सीताहरण लीला का हुआ चौपाई गायन

संवादसहयोगी,मथुरा:श्रीरामलीलासभाकेतत्वावधानमेंचित्रकूटपरखरदूषणवध,सीताहरणलीलाकाचौपाईगायनकियागया।कोरानाकालकेकारणइसवर्षरामलीलाकामंचननहींहोसकाहै।श्रीरामजानकीजीकापुष्पश्रृंगारकरतेहैंइंद्रकेपुत्रजयंतकीपत्नीउनकेसम्मुखनृत्यगायनकरतीहैं।जयंतकेशरणागतलीलाकीचौपाईकागायनहोताहै।चित्रकूटसेप्रभुपंचवटीकेलिएप्रस्थानकरतेहैं।मार्गमेंकईऋषियोंसेभेंटहोतीहै।सतीअनुसुइयासीताजीकोस्त्रीधर्मकीशिक्षादेतीहैं।लंकापतिरावणकीबहनसूर्पनखारामकेसौंदर्यसेप्रभावितहोकरविवाहकाप्रस्तावरखतीहै।लक्ष्मणद्वारानाक-कानकाटदिएजातेहैं।रोतीहुईवहखरदूषण,त्रिसराकेपासपहुंचतीहै।श्रीरामखरदूषण,त्रिसराकावधकरदेतेहैं।रामवलक्ष्मणलौटकरआश्रममेंसीताकोनदेखकरपरेशानहोजातेहैं।जटायुश्रीरामकोसाराप्रसंगबतातेहैं।गोपेश्वरनाथचतुवेदी,गौरशरण,कन्हैयालालबजाज,जयंतीप्रसादअग्रवाल,जुगलकिशोरअग्रवाल,नंदिशोकरअग्रवाल,मूलचंदगर्ग,प्रदीपगोस्वामी,अतुलकांतगर्ग,राजीवशर्मामौजूदरहे।