सावधान, सड़क हादसों से बढ़ रहे हेड इंजरी और ब्रेन डैमेज के मामले Aligarh news

अलीगढ़,जेएनएन:ट्रामेटिकहेडइंजरीवब्रेनडैमेजकेबढ़तेमामलोंनेचिकित्साजगतकीचिंताबढ़ादीहै।इससेकईमरीजआजीवनइसबीमारीकीजकड़मेंआजातेहैं।लिहाजा,ऐसेकिसीमरीजकोसुरक्षितबचानेकेलिएगोल्डनपीरियडकेअंदरउसेअस्पतालपहुंचानेकेबारेमेंजागरूकताफैलानाबेहदजरूरीहोगयाहै।विशेषज्ञोंकेअनुसारइनसेबचनेकेलिएसुरक्षाकेसभीउपायकिएजानेजरूरीहैं।अन्यथाचोटिलहोनेकेबादजटिलताएंबढ़तीजातीहैं।

सुरक्षाउपकरणोंकाहोसहीइस्तेमाल

सड़कपरहोनेवालीदुर्घटनाओंकेकारणहेडइंजरीकेमामलेज्यादाहोतेहैं।इसलिएलोगोंकोसुरक्षाकेसभीनियमोंकापालनकरनाचाहिए।इसबीमारीसेबचनेकायहीएकमात्रविकल्पहै।इसेध्यानमेंरखतेहुएमैक्सहास्पिटलपटपड़गंज,नेअलीगढ़ मेंयुवाचालकोंऔरदोपहियासवारियोंकोहेलमेट,सीटबेल्टजैसेसुरक्षाउपकरणोंकासहीइस्तेमालकरनेकोलेकरशिक्षितकरनेकेलिएएकजागरूकतासत्रचलारहाहै।इसमेंबतायाजारहाहैकिसुरक्षाउपकरणोंकासहीइस्तेमालदुर्घटनाकेदौरानमस्तिष्ककोक्षतिग्रस्तहोनेसेबचानेमेंअहमभूमिकानिभाताहै।

हादसोंकीस्थिति

सड़कपरिवहनऔरराजमार्गमंत्रालय(एमओआरटीएच)भारतसरकारकेआंकड़ोंकेमुताबिक,विश्वमेंसबसेखराबसड़कसुरक्षारिकॉर्डभारतकाहीहै।प्रतिदिनसड़कदुर्घटनाओंमेंलगभग400लोगोंकीमौतहोजातीहै,जबकिप्रतिदिनहोनेवाली1317सड़कदुर्घटनाओंमें60फीसदीमरीजहेडइंजरीकाशिकारहोतेहैं।इनदुर्घटनाओंकेमुख्यकारणोंमेंतेजगतिवाहनचलाना,नशेमेंवाहनचलाना(डीआइयू),लालबत्तीपारकरनेसेलेकरबेतरतीबऔरखतरनाकतरीकेसेवाहनचलानाऔरअसुरक्षिततरीकेसेलेनबदलनाशामिलहै।परिणामस्वरूपप्रतिदिनअस्पतालोंमेंमामूलीदुर्घटनासेलेकरगंभीरदुर्घटनाकेशिकारलोगोंकीसंख्याबढ़तीहीजारहीहै।

हादसोंकेबादयेभीसमस्याएं

मैक्सअस्पतालकेन्यूरोसर्जरीविभागकेवरिष्ठनिदेशकडा.अमिताभगोयलकहतेहैं,सड़कदुर्घटनायाट्रामायाकिसीअन्यकारणसेहोनेवालीहेडइंजरीस्थायीअपंगताकासबसेबड़ाकारणहै,जबकिसंज्ञानात्मकअपंगता,दृष्टिऔरबोलीखत्महोना,बहरापन,आंशिकसेगंभीरलकवा,न्यूरोलाजिकलतथान्यूरोसाइकियाट्रिकसमस्याएंऔरगंभीरमामलेभीमृत्युकाकारणबनसकतेहैं।पालीट्रोमाकेइलाजऔरक्रिटिकलकेयरकेक्षेत्रमेंहुईतरक्कीकेकारणगंभीरदुर्घटनाकेदौरानहेडइंजरीसेपीड़ितव्यक्तिकोभीनसिर्फबचायाजासकताहै,बल्किइलाजकेबादभीवेबेहतरक्वालिटीकीजिंदगीजीसकतेहैं।बशर्तेकिउन्हेंगोल्डनपीरियडकेदौरानअस्पतालपहुंचायाजाए।डा.गोयलकहतेहैं,'जाहिरहैकिबढ़तीदुर्घटनाओंकेकारणप्रतिदिनभारतीयअस्पतालदुर्घटनाकेशिकारलोगोंऔरघायलोंसेभरेहोतेहैंजिनमेंगंभीररूपसेजख्मीलोगभीहोतेहैं।देखागयाहैकिदुर्घटनाओंमेंहेडइंजरीकेशिकारलोगोंकोदेरीसेअस्पताललानेऔरइलाजमेंदेरीकेकारणज्यादानुकसानउठानापड़ताहै।ऐसेमरीजोंकीगंभीरताऔरमृत्युदरबढ़जातीहै।ऐसेमरीजोंकोयदिउचितसमयपरयाप्रभावीतरीकेसेइलाजनहींउपलब्धकरायाजाएतो50फीसदीसेज्यादामामलेस्थायीरूपसेअपंगताकेशिकारहोजातेहैं।