सज रहे शिवालय, गूंजेगा हर-हर महादेव

-कलमहाशिवरात्रिपरजलाभिषेककरनेकोउत्साहितहैंश्रद्धालु

-सुरक्षा,भीड़नियंत्रणकोलेकरपुलिस-प्रशासनसतर्क

जागरणसंवाददाता,प्रतापगढ़:शिवमंदिरोंकीजनपदमेंलंबीश्रृंखलाहै।गंगासेलेकरसईतटकेकिनारेभगवानभोलेनाथविराजतेहैं।उनकेशिवालयमेंमहाशिवरात्रिपरभक्तोंकासैलाबउमड़पड़ताहै।इसबारभीकुछऐसीहीतैयारीहै।कोरोनाकाअसरप्रतापगढ़समेतयूपीमेंकमहोजानेसेयहपर्वधूमधामसेमनानेकीतैयारीहै।गंगाकिनारेकुंडामेंहौदेश्वरनाथधामहै।यहांपरमेलालगताहै।लालगंजतहसीलक्षेत्रमेंसईकिनारेघुइसरनाथधामहै।यहांपरमहोत्सवभीहोताहै।पट्टीतहसीलक्षेत्रमेंबेलखरनाथधामऔरसदरमेंबकुलाहीकेकिनारेभयहरणनाथधामजिलेकेमुख्यशिवालयहैं।यहांपरशिवरात्रिपरइसबारश्रद्धालुओंकीभीड़होगी।इसकीतैयारीमंदिरसमितियांभीकररहीहैं।प्रशासननेभीसुरक्षाऔरभीड़नियंत्रणकोलेकरतैयारियांकीहैं।मंदिरकारंगरोगन,सफाईऔरबिजली,पानी,सुरक्षाकेइंतजामकिएगएहैं।श्रद्धालुओंमेंभी11मार्चकोमहाशिवरात्रिपरभंगवानभोलेनाथकाजलाभिषेककरनेकीलालसाबढ़तीजारहीहै।जिलेकेप्रमुखशिवालयोंकेबारेमेंआपभीजानिए।

घुइसरनाथकीपहचानबनगयाएकतामहोत्सव

संसू,घुइसरनाथधाम:कल-कलबहतीसईनदीकेकिनारेबाबाघुइसरनाथधामस्थितहै।यहांपरपौराणिकशिवमंदिरदूर-दूरतकप्रसिद्धहै।मंदिरकावर्तमानस्वरूपभव्यहै,जबकिपहलेयहांपरजंगलऔरऊसरथा।सुधर्माऔरसुदेहादंपतीथे।इनकोसंताननहींहोरहीथी।सुदेहाकेकहनेपरसुधर्मानेसुदेहाकीबहनघूस्मासेविवाहकरलिया।बादमेंजलनहोनेपरसुदेहानेघुस्माकेपुत्रकीहत्याकरदी।उससमयसुधर्मादंपतीभगवानशिवकापूजनकररहेथे,जिनकीकृपासेउन्हेंफिरसेपुत्रकीआवाजसुनाईपड़ी।घु्रस्माकेकहनेपरभगवानशिवनेउसकोअपनानामदेतेहुएकहाकिअबयहस्थानघुइसरनाथकेनामपरप्रसिद्धहोगा।बादमेंशिवलिगजंगलमेंनजरनहींआनेपरओरीयादवकीअनजानभक्तिपरप्रसन्नहोकरशिवजीनेअपनास्वरूपप्रतिबिबितकिया।इसधामकाविकासतबगतिपकड़ाजबरामपुरखाससेकांग्रेसनेताप्रमोदतिवारीविधायकबनेऔरकईबारमंत्रीरहे।उनकेप्रयाससेयहांपरसांस्कृतिकमंच,ऑडिटोरियम,गंगासरोवर,गंगासागर,बैंक,गेस्टहाउस,कवर्डपरिक्रमामार्ग,कईघाट,मिनीपुलजैसेकार्यहुए।यहीनहीं1996मेंएकतामहोत्सवकीनींवपड़ी।नामी,गिरामीकलाकारोंकाआगमनहुआ।विभिन्नधर्मोंकेलोगइसमंचपरसम्मानितहुए।यहपरंपराआजभीकायमहै।इसबारभीएकतामहोत्सवबड़ेपैमानेपरआयोजितहोगा।

हौदेश्वरमेंराजाभगीरथनेकियाथापूजन

संसू,गोतनी:गंगाकेतटपरकुंडाक्षेत्रकेशाहपुरमेंहौदेश्वरनाथशिवधामहै।यहांपरराजाभगीरथनेभगवानशिवकापूजनकियाथा।ऐसीमान्यताहैकिगंगाकोजान्ह्वीनामयहींसेमिला।यहांपरमहाशिवरात्रिपर्वकीतैयारियांजोरोंपरचलरहीहैं।धाममेंमहाशिवरात्रिकेअवसरपरभारीभीड़भगवानभोलेनाथकेदर्शनपूजनकेलिएएकत्रितहोतीहै।इसकीतैयारियोंकोलेकरमंदिरप्रशासननेगांवसेआनेवालेगंदेपानीकोबंदकरदियाहै।जेसीबीकेमाध्यमसेकूड़ेकचरेकेढेरकोमिट्टीसेढकाजारहाहै।साथहीमंदिरकेसजावटकाकामभीजोरोंपरचलरहाहै।मंदिरकेपुजारीविजयशंकरगिरीनेबतायाकिमंदिरकेआसपासजमेकूड़ेकचरेकीसाफसफाईकेलिए35कर्मीलगाएगएहैं।मेलेमेंआनेवालोंकेलिएकुंडाशाहपुरमार्गपरमंदिरसे600मीकीदूरीपरमंदिरकेदोनोंतरफस्टैंडकीव्यवस्थाकीगईहै।वहीसुरक्षाकोलेकरनौकाबचावदल,बिजलीकीव्यवस्थाकेसाथहीखोयापायाकेंद्रकीव्यवस्थाकीगईहै।अभीमंदिरकोसजानेकाकामबाकीहैजोमंगलवारकेदिनसेशुरूहोजाएगा।इधरएसडीएमकुंडाजेआरचौधरीवसीओजीतेंद्रसिंहपरिहारनेहौदेश्वरनाथधामकानिरीक्षणकरव्यवस्थाओंकाजायजालिया।

तीनपीढि़योंकेहाथलगानेसेबनाबेलखरनाथमंदिर

संसू,दीवानगंज:श्रद्धालुओंकीआस्थाकीनगरीबाबाबेलखरनाथधामकीमहिमानिरालीहै।इसमंदिरकोब्रह्रर्षिशिवहर्षब्रह्मचारीनेअपनीतीनपीढि़योंकेसाथमिलकरबनायातोपूराहोसका।ऐसाउन्होंनेभगवानशिवद्वारासपनेमेंदिएगएनिर्देशकेअंतर्गतकिया।ऊंचेटीेलपरसईनदीकेकिनारेकायहधामभक्तोंकोखुशियांदेरहाहै।यहांपर11मार्चकोमहाशिवरात्रिपर्वकीधूमरहेगी।मेलेकीतैयारीतीनदिनपूर्वसेहीशुरूहोगईहै।तैयारीकोलेकरएडीओपंचायतप्यारेलालसरोजकेनिर्देशपरवीडीओफरीदअहमदकेनेतृत्वमेंपहुंचीबाबाबेलखरनाथधामब्लाककेसफाईकर्मियोंकीटोलीनेधामप्रांगणकीसफाईसफाईशुरूकरदी।धामपरचारदिनपूर्वसेहीफूलमालाएवंमिष्ठानकेव्यापारियोंकीदुकानेंभीअभीसेसजनेलगी।धामपरविद्युतविभाग,जलनिगम,सईघाटपरबैरिकेडिगसहितअन्यव्यवस्थाओंकाकार्यसोमवारदेरशामतकचलतारहा।सुरक्षाकी²ष्टिसेएसओकंधईनीरजवालिया,दीवानगंजचौकीइंचार्जसूर्यप्रतापसिंहनेधामपरपहुंचकरस्थानीयसेवासमितिकेलोगोंसेजानकारीकरव्यवस्थाकाजायजालिया।मेलासेवासमितिकेमदनसिंह,रमानाथसिंह,मुरलीधरगिरी,सतीशपुष्पाकर,बांकेसिंह,अरुणसिंह,नारेंद्रप्रसादओझा,पंलालबिहारीसहितअन्यलोगतैयारीमेंसहयोगकररहेहैं।

पांडवोंनेयहांकियाथापूजन

जासं,प्रतापगढ़:सदरतहसीलक्षेत्रमेंभयहरणनाथधाममेंमहाशिवरात्रिकापर्वधूमधामसेमनायाजाताहै।इसबारभीइसकीतैयारीहै।यहांपरमहाकालमहोत्सवहोताहै।इसमेंसमाजकेविभिन्नविषयोंपरकार्यक्रमहोतेहैं।कार्यक्रमकीतैयारीकेलिएमंदिरसमितिऔरप्रशासनलगाहै।मंदिरकारंगारोगनकरादियागयाहै।गोल्डेनकलरसेहुईरंगाईआकर्षकलगरहीहै।जिलाप्रशासननेयहांपरमहाकालमहोत्सवकेलिएसमितियोंकागठनकरदियाहै।महासचिवडॉ.समाजशेखरकेसंयोजनमेंमहाकालमहोत्सवकीशुरुआतमंगलवारकोहीहोगईहै।पहलेदिनशिवोहमशीर्षकसेअखिलभारतीययुवाकविसम्मेलनमुख्यआकर्षणरहा।उन्होंनेबतायाकिहरदिनअलग-अलगकार्यक्रमकिएजाएंगे।यहस्थानपांडवकालीनहै।यहांपरअज्ञातवासकेदौरानपांडवोंनेराक्षसबकासुरकावधकरकेलोगोंकाभयदूरकरनेकोशिवजीकापूजनकियाथा।इसीकारणसेइसस्थानकोभयहरणनाथधामकहतेहैं।