शराबबंदी को लेकर जागरूक कर रहे हैं दिव्यांग वार्ड सदस्य जितेंद्र

संवादसूत्र,रोशना(कटिहार):कहतेहैंइंसानकाहौसलाअगरबुलंदहोतोजीवनमेंबड़ीसेबड़ीबाधाएंदूरहोजातीहैैं।इसेसचसाबितकरदिखायाहैजिलेकेप्राणपुरप्रखंडकेप्रीतनगरगांवकेवार्डसदस्य34वर्षीयजितेंद्रऋषिने।एकपैरसेदिव्यांगजितेंद्रदूसरीबारवार्डसदस्यपदपरनिर्वाचितहुएहैं।वेबहुतहीगरीबपरिवारसेआतेहैं।उन्होंनेपांचनंबरवार्डसेवार्डसदस्यकाचुनावलड़ातथाजनतानेउन्हेंअपनावार्डसदस्यचुनलिया।पूर्वमेंभीवेपांचवर्षोंतकवार्डसदस्यरहेहैं।वेवार्डसदस्यकेसाथ-साथशराबबंदीऔरकोरोनाकोलेकरलोगोंकोजागरूकभीकररहेहैं।अपनेवार्डमेंघूम-घूमकरशराबनपीनेकोलेकरजागरूकएवंलोगोंकोसमझानेकाभीकामकररहेहैं।हालांकिइनकेपिताभीमजदूरीकरतेहैं।घरकीआर्थिकस्थितिखराबरहनेकेकारणपरिवारचलानेमेंकाफीकठिनाइयोंकासामनाकरनापड़ा।मगरअपनीमेहनतकीबदौलतवेअपनेबच्चेकोपढ़ाईकेलिएविद्यालयभेजतेहैं।जितेंद्रकाकहनाहैकिएकसमयथाजबमेरेदिव्यांगताकासमाजमेंमजाकउड़ायाजाताथा।आजअपनीमेहनतएवंकठिनपरिश्रमकीबदौलतसमाजमेंप्रतिष्ठामिलरहीहै।जितेंद्रऋषिकोएकपुत्रएवंतीनपुत्रीहै।जितेंद्रबतातेहैंकिवार्डमेंपिछलेवर्षविकासकेकामकिएथे,इसलिएपुन:मुझेयहांकीजनतानेदोबारावार्डसदस्यबनाया।

बतादेंकिकिसीभीजागरूकताकार्यक्रमकोलेकरवेहमेशातत्पररहतेहैं।शराबनापिएं,बच्चोंकोस्कूलभेजें।इसतरहकाजागरूकताउनकेद्वाराचलायाजारहाहै।इधरपंचायतकेपूर्वमुखियाप्रतापसिंह,नंदलालऋषि,रंजीतमंडल,सिघेश्वरऋषि,चंदनमंडलआदिलोगोंनेकहाकिजितेंद्रऋषिएकदिव्यांगहोतेहुएभीसमाजकेप्रतिअपनीजवाबदेहीकानिर्वहनकररहाहै।इनसेदूसरेलोगोंकोभीसबकलेनाचाहिए।