सामरिक क्षमताओं को बढ़ाने पर काम कर रहा है भारत, खुद को तैयार रखना है प्राथमिकताः राजनाथ सिंह

बेंगलुरु:रक्षामंत्रीराजनाथसिंहनेगुरुवारकोकहाकिदुनियामेंआर्थिक,राजनीतिकऔररणनीतिकहालातबदलरहेहैंऔरबड़ीवैश्विकताकतेंआपसमेंजूझरहीहैं।सिंहनेकहाकिहमारीरक्षाजरूरतेंभीबढ़गईहैंऔरसैन्यबलोंकालगातारआधुनिकीकरणआजकीजरूरतहोगईहै।खुदकोतैयाररखनाहमारीशीर्षप्राथमिकताहैऔरहमअपनीरणनीतिकक्षमताओंकोबढ़ानेकेलिएलगातारप्रयासकररहेहैं।चाहेयहतकनीकहोयाउत्पाद,सेवाएंहोंयाफैसिलिटीजहों,उनकाआधुनिकीकरणऔरतेजविकासवक्तकीजरूरतहै।रक्षामंत्रीसिंहनेगुरुवारकोबेंगलुरू,कर्नाटकमेंरक्षाअनुसंधानएवंविकाससंगठन(डीआरडीओ)कीएकप्रयोगशालाएयरोनॉटिकलडेवलपमेंटइस्टैब्लिशमेंट(एडीई)मेंसातमंजिलाफ्लाइटकंट्रोलसिस्टम(एफसीएस)इंटिग्रेशनफैसिलिटीकाशुभारंभकरतेहुएयहटिप्पणीकी।उन्होंनेअपनेसंबोधनमेंकहा,खुदकोतैयाररखनाहमारीसर्वोच्चप्राथमिकताहैऔरहमअपनीसामरिकक्षमताओंकोबढ़ानेकेलिएलगातारकामकररहेहैं।सिंहनेकहा,इसअत्याधुनिकपरिसरकोरिकॉर्ड45दिनोंमेंबनायागयाहै,जोपरंपरागत,प्री-इंजीनियर्डऔरप्रीकास्टप्रणालीकेसाथहाइब्रिडप्रौद्योगिकीसेयुक्तहै।इसतकनीककोडीआरडीओनेलार्सनएंडटुब्रो(एलएंडटी)केसाथमिलकरविकसितकियाथा।डिजाइनऔरतकनीकसमर्थनआईआईटीमद्रासऔरआईआईटीरुड़कीकीटीमोंनेउपलब्धकरायाहै।उन्होंनेकहा,यहएफसीएसफैसिलिटीएडीई,बेंगलुरुद्वाराविकसितकिएजारहेफाइटरएयरक्राफ्टकेलिएएवियॉनिक्सऔरएडवांस्डमीडियमकॉम्बैटएयरक्राफ्टकेलिएएफसीएसकेलिएअनुसंधानएवंविकास(आरएंडडी)गतिविधियोंकेलिएसमर्थनदेगी।केंद्रीयरक्षामंत्रीनेकहाकियहनसिर्फदेशकेलिए,बल्किदुनियाकेलिएएकविशेषपरियोजनाहैऔरनएभारतकीनईऊर्जाकीप्रतीकहै।उन्होंनेभरोसाजतायाकियहफैसिलिटीराष्ट्रीयसुरक्षाकोबढावादेनेमेंएकलंबासफरतयकरेगी।उन्होंनेकहा,यहऊर्जासार्वजनिकक्षेत्र,निजीक्षेत्रऔरशिक्षाविदोंकेबीचप्रौद्योगिकी,प्रतिबद्धता,संस्थागतसहयोगहैऔरप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीद्वारापरिकल्पितआत्मनिर्भरभारतसेऊपरहै।परिसरकॉम्बैटएयरक्राफ्टकेपायलटोंकोसिम्युलेटरप्रशिक्षणभीउपलब्धकराएगा।राजनाथसिंहनेइसेपरिसरकेसबसेअहमकम्पोनेंट्समेंएकबतायाहै।उन्होंनेकहाकिसिम्युलेटरप्रशिक्षणसेकिसीप्रकारकेनुकसानकीसंभावनाकेबिनागलतियोंसेसीखनेकाएकअवसरमिलताहै।सिंहनेसशस्त्रबलों,वैज्ञानिकों,उद्यमियों,शिक्षाविदों,छात्रों,किसानोंऔरजनताकेबेहतरीतथाएकखुशहालवसमृद्धभविष्यकीतलाशसेजुड़ीकोशिशोंमेंसमर्थनदेनेकेसरकारकेसंकल्पकोदोहराया।उन्होंनेराष्ट्रीयसुरक्षाकोमजबूतीदेनेमेंडीआरडीओद्वारानिभाईजारहीअहमभूमिकाकेलिएसराहनाकरतेहुएकहा,दुनियामेंआर्थिक,राजनीतिकऔररणनीतिकहालातबदलरहेहैंऔरबड़ीवैश्विकताकतेंआपसमेंजूझरहीहैं।हमारीरक्षाजरूरतेंभीबढ़गईहैंऔरसैन्यबलोंकालगातारआधुनिकीकरणआजकीजरूरतहोगईहै।खुदकोतैयाररखनाहमारीशीर्षप्राथमिकताहैऔरहमअपनीरणनीतिकक्षमताओंकोबढ़ानेकेलिएलगातारप्रयासकररहेहैं।एफसीएसफैसिलिटी1.3लाखवर्गफुटक्षेत्रमेंबनीएकइमारतहै।45दिनमेंनिर्माणपूराकरनेकेसाथ,देशकेनिर्माणउद्योगकेइतिहासमेंपहलीबारहाइब्रिडनिर्माणप्रौद्योगिकीकेसाथएकस्थायीसातमंजिलाभवनकानिर्माणपूराकरनेकाएकअनोखारिकॉर्डबनगयाहै।हाइब्रिडनिर्माणप्रौद्योगिकीमें,ढांचेकेखंभेऔरबीमस्टीलकीप्लेटोंसेबनाएगएहैं।उद्घाटनकेदौरानकर्नाटककेमुख्यमंत्रीबसवराजबोम्मई,रक्षाअनुसंधानएवंविकाससचिवऔरडीआरडीओकेअध्यक्षडॉ.जी.सतीशरेड्डीऔरडीआरडीओऔरराज्यसरकारकेअन्यवरिष्ठअधिकारीभीउपस्थितथे।