साइबर अपराधियों का बढ़ा जाल, हांफ रही खाकी

श्लोकमिश्र,बलरामपुर:

साइबरअपराधकीजड़ेंदिनप्रतिदिनगहरीहोतीजारहीहै।आमजनकोआनलाइनठगीकाशिकारबनानेकेलिएसाइबरअपराधीनए-नएपैतरेआजमारहेहैं।जालसाजइंटरनेटमीडियावविभिन्नस्त्रोतोंसेलाभार्थियोंकामोबाइलनंबरखोजतेहैं।इसकेबादउन्हेंफोनकरकेउनकाआधारनंबर,बैंकखातावअन्यजानकारियांमांगलेतेहैं।जागरूकताकेअभावमेंलोगखातेसेसंबंधितजानकारीसाझाकरठगीकाशिकारहोरहेहैं।-साइबरअपराधोंकोरोकनेकेलिएयूंतोपुलिसमहकमाप्रचार-प्रसारमेंलगाहै,लेकिनअभीयहनाकाफीहै।जागरूकताकीकमीकेचलतेलोगजालसाजोंकेबहकावेमेंआकरठगेजातेहैं।वर्ष2021मेंअबतकआनलाइनधोखाधड़ीकेअनेकमामलेसामनेआएहैं।इनमेंचारआरोपितोंकोजेलभेजनेकेसाथहीबड़ीसंख्यामेंफर्जीइंटरनेटमीडियाखातोंकोबंदकरायागयाहै।एकसालकेअंदरसाइबरअपराधोंके20सेअधिकमामलेसामनेआचुकेहैं।इनमेंज्यादातरमामलेखातोंसेरुपयेनिकालेजानेकेहैं।वहींफर्जीफेसबुकखातोंसेयुवतियोंकामोबाइलनंबरसार्वजनिककरने,हनीट्रैपकेप्रयासकेभीमामलेआएहैं।पुलिसइसतरहकेअपराधियोंकीजड़तकपहुंचनेमेंएड़ी-चोटीकाजोरलगारहीहै।यहमामलेहैंबानगी:

-थानापचपेड़वानिवासीअवधेशचौधरीकेखातेसेएकलाख98हजाररुपयेअवैधतरीकेसेनिकाललिएगएथे।साइबरसेलकेप्रयाससेउसकेखातेमेंरुपयेवापसकराएगए।देहातकोतवालीनिवासीजटाशंकरसिंहसे32लाखरुपयेकीठगीकीगईथी।देहातकोतवालीवसाइबरसेलकीसंयुक्तटीमनेतीनआरोपितोंकोगिरफ्तारकरलिया।महराजगंजतराईकीप्रेमादेवीकेखातेसेचारलाख90हजाररुपयेनिकाललिएगए।यहपैसेआधारनंबरकेउपयोगसेनिकालेगएथे।गहनतासेपड़तालकेबादआरोपितसाइबरसेलकेहत्थेचढ़गया।इसीतरहगैंसड़ीनिवासीसगीरअहमदसेएकलाख20हजार,उतरौलाकेसूरजकुंवर10,601,बंगलौरकेसीआरमहेशकेखातेसेएकलाख,भगवतीगंजनिवासीप्रांजलगुप्तके9,899,यहींकेसंतोषववीरेंद्रके40हजार,पचपेड़वाकेभरतसे17,990वउतरौलाकेमहेशयादवसेतीनलाख693रुपयेकीठगीकीगईथी।सभीकेरुपयेखातोंमेंवापसकराएगए।

साइबरसेलकोदेंसूचना:

-एसपीहेमंतकुटियालकाकहनाहैकिसाइबरठगीकाशिकारहोनेपरभारतसरकारसेजारीनंबर155260परसूचितकरें।जिलेमेंसाइबरक्राइमसेसंबंधितकिसीभीसमस्याकेलिएसाइबरसेलकेमोबाइलनंबर9919639347व8896133050परसूचनादें।