सामूहिक प्रयास से रामबाबू ने अधांव को बनाया पानीदार

प्रदीपद्विवेदी(बांदा):पेयजलवसिचाईकेपानीसंकटकेलिएमशहूरबुंदेलखंडअबनईइबारतलिखरहाहै।युवाकिसानोंकीपहलगांवोंकोपानीदारबनारहीहै।जिलेकेअधांवगांवमेंरामबाबूकेसामूहिकप्रयाससेप्राकृतिकजलस्त्रोतोंकासंरक्षणकियागया।बारिशकापानीरोकनेकेलिएमेड़बंदीकीगई।इसकानतीजायहहुआकिबारिशकेसंरक्षितहुएपानीसेगेहूंवअन्यफसलेंलहलहारहीहैं।

बबेरूक्षेत्रकेअधांवगांवमेंपहलेज्यादातरदलहनीवतिलहनीफसलेंहीहुआकरतीथीं।सिचाईकेलिएपानीकीकमीहोनेसेधानकीफसलकेलिएकभीकिसानसोंचतेभीनहींथे।गांवकेरामबाबूतिवारीनेगांवकोजलसंकटसेनिजातदिलानेकासंकल्पलिया।वहइलाहाबादविश्वविद्यालय,प्रयागराजकेशोधछात्रहैं।पढ़ाईसेसमयनिकालकरउन्होंनेगांवमेंपानीचौपाललगानीशुरूकी।चौपालकेमाध्यमसेलोगोंकोपानीकामहत्वबतायाऔरसंरक्षितकरनेकेतरीकेबताए।उनकेसाथकारवांजुड़तागयाऔरअभियानसफलहोताहोगया।दोवर्षमेंहीजलसंरक्षणकेसामूहिकप्रयाससेअधांवगांवजिलाहीनहींप्रदेशऔरदेशकेलिएरोलमाडलबनगया।रामबाबूनेखेतकापानीखेतमेंगांवकापानीगांवमिशनशुरूकिया।इसमेंकईगांवोंकेलोगोंकोजोड़ा।किसानोंनेहरतरफखेतोंमेंमेड़बंदीकी।तालाबोंवकुओंकोसंरक्षितकिया।कईनएतालाबखुदवाएगए।हैंडपंपोंमेंभूजलरीचार्जकोसोखतागड्ढेबनाएगए।अबअधांवगांवमेंपानीहीपानीहै।किसानोंनेबारिशसेसंरक्षितकिएगएपानीकीबदौलतधानकीखेतीशुरूकी।अबकरीबएकहजारहेक्टेअरमेंधानकीफसललहलहातीहै।इससेकिसानोंकोअच्छीआमदनीमिलेगी।साथहीगेहूंवदलहनीफसलोंकीभीसमयसेसिचाईहोनेउपजबेहतरहोतीहै।

वाटरहीरोजआवार्डसेसम्मानित

अधांवगांवनिवासीरामबाबूतिवारीनेजलसंरक्षणकेलिएजोप्रयासकिएवहरोलमाडलबनगया।प्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदीने27जूनकोमनकीबातमेंइसप्रयासकीजमकरतारीफकीथी।साथहीरामबाबूकोभारतसरकार,जलशक्तिमंत्रालयकीओरसेवाटरहीरोजअवार्डसेसम्मानितकियागयाहै।

येहैजलसंरक्षणमिशन

शोधछात्ररामबाबूतिवारीबतातेहैंकिमिशनकेतहतगांवमेंपांचवर्षोंसेखेतमेमेड़,खेततालाबकानिर्माण,पुरानेतालाबोंकापुनरुद्धार,सामूहिकश्रमदानकेमाध्यमकुआंकीसफाईऔरइनकेमाध्यमसेभूजलकारिचार्जकियागया।हैंडपंपकिनारेरिचार्जपिटकानिर्माणकराया,इनसभीमाध्यमोंसेगांवकेबरसातकेपानीकीएक-एकबूंदकासंरक्षणकिया।इससेगांवकाजलस्तरबढ़ाहै।गांवकीमिट्टीमेंनमीआईहै।

भूजलमेंइसतरहहुआसुधार

अधांवगांवमेंपहलेभूजलकास्तर150से160सामान्यदिनोंमेंरहताथा।2014-15मेंगर्मियोंकेमौसममेंयहांभूजलकास्तर200सेअधिकथा।वर्तमानमेंजलसंचयनकार्यकरनेकेबादसामान्यदिनोंमेंएक100से120फीटभूजलकास्तररहताहै।