सहायताप्राप्त अशासकीय डिग्री कॉलेजों और सरकार के बीच खत्म नहीं हो रही रार, तो अनुदान पर कोर्ट से समाधान

रविंद्रबड़थ्वाल,देहरादून।सहायताप्राप्तअशासकीयडिग्रीकॉलेजोंऔरसरकारकेबीचरारखत्मनहींहोरहीहै।कॉलेजएचएनबीगढ़वालकेंद्रीयविश्वविद्यालयकेसाथसंबद्धताछोड़नेकोतैयारनहींहैं।विभागीयमंत्रीडॉधनसिंहरावतनेएलानकरदियाकिसंबद्धतानहींतोअनुदानभीनहीं।मामलाअबपेचीदाहोगयाहै।मान-मनुहारसेनहींमाननेवालेकॉलेजोंसेमंत्रीजीगुस्साएहुएहैं।केंद्रसरकारकोचिट्ठीभेजीगईहैकिअशासकीयकॉलेजोंकोसंबद्धरखनाहैतोकेंद्रसरकारखुदअनुदानदे।कॉलेजजबराज्यसरकारसेजुड़ेहीनहींहैंतोउन्हेंअनुदानक्योंदियाजाए।इनकॉलेजोंकेशिक्षकोंवकर्मंचारियोंकेसंगठनअदालतमेंजानेकीचेतावनीदेरहेहैं।अंदरखानेप्रदेशसरकारखुदचाहरहीहैकियेमामलाकिसीतरहअदालततकपहुंचे।उसेउम्मीदहैकिअदालतमेंदूधकादूधऔरपानीकापानीहोनेपरकॉलेजोंपरनियंत्रणकामसलासुलझजाएगा।

ऊपरवालेकीसेवापरभरोसा

शिक्षाविभागमेंअपरनिदेशककेनौपदखालीहैंऔर23अधिकारीपदोन्नतिकेलिएकतारमेंखड़ेहैं।प्रशासनिकसंवर्गकेइनअधिकारियोंकीपदोन्नतिज्येष्ठतानहीं,बल्किश्रेष्ठताकेआधारपरहोनीहै।कामकाजमेंबेहतरप्रदर्शनज्येष्ठतापरभारीपड़सकताहै।नियमतोसाफ-सुथरेहैं,लेकिनलोचाकहींऔरहै।सत्ताकेगलियारोंमेंसबकुछनियमोंकेमुताबिकहीहो,अक्सरऐसाहोताकमहीदेखागयाहै।अपरनिदेशकपदकेलिएडीपीसीकीचर्चाशुरूहोतेहीगणेशपरिक्रमामेंआगेरहनेवालोंमेंइनदिनोंखासचमकदिखाईदेरहीहै।ज्येष्ठताऔरश्रेष्ठताकेफेरमेंपड़ेगैरउन्हेंंइसबातकापूराभरोसाहैकिनियम-कानूनव्यर्थहोसकतेहैं,लेकिनऊपरवालोंकीमनोयोगसेकीगईसेवाव्यर्थनहींजाती।सेवाकामेवामिलनेकेप्रतिआश्वस्तिकाभावगजबहै।यहीहैसिद्धपरंपरापरआस्था।

बीआरपीऔरसीआरपीबननेकोमारामारी

समग्रशिक्षाअभियानकेतहतप्राथमिकऔरउच्चप्राथमिकविद्यालयोंकीमॉनीटरिंगकोब्लॉकरिसोर्सपरसनऔरक्लस्टररिसोर्सपरसनबननेकोलेकरशिक्षकोंमेंमारामारीमचीहै।प्रदेशमेंबीआरपीऔरसीआरपीके955पदोंपरतैनातीहोनीहै।सरकारनेसमग्रशिक्षाकेनएढांचेमेंशामिलउक्तपदोंपरतैनातीकाफैसलाअभीनहींकिया।इनपदोंकेमानदेयकेरूपमेंकेंद्रनेकाफीकमवेतनराशिदेनेपरहामीभरीहै।प्रदेशसरकारकोइसपरआपत्तिहै।ऐसेमेंपदभरेजाएंगेयानहीं,संशयबरकरारहै।इसकेबावजूदशिक्षकइनपदोंपरतैनातीकोपूराजोरलगाएहुएहैं।इसतैनातीकोपानेकालाभयेहैकिदूरदराजवअतिदुर्गमविद्यालयोंमेंतैनातीकीचिंतासेमुक्तिमिलजातीहै।साथमेंब्लॉकमुख्यालयोंमेंबैठकरशिक्षकोंकीराजनीतिभीकरोऔरप्रतिद्वंद्वीसंगठनोंकीगतिविधियोंपरपूरीनजरबनाएरखो।

खुलगईउच्चपदोंकीराह

तकनीकीशिक्षानिदेशालयकेदिनबहुरनेलगेहैं।उच्चपदोंपरपदोन्नतिकारास्ताखुलनेसेविभागीयअधिकारियोंमेंसंतोषकाभावदिखाईपड़ताहै।लंबेअरसेतकनिदेशककेपदपरआइएएसकाबिजरहेहैं।कुछसमयपहलेतकयहकल्पनाकरनाकठिनथाकिविभागीयअधिकारीनिदेशकभीबनसकताहै।सरकारनेइसकल्पनाकोहकीकतबनाकरडीपीसीकेजरियेपहलेविभागीयनिदेशककीतैनातीकी।इसकेबादपदोन्नतिसेअपरनिदेशकबने।हालहीमेंविभागाध्यक्षोंऔरप्राचार्योंंकोसंयुक्तनिदेशककेरिक्तपदोंपरपदोन्नतिकेतोहफेसेनवाजागया।परीक्षानियंत्रककापदभीपहलीदफापदोन्नतिसेभरागया।तकनीकीशिक्षामेंनीतिगतबदलावकाअसरविभागीयकामकाजपरदिखाईदेरहाहै।कमछात्रसंख्याकीवजहसेसरकारनेकुछपॉलीटेक्निकबंदकरनेकानिर्णयकियाथा,इसेटालदियागया।इसफैसलेकेपीछेइन्हींविभागीयअधिकारियोंकाहीदिमागहै।

यहभीपढ़ें:उत्तराखंड:शिक्षकोंकीसमस्याओंकेसमाधानकेलंबे-चौड़ेदावेफेल,तीनमाहबादभीनहींबनीसंयुक्तसमिति