श्रद्धा से जुड़कर खुद को सबल बना रहीं महिलाएं

सहारनपुरजेएनएन।मंडीसमितिमेंप्रत्येकमाहकेपहलेगुरुवारकोजैविकउत्पादोंकीप्रदर्शनीवस्टाललगाईजातीहै।अच्छीखासीसंख्यामेंलोगयहांजैविकदलहन,तिलहन,गुड़,शक्करवसब्जियांलेनेपहुंचतेहैं।पहलीबारयहांमहिलाओंनेभीअपनास्टाललगाया।इसस्टालपरमहिलाएंजूते,चप्पल,अरकंडेकीमाला,सौंदर्यप्रसाधनकासामानवकपड़ाबेचतीनजरआई।इनकेपासखरीदारहालांकिकमथे,लेकिनहौसलोंमेंकोईकमीनहींआई।

कोरोनाकेचलतेलंबेसमयतकलगेलाकडाउनमेंजबहरकोईरोजगारकेलिएपरेशानथातबविकासखंडपुंवारकाकेअधिकारियोंनेब्लाककेगांवदाबकीजुनारदारमेंमहिलाओंकोअपनासमूहबनाकरखालीसमयमेंकामकरनेकेलिएप्रेरितकिया।उसकेबादगांवकीमहिलाओंनेश्रद्धानामसेअपनाएकसमूहजून-जुलाईमेंबनायाऔरसमूहसे30हजाररुपयेलेकरदो-दोमहिलाओंनेअपनाकामशुरुकिया।महिलासखीमीनूनेइनमहिलाओंकाकामदिलानेमेंइनकीमददकी।इनमेंमोनिकाब्यूटीपार्लर,कास्मेटिक्सवहौजरीकाकामकरतीहै।बबलीअरकंडेकीफूलमालाएंबनातीहै।मीनूनेगांवमेंहीकास्मेटिक्सकीदुकानकी।बातचीतमेंमहिलासखीमीनूनेबतायाउनतीनोंकेहीपतिफलबिक्रीकाकामकरतेहैं।कमआमदनीकेकारणहीमहिलाओंनेभीअपनेघरपरिवारकोअच्छीतरहचलानेकेलिएअपनाकामशुरुकियाहै।उन्होंनेबतायाकिमंडीमेंआजवहपहलीबारआएहैं।गांवमेंहीउनकीअच्छीखासीबिक्रीहोजातीहै।

आजपहलीबारयहांआए,जिसकारणबिक्रीकमरहीकुछचप्पल,चूड़ी,बिदी,बाथरूमक्लीनरआदिसामानकीहीबिक्रीहुईहै।अबमहिलाएंलैमनग्रासकीखेती,आचारवआंवलेकामुरब्बाबनानेकीभीतैयारीहोरहीहैं।समूहमेंअभी10-11महिलाएंहीहैं।समूहकोऔरबड़ाकरनेकाप्रयासचलरहाहै।