शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्र में सेवा बढ़ाकर रोकना होगा मतांतरण

रांची,[संजयकुमार]।शिक्षाऔरस्वास्थ्यदोऐसेक्षेत्रहैंजिनमेंईसाईमिशनरियांवर्षोंसेसक्रियहैं।पवित्रभावसेस्कूलऔरअस्पतालचलानेवालोंकीकमीनहीं,तोइसकीआड़मेंअधिकसेअधिकमतांतरणकीमंशापूराकरनेवालेभीपूरेदेशमेंभरेपड़ेहैं।लक्षितवर्गकोदानाभीयहींसेफेंकाजाताहै।बच्चेमिशनरीस्कूलमेंदाखिलालेंयाकोईपीडि़तइनकेअस्पतालमेंभर्तीहो,मतांतरणकाहितसाधनेवालेलोगयहींसेइनकेपीछेपड़जातेहैं।

बहरहाल,इनक्षेत्रोंमेंसेवाकरकेहीसमाजकोएकजुटरखाजासकताहैयहहिंदूसंगठनोंनेभीमहसूसकियाहै।गांवोंमेंराष्ट्रीयस्वयंसेवकसंघ(आरएसएस)केअनुषांगिकसंगठनोंनेएकलविद्यालय,आरोग्यसेवाकेंद्र,अस्पताल,स्कूलआदिखोलेतोहैं,लेकिनईसाईमिशनरियांयहांबहुतआगेहैं।तेजीसेयहांकामकरनाहोगा,सुदूरइलाकोंमेंसेवाभावऔरबढ़ानाहोगा।

राष्ट्रीयसेवाभारतीकेपदाधिकारीगुरुशरणप्रसादकमीस्वीकारकरतेहुएकहतेहैंकिहमनेजिनइलाकोंमेंजरूरतमंदोंकीसेवाशुरूकीहैवहांमतांतरणमेंकमीआईहै।यहांसभीसंगठनोंकोजोरलगानाहोगा।मिशनरीवालेगरीबबच्चोंकोपहलेटारगेटकरतेहैं,उनकेघरपहुंचबच्चेकादाखिलानिश्शुल्कआवासीयविद्यालयमेंकरानेकीबातकरतेहैं।दाखिलेकेबादघरआते-जातेप्रभावमेंलेकरइनकामतांतरणकरादियाजाताहै।

इसीतरहअस्पतालमेंकिसीपीडि़तकाइलाजकरानेकेबादउसकामतांतरणकरायाजाताहै।गुरुशरणकहतेहैं,हमारीसंस्थाओंकेस्कूलऔरअस्पतालहोंतोलोगोंकोइसमकडज़ालसेबचायाजासकताहै।समाजकेलोगोंसेअपीलकीकिअपनेआसपासकेजरूरतमंदोंपरनजररखेंऔरउनकीमददकेलिएअधिकसेअधिकआगेआएंताकिसमाजकोटूटनेसेबचायाजासके।धर्मछोडऩेवालोंऔरसमाजकेहरतबकेमेंजागरुकताभीबढ़ानीहोगी।

सुनीनहींजारहीशिकायत

सेवाक्षेत्रएकबात,एकऔरसवालयहउठताहैकिमतांतरणरोकनेकेलिएकानूनहैतोलोगआवाजक्यूंनहींउठाते।सामाजिककार्यकर्ताप्रियामुंडाकहतीहैं,हमचुपनहींबैठेहैं।जैसेहीकिसीमामलेकीजानकारीमिलतीहैपुलिसतकशिकायतपहुंचातेहैंलेकिनहमारीबातनहींसुनीजारही।

खूंटीजिलाकेतोरपास्थितपनढरियागांवमेंमतांतरणमेंलगेपादरियोंसेमैंनेबपतिस्माप्रमाणपत्रमांगा,इसमेंअंकितरहताहैकिआपनेकबकिसकामतांतरणकराया।इसबातपरबहसहुईऔरपादरीवहांसेनिकलभागे।थानेमेंजबइसकामामलापहुंचातोसमझौतेकादबावपड़ा।देररातएकबजेतकमुझेथानेमेंबिठाकररखागया।प्रियाकहतीहैं,ऐसाहीहोरहाहै।शिकायतकरनेवालोंकोपरेशानकियाजाताहै।