सब्जी उत्पादन से महिलाओं की बढ़ी आमदनी

जागरणसंवाददाता,बागेश्वर:महिलाओंकोपरिवारकीरीढ़कहाजाताहैलेकिनपहाड़कीमहिलाएंइसकेइतरभीबहुतकामकररहीहैं।घरकेतमामकामोंकेबादवहखेतीबाड़ीकररहीहैं।अबपरिवारकीआमदनीबढ़ानेकेलिएवहसब्जियोंकेउत्पादनमेंजुटगईंहैं।घिरौलीगांवकीमहिलाएंपरिवारकीआयबेहतरकरनेमेंजुटीहैंऔरसब्जीउत्पादनसेवर्षभरमेंएकलाखरुपयेतककमानेलगीहैं।वहअन्यमहिलाओंकेलिएप्रेरणास्त्रोतभीबनगईहैं।नगरपालिकाक्षेत्रसेसटेघिरौलीगांवमेंसब्जियोंकाउत्पादनबढ़ानेकेलिएउद्यानविभागअच्छीमेहनतकररहाहै।किसानोंकोबीजकेअलावाखादऔरकीटनाशकउपलब्धकरारहाहै।जिसकारणकिसानोंकीआयलगातारबढ़रहीहै।गांवकीशशिकलारावतदसनालीभूमिपरसब्जियोंकीखेतीकररहीहैं।कृषिकार्यमेंउनकापरिवारउन्हेंहरसंभवमददकररहाहै।उनकेखेतोंमेंइसबीचफूलऔरबंदगोभीकीफसललहलहारहीहै।उन्होंनेबतायागाय,भैसभीपालीहैं।गोबरसेवहखादबनारहीहैं।उसखादकाउपयोगसब्जियोंमेंरहाहै।जिससेजैविकखेतीकोबढ़ावामिलरहाहै।गोमूत्रकाउपयोगकीटनाशककेतौरपरकररहीहैं।उन्होंनेबतायासब्जियोंखरीदनेकेलिएलोगघरपरहीआरहेहैं।अभीतकवहतीसहजारकीगोभीबेचचुकीहैं।उन्होंनेबतायावर्षमेंसब्जियोंसेउनकीआयलगभगएकलाखतकहोनेलगीहै।इसकेअलावागांवकीदयमंतीरावत,गीतादेवीभीसब्जीउत्पादनकरअपनीआमदनीबढ़ारहीहैं।इसबीचउनकेखेतोंमेंबंदगोभी,मटर,टमाटरकेअलावाप्याजऔरलहसूनकीफसलहोरहीहै।उन्होंनेकहाकिउद्यानविभागकीमददसेउन्हेंबीज,खादऔरकीटनाशकमुहैयाकराएजारहेहैं।अलबत्तागांवमेंहोरहीजैविकसब्जीकेतमामलोगभीदीवानेहोनेलगेहैं।बाजारपहुंचनेतकसब्जीघरपरहीबिकनेलगीहै।उन्होंनेबतायाकिअभीतकवह20-20हजाररुपयेकीसब्जियांबेचचुकीहैं।उन्होंनेकहाअन्यलोगभीअबनकदीफसलोंकीतरफबढ़रहेहैंऔरआíथकस्थितसुधररहीहै।

==========-वर्जन-घिरौलीगांवकीमहिलाओंकीमेहनतरंगलारहीहै।वहसब्जीउत्पादनमेंअहमभूमिकानिभारहीहैं।उद्यानविभागउन्हेंहरसंभवमददकरेगा।बीजआदिनिश्शुल्कदियाजाएगाऔरअच्छीउत्पादनकरनेवालीमहिलाओंकोसम्मानितभीकियाजाएगा।-आरकेसिंह,जिलाउद्यानअधिकारी,बागेश्वर।