स्केल कीट से करें अमरूद का बचाव: मलिक

संवादसहयोगी,पलवल:कृषिविशेषज्ञडॉ.महावीर¨सहमलिकनेकहाहैकिअमरूदहरप्रकारकीमिट्टीवजलवायुमेंफलने-फूलनेवालापौष्टिकगुणोंसेभरपूरफलहै।जिलेमेंभीसैंकड़ोंएकड़भूमिमेंअमरूदकेबागहैं।इनदिनोंबागोंमेंस्केलकीटअमरूदकोनुकसानपहुंचारहाहै।इसकीरोकथामकेलिएउपायकरनेजरूरीहैं।

डॉ.मलिकसोमवारकोयुवासेवासमितिद्वारागांवकलसाड़ामेंआयोजितकिसानप्रशिक्षणशिविरकोसंबोधितकररहेथे।उन्होंनेकहाकिस्केलकीटमार्चसेनवंबरतकसक्रियरहताहै।इसकीरोकथामकेलिएग्रसितवृक्षोंपर1.25लीटरडाइजिनालया500मि.ली.मिथाइलपैराथीन50ई.सी.दवाको500लीटरपानीमेंमिलाकरछिड़कावकरें।क्षतिग्रस्तटहनियोंकोकाटकरअलगकरदें।

डॉ.मलिकनेकहाकिअमरूदमेंफूलआतेवफललगतेसमयसप्ताहमेंएकबार¨सचाईअवश्यकरें।वर्षाऋतुकीफसलनलेनीहोतो¨सचाईफरवरीसेमध्यमईतकबंदकरदें।गर्मियोंमेंजमीनकीखुदाईकरदेंताकिफलमक्खीकेप्यूपामरजाएं।

शिविरकीअध्यक्षताबागवानकिसाननिरंजननेकीतथासंचालनमुकेशकुमारनेकिया।इसमौकेपरपुनीत,राजेंद्र,सतवीर,महीपाल,नरकेश,राजीव,भूपेंद्र,सतेंद्र,बाबूराम,जोगेंद्र,योगेंद्र,सत्यभानमुख्यरूपसेमौजूदथे।