सिविल अस्पताल में जर्जर होने लगा है पुराना भवन, छत के लेंटर से गिरने लगा है मलबा

जागरणसंवाददाता,बहादुरगढ़:

शहरकेसिविलअस्पतालको200बेडकाबनानेकेलिएएकतरफ40करोड़सेछहमंजिलाइमारतबनरहीहैतोदूसरीतरफपुरानाभवनजर्जरहोनेलगाहै।किसीभीवक्तछतसेलेंटरकामलबाभर-भराकरगिरजाताहै।ऐसेमेंयहांपरमरीजहीनहींकर्मचारीभीकिसीअनहोनीकोलेकरआशंकितरहतेहैं।सिविलअस्पतालको200बेडकादर्जातोकईसालपहलेमिलगयाथा,लेकिनभवनकाविस्तारअबहोरहाहै।यहनिर्माणकाएकतरहसेतीसराचरणहै।पहलेचरणमेंजोभवनबनाथा,वहअबज्यादापुरानातोनहींहुआहै,लेकिनकईखामियोंकीवजहसेयहजर्जरहोरहाहै।आजभीइसीभवनमेंकईओपीडी,इमरजेंसीऔरदूसरीसेवाएंचलतीहैं।ओएसटीसेंटर,टीबीजांच,इमरजेंसीसेवाएं,डिस्पेंसरी,आयुर्वेद,होम्योपैथिकवपंचकर्माओपीडी,एक्सरे,ईसीजीजांच,वैक्सीनेशनसेंटर,एआरटीसेंटर,इंजेक्शनरूमअस्पतालकेपुरानेभवनएरियामेंहीहैं।जहांपरएक्सरे,ईसीजीऔरइंजेक्शनरूमहै,वहांपरछतकेलेंटरमेंजगह-जगहसेमलबागिराहुआहै।इससेछतमेंबनेगड्ढेदेखेजासकतेहैं।ओपीडीसमयमेंयहांपरकाफीमरीजोंकाआना-जानाहोताहै।ऐसेमेंकभीभीकोईघटनाहोसकतीहै।यहांकेकर्मचारियोंनेबतायाकिबरसातमेंयहांकीछतटपकनेलगतीहै।पिछलेदिनोंकुछएरियामेंपानीघुसनेसेई-रजिस्ट्रेशनकासर्वरभीठपरहाथा।छतटपकनेसेकईबारउपकरणभीखराबहोचुकेहैं।दीवारोंसेपपड़ीबनकरप्लास्टरउतरजाताहै।हालांकिकुछएरियामेंएक-दोबारमरम्मतहुईहै,लेकिनउससेबातनहींबनी।वर्जन..

अस्पतालकेपुरानेभवनमेंजहांपरमरम्मतकीजरूरतहै,वहांपरयहकार्यकरवायाजारहाहै।नईइमारतबननेकेबादज्यादातरओपीडीवहींपरशिफ्टकरदीजाएंगी।

-डा.देवेंद्रमेघा,प्रशासक,सिविलअस्पतालबहादुरगढ़