सहेज रहे जल, ताकि सुरक्षित रहे कल

पारुलरांझा,नोएडा:

जलहीजीवनहै।बिनाजलकेजीवनकीकल्पनानहींहोसकती।जलसंरक्षणसबकीजिम्मेदारीहै।येसबकुछजानतेहुएभीलोगबेतहाशाजलकीबर्बादीकरतेहैं।इनकेलिएप्रेरणाकास्रोतबनकरउभरेहैंसेक्टर34स्थितअरावलीअपार्टमेंटकेनिवासी।अपनेघरसेजलसंरक्षणकीशुरुआतकरलोगोंकोभीइसकेलिएप्रेरितकररहेहैं।इससोसायटीमेंरहनेकरीब50फीसदलोगअपनेघरकेआरओसेप्रतिदिनव्यर्थबहनेवालेपानीकाप्रयोगसफाईकार्य,बर्तनववाहनधुलाईमेंकरतेहैं।इसजलकासंरक्षणकरवेलोगोंकेसामनेबेहतरीनउदाहरणप्रस्तुतकररहीहैं।जलस्तरकोबढ़नेकेलिएकररहेजागरूक

सोसायटीकेआरडब्ल्यूएअध्यक्षधर्मेंद्रशर्मानेबतायाकिघरोंसेनिकलेजलऔरवर्षाजलकेसंरक्षणकेलिएअभीसेकदमनउठाएगए,तोबूंद-बूंदजलकोतरसनापड़ेगा।आरओसेनिकलेपानीकोसहीजगहइस्तेमालकरनाजरूरीहै।आरओचारलीटरपानीमेंसिर्फएकलीटरपानीशुद्धकरताहै,जबकितीनलीटरपानीव्यर्थबहजाताहै।इसबारेमेंनिवासियोंकोजागरूककियागया।आजसोसायटीमें300परिवारमेंकरीब150परिवारपानीकोबालकनीमेंलगेपौधोंकोसींचने,घरकीसाफ-सफाई,गाड़ीवबर्तनधोनेमेंप्रयोगकरतेहै।वाटरहार्वेस्टिगकेलिएभीजागरूककियाजारहाहै।आरओसेनिकलापानीकरतेहैंटंकीमेंस्टोर

धर्मेंद्रशर्मानेबतायाकिआरडब्ल्यूएनेसोसायटीकेबाहरजरूरतमंदोंकेलिएआरओसिस्टमलगायागयाहै।शुद्धएवंशीतलजलसेलोगअपनीप्यासबुझातेहैं।आरओसेनिकलनेवाले700से800लीटरपानीटंकीमेंस्टोरकियाजाताहै।सोसायटीकेलोगइससेवाहनोंकीसफाईकरतेहैं।रेहड़ीवालेभीप्रयोगकरतेहैं।छोटे-छोटेकदमउठाकरआसानीसेजलसंरक्षणकियाजासकताहै।इसकेलिएजागरूकताकीजरूरतहै।सभीकोघरसेइसकीशुरुआतकरनीचाहिए,ताकिहमजलकेसाथकलकोभीसुरक्षितरखसकें।