरगलतजानकारीदेनेकेखिलाफशिकायतपरदिल्लीकीएकअदालतबुधवारकोफैसलासुनासकतीहै।मेट्रोपोलिटनमैजिस्ट्रेटआकाशजैननेएकजूनकोइसमामलेमेंमियादसेजुड़ेपहलूऔरक्याइसकासंज्ञानलियाजासकताहैयानहीं,बिंदुओंपरदलीलेंसुननेकेबादअपनाफैसलासुरक्षितरखाथा।यहशिकायतस्वतंत्रलेखकअहमरखाननेदायरकीथीऔरआरोपलगायाथाकिस्मृतिनेलोकसभाऔरराज्यसभाकेचुनावकेलिएनामांकनपत्रदाखिलकरतेसमयचुनावआयोगकेसमक्षतीनहलफनामेपेशकिएथे,जिनमेउन्होंनेअपनीशैक्षिकयोग्यताकेबारेमेंअलगअलगब्यौरादियाहै।खानकीओरसेपेशहोतेहुएवरिष्ठअधिवक्ताके.के.मनननेअदालतकोबतायाकिअप्रैल2004मेंलोकसभाचुनावकेलिएअपनेहलफनामेमेंकहाथाकिउन्होंने1996मेंदिल्लीविश्वविद्यालयकेस्कूलऑफकॉरसपॉन्डंससेबीएकिया,जबकि11जुलाई2011कोगुजरातसेराज्यसभाचुनावकेलिएएकअन्यहलफनामेमेंउन्होंनेकहाकिउनकीसर्वोच्चशैक्षणिकयोग्यताडीयूकेस्कूलऑफकॉरस्पान्डंससेबी.कॉम.पार्टवनहै।