सहालग में दगा दे रहे बैंकों के एटीएम

संवादसूत्र,जय¨सहपुर(सुलतानपुर):सहालगकावक्तहै।लोगोंकोमांगलिककार्यकेलिएपैसोंकीसख्तजरूरतहै।पर,नबैंकमेंकैशहैऔरनहीएटीएममेंरुपया।लोगएकएटीएमसेदूसरेएटीएम,बैंक-दर-बैंकभीषणगर्मीमेंचक्करलगारहेहैं।वहींखेती-किसानीकेलिएभीजरूरतकाधनकिसानबैंकसेनहींनिकालपारहेहैं।

तहसीलक्षेत्रकेबरौंसाबाजारमेंएसबीआई,बैंकऑफबड़ौदा,इंडियाफ‌र्स्टएवंजय¨सहपुरमेंकेनरावग्रामीणबैंककाएटीएमलगाहै।इसकेअलावामोतिगरपुरएवंगोसाईंगंजमेंभीएटीएममशीनेंलगीहुईहै।जोमहजशोपीससाबितहोरहीहैं।गुरुवारकोजरूरतमंदजबइनएटीएममशीनोंतकपहुंचेतोकहींसर्वरकीसमस्या,तोकहींबैलेंसनहोनेकीवजहसेउन्हेंखालीहाथवापसलौटनापड़ा।कैशकीकिल्लतसेलोगोंकोभारीअसुविधाकासामनाकरनापड़रहाहै।मार्चमहीनेसेहीबैंकरूपएकीकमीकारोनारोरहेहैं।जिसकेचलतेजरूरतमंदोंकोउनकेजरूरतकेमुताबिकपैसानहींमिलपारहाहै।अप्रैलमाहमेंअचानककैशकीकिल्लतसेखाताधारकोंकोपैसानहींमिलपारहाहै।क्षेत्रमेंलगेएटीएमसेभीजनताकोराहतनहींमिलरहीहै।प्रतिदिनबैंककीशाखाओंमेंधननिकासीकेलिएघंटोंलाइनलगाकरखड़ीजनताकोनिराशहोकरवापसलौटनापड़रहाहै।खाताधारकोंकीसुविधाकेलिएखुलेग्राहकसेवाकेंद्रोंपरभीसन्नाटापसराहै।