शिक्षक का जुनून : स्कूल को बना दिया औषधियों, फलों व प्रतिभाओं का खजाना

-सबहेड:साइंसटीचरजसवीरसिंहनेग्रामीणोंकेसहयोगसेसाढ़ेतीनलाखरुपयेखर्चकरतूतस्कूलकाकियासुंदरीकरण

-240गमलोंमेंऔषधीयगुणोंवालेपौधेलगाए

-35प्रकारकेस्कूलमेंलगेफलदारपौधोंकेफलोंकासेवनकरतेहैंविद्यार्थी

प्रदीपकुमार¨सह,फिरोजपुर:17सालपहलेसाइंसटीचरकेरूपमेंअध्यापनशुरूकरनेवालेस्टेटअवॉर्डीजसवीर¨सहनेअपनेजुनूनसेगांवतूतकेसरकारीहाईस्कूलकोऔषधियों,फलोंवप्रतिभाओंकाखजानाबनादियाहै।साढ़ेपांचएकड़केस्थापितस्कूलकोसुंदरवआकर्षकबननेकेलिएसाढे़तीनलाखरुपयेकीलागतआई।इसमेंएकलाखरुपयेजसवीरनेस्वयंदिए,जबकिढाईलाखरुपयेग्रामीणोंनेसहयोगस्वरूपएकत्रितकिए।इसधनराशिसेस्कूलमें240गमले,टाइल्सवपार्ककाविकासकियागया।स्टैंडपरलगाएगएगमलोंमें120औषधीयगुणोंवालेपौधेलगाएगएहै।स्कूलपरिसरकोहरा-भराबनानेकेलिए650फलदारवछायादारपौधेलगाएगएहैं।स्कूलपरिसरमें35प्रकारके350फलवालेपौधेहैं।इनमेंलगनेवालेफलोंकासेवनस्कूलकेहीविद्यार्थीकरतेहैं।

दससालसेरिजल्टआरहाशत-प्रतिशत,पढ़ाईमेंकमजोरबच्चोंस्कूलस्टाफदेताहैनि:शुल्ककोचिंग

दससालसेजसवीर¨सहस्वयंवस्कूलकेअन्यअध्यापकोंकेसहयोगसेनवंबरसेमार्चमहीनेतकनि:शुल्कसुबह-शामपढ़ाईमेंकमजोरविद्यार्थियोंकोकोचिंगदेरहेहैं।इसकेफलस्वरूपपिछलेदससालसेस्कूलकापरीक्षापरिणामशत-प्रतिशतरहाहै।पिछलेपांचसालोंसेस्कूलकेसभीविद्यार्थीदसवींकक्षामेंप्रथमश्रेणीमेंपासहोरहेहैं।स्कूलकेविद्यार्थियोंकोप्रेरणालेनेकेलिएस्कूलमेंजगह-जगहपरप्रतिभासंपन्नविद्यार्थियोंकीफोटोलगाईगईहैं।इसमेंपढ़ाई,खेलवदूसरीगतिविधियोंमेंअच्छाप्रदर्शनकरनेवालेविद्यार्थीशामिलहैं।

हैंडबॉलकेकईनेशनलस्तरकेखिलाड़ीस्कूलसेनिकले

शिक्षकजसवीरसिंहनेबतायाकिउनकेस्कूलसेहैंडबॉलकेकईनेशनलस्तरकीखिलाड़ीनिकलेहैं।स्कूलमेंकिएगएकार्यऔरउनकेलगनवसमर्पणकोदेखतेहुएराज्यसरकारद्वारा2013मेंउन्हेंस्टेटअवॉर्डसेसम्मानितकियागयाथा।उनकालक्ष्यहैकिउनकेस्कूलमेंआनेवालेसभीविद्यार्थीपढ़ाई,खेलयाअन्यक्षेत्रोंमेंअन्यविद्यार्थियोंसेआगेरहें,जिसकेलिएवहलगातारप्रयासरतहै।स्कूलकेलगातारअच्छेप्रदर्शनकोदेखतेहुएस्कूलमेंवेरकाद्वारालगभगसातलाखरुपयेकीलागतसेहैवीक्षमताकाआरओप्लांटलगायागयाहै,ताकिविद्यार्थियोंकोशुद्धपेयजलउपलब्धहोसके।

दोसालपहलेउन्हेंविभागकीओरसेस्कूलकाचार्जदियागयाथा।वर्तमानमेंस्कूलमेंविद्यार्थियोंकीकुलसंख्या135है।स्कूलमेंपढ़ानेकेलिएउन्हेंछोड़करसभीनौशिक्षकमहिलाएंहैं।उन्होंनेबतायाकिराष्ट्रीयस्तरपरग्रीनस्कूलप्रोग्रामकेतहतउनकास्कूलदेशभरमेंतीसरेनंबरपररहाहै,जबकिइससमयभीउनकास्कूलराष्टीयप्रोग्रामपर्यावरणमित्रालहरकेतहतकार्यकररहाहै।

-जसवीरसिंह,स्टेटअवॉडीटीचर,तूतस्कूल

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!