शहर से गांव तक कोरोना को पस्त करने की दिखी ²ढ़ता

अयोध्या:कोरोनासंक्रमणकीचेनतोड़नेकेलिएशुक्रवाररातआठबजेसेशुरूलॉकडाउनशनिवारकोपूरेदिनप्रभावीरहनेकेसाथकोरोनाकोपस्तकरनेकाहौसलाभीपरिभाषितकरनेवालारहा।यद्यपिलोगोंकोसड़कपरसमुचितकारणकेबिनानिकलनेसेरोकनेकेलिएहरनाका-नुक्कड़परपुलिस-पीएसीकेजवानतैनातथे,परउन्हेंअधिकमशक्कतनहींकरनीपड़रहीथी।शुक्रवारकीरातसेसोमवारकीसुबहकेबीच60घंटेकेलॉकडाउनकीघोषणासेलोगपहलेहीवाकिफहोचलेथेऔरइसअवधिमेंलोगोंनेआत्मानुशासनकापरिचयदेतेहुएस्वयंकोघरोंमेंहीकैदकरनामुनासिबसमझा।जोनिकलेवेलॉकडाउनसेपरिचितहोतेहीजल्दीसेजल्दीयथास्थानकीओरपहुंचतेदिखे।सुबहकेनौबजेहैं।अनेकमार्गों-उपमार्गोंकीबातदूरचौकघंटाघरभीसन्नाटेकेआगोशमेंसिमटादिखा।चौककेजिसकोणपरदिनउगनेकेसाथदिहाड़ीश्रमिकोंकीमंडीलगजातीहै,वहांपुलिसकेकुछजवानमुस्तैदीसेडटेनजरआतेहैं।दुकानोंकीजोपांतखुलनेकीप्रक्रियामेंसुबहकेनौ-10बजते-बजतेसरगर्महोजातीहैं,बंदपड़ेतालोंऔरसामनेपसरीशून्यताकेसाथजैसेअपनेभविष्यकीमुनादीकरतेनजरआतेहैं।वहयहकिकोरोनासंकटकेबीचऐसेलॉकडाउनऔरशत-प्रतिशतबंदीकेअभीआगेऔरभीदौरदेखनेहैं।मौजूदालॉकडाउनभीकोईएकदिनकानहींहै।रविवारकोभीचौककीहीदुकानोंकोहीनहीं,बल्किपूरेप्रदेशकोलॉकडाउनकाअनुपालनकरनाहै।हालांकिलोगलॉकडाउनकेअनुपालनकाजैसेमनबनाचुकेहैं।दुकानेंबंदथीहीं,लोगरोजमर्राकीजरूरतकेलिएसड़कपरकिसीतरहकीदौड़ा-भागीभीकरतेनजरनहींआए।चौकसेलेकरदूर-दराजमुहल्लोंतककेमार्गलॉकडाउनकीगवाहीदेतेरहे।पुरानीसब्जीमंडीमेंमुस्लिमलीगकेकार्यवाहकप्रांतीयअध्यक्षएवंपेशेसेचिकित्सकडॉ.नजमुलहसनगनीउनइक्का-दुक्कालोगोंकोझारमेंहीकैछहोनेकीताकीददेरहेहोतेहैं।लॉकडाउनकेप्रतिइसतत्परताकोस्पष्टकरतेहुएवेकहतेहैं,देखते-देखतेकोरोनाअपनोंकोलीलरहाहैऔरयदिअबभीनचेतेतोयहमहामारीमानवजातिकोतबाहकरदेगी।कोरोनासेलड़नेकीऐसीहीप्रतिबद्धतारामनगरीमेंभीबयांहोतीहै।नगरीकाह्रदयमानेजानेवालेहनुमानगढ़ीचौराहाकेचारोंओरजातीसड़कसन्नाटेमेंडूबीदिखतीहै।इक्का-दुक्कालोगकुछ-कुछअंतरालपरजरूरनजरआतेहैं,परचहुंओरसन्नाटाऔरचौराहेपरपुलिसकेजवानोंकोदेखकरवेवापसलौटजानेमेंहीभलाईसमझतेहैं।कुछचौराहापारकरनेकीभीहिम्मतदिखातेहैं,तोउन्हेंपुलिससेझिड़कीमिलतीहै।पुलिसकेजवानयत्र-तत्रनजरआनेवालेबाइककाचालानकरभीलॉकडाउनसुनिश्चितकरारहेहोतेहैं।लॉकडाउनकेअनुपालनमेंनगरीकेप्राय:सभीप्रमुखमार्गोंसहितअनेकआंतरिकमार्गएवंमठ-मंदिरभीसन्नाटेमेंडूबेरहे।हनुमानगढ़ीएवंकनकभवनजैसेश्रद्धालुओंसेप्राय:गुलजाररहनेवालेमंदिरोंपरभीश्रद्धालुढूंढ़ेनहींमिलते।कोईऔरमौकाहोता,तोयहसन्नाटाआहतकरता,परकोरोनासेनिपटनेकेमोर्चेपरयहकामयाबीप्रतीतहोताहै।ग्रामीणक्षेत्रोंमेंभीलॉकडाउनकीकामयाबीपरिभाषितहुई।ग्रामीणोंनेमार्गोंऔरशहरोंकीओरजानेसेजुड़ेकार्योंकोमुल्तवीकरखेत-खलिहानोंकीओररुखकिया,जहांअपनेहिस्सेकाकामकरतेहुएशारीरिकदूरीकासहजतासेअनुपालनभीसुनिश्चितहोतारहा।