शहरी जीवन के लिए नासूर बन गई पॉलीथिन

सुलतानपुर:आमजीवनमेंपॉलीथिनकीघुसपैठथमनहींरहीहै।खरीदारीमेंइसकाखुलेआमप्रयोगजारीहै।वहींउपयोगहोनेकेबादसार्वजनिकस्थानोंपरकचराकेरूपमेंइनकाजखीरापर्यवरणकोतहस-नहसकररहाहै।इसेजलाएजानेसेजहरीलाधुंआजनस्वास्थ्यकोनुकसानपहुंचारहाहै।वहींकचरेमेंपड़ीपॉलीथिनमवेशीखाकरमौतकाशिकारहोरहेहैं।प्रतिबंधकेबावजूदप्रभावीकार्रवाईनहोनेसेयहशहरीजीवनकेलिएनासूरबनगईहै।

पिछलेकरीबएकदशकसेपॉलीथिनबैगकेप्रयोगमेंरिकार्डतेजीआगई।आमलोगोंकोयहसामान्यतौरपरयहज्यादासुविधाजनकमहसूसहोनेलगीहै।ऐसेमेंप्रतिबंधितपॉलीथिनसेजनसामान्यकामोहभगनहींहोरहाहै।लोगबादमेंइसकेदुष्परिणामकेप्रतिसजगनहींहैं।इससेपर्यावरणकेलिएभीयहघातकसाबितहोरहीहैहरमुहल्लेमेंलगाहैजखीरा:

-पॉलीथिनकाप्रयोगइतनीतेजीसेबढ़ाकिअबहरमुहल्लेमेंखालीप्लाटउससेपटगएहै।हालातयहहैकिनदीकेतट,नालोंकेकिनारोंकेबादखेलकेमैदानोंपरइन्हेंडंपकियाजारहाहै।गोलाघाटस्थितगोमतीनदीकेदोनोंपुलोंकेदक्षिणीतटोंकोयहांसेप्रतिदिननिकलनेवाले53एमटीकचरेसेपाटदियागयाहै।इसकूड़ेमेंभारीमात्रामेंपॉलीथिनहै।स्थितियहहैकिनालोंमेंइतनीअधिकपॉलीथिनहैकिउनकाबहावतकरूकजाताहै।जलाकरपाईजातीहैनिजात:

पॉलीथिनकेढेरसेनिजातपानेकेलिएजिम्मेदाररातकेअंधेरेमेंइसेआगकेहवालेकरदेतेहैं।इसकेजलनेसेउठनेवालीहानिकारकगैसेंस्वास्थ्यकेसाथपर्यावरणकोनुकसानपहुंचारहीहै।कईमुहल्लोंमेंघनीआबादीकेबीचइन्हेंजलानेकोलेकरकईबारविवादकीनौबतबनजातीहै।वहींसड़कोंकेकिनारेबनेकूड़ाडंपिगस्थलोंपरबेसहारामवेशीभोजनकीतलाशमेंइनकेढेरमेंपॉलीथिनखाकरमौतकाशिकारहोरहेहैं।

नहींहोतीकठोरकार्रवाई:

प्रतिबंधितपॉलीथिनकेप्रयोगकोरोकनेकेलिएजिम्मेदारोंकीओरसेकार्रवाईनहींकीजातीहै।बीतेएकसालमेंपूरेजिलेमेंमात्र327किग्रापॉलीथिनकोहीजब्तकियाजासकाहै।इसबाबतअधिशाषीअधिकारीनगरपालिकाश्यामेंद्रमोहनचौधरीनेकहाकिसंक्रमणकेचलतेइसकेविरुद्धअभियाननहींचलाएगएअबइसेशुरूकियाजाएगा।