साहब बाजार से निकला हुआ मुश्किल, कुछ तो कीजिए

जागरणसंवाददाता,रेवाड़ी:साहबबाजारमेंनिकलानहींजारहा,दिनभरबसजामहीजामलगारहताहै।आपकेआदेशोंकेबावजूदचौपहियावाहनोंकाप्रवेशनहींरुकरहा।इतनाहीनहींअतिक्रमणकारियोंकेआगेपूरासिस्टमहीनतमस्तकनजरआरहाहै।भयंकरजामकेकारणलोगवाहनोंपरतोक्यापैदलभीबाजारोंमेंसेनिकलनहींपारहेहैं।बाजारआनाएकतरहसेसजाबनगयाहै।शहरवासीप्रशासनिकअधिकारियोंसेकुछइसीअंदाजमेंबाजारोंकोजामसेमुक्तिदिलानेकीगुहारलगारहेहैं।जामकेकारणहाल-बेहालशहरकेबाजारोंमेंस्थितिबेहदविकटहोगईहै।बाजारोंमेंआपकानिकलनाबेहदमुश्किलहोजाताहै।महजपांचमिनटकीदूरीतयकरनेमेंआधेसेएकघंटेकासमयलगरहाहै।दीपावलीसेपूर्वहीबाजारोंमेंइसतरहकेहालातबनगएथे,जिसकेचलतेउपायुक्तयशेंद्रसिंहनेबाजारोंमेंभारीवचौपहियावाहनोंकेप्रवेशपरसुबह10सेशाम6बजेतककेलिएरोकलगादीथी।उपायुक्तकीरोककेबादएकदोदिनतोस्थितिकाबूमेंरहीथीतथापुलिसनेअवरोधलगाकरचौपहियावाहनोंकोरोकनाशुरूकियाथालेकिनअबफिरसेहालातबिगड़गएहैं।पुलिसकर्मीकिसीभीचौपहियावाहनकोरोकनहींरहेहैं।येवाहनसीधेबाजारमेंघुसकरजामकाबड़ाकारणबनरहेहैं।शनिवारकोशहरकेमोतीचौकबाजारमेंकरीबदोघंटेतकलोगजाममेंफंसेरहे।अतिक्रमणकारियोंनेकियापक्काकब्जाअनलाककेबादसेअतिक्रमणकारीपूरीतरहसेबाजारोंमेंहावीहोगएहैं।शहरकेबाजारोंमेंअतिक्रमणकाएकबड़ाखेलशुरूहोचुकाहै।बाजारकीसड़कोंपरदोनोंओरअतिक्रमणकारियोंनेअपनाकब्जाजमालियाहै।शहरकीपुरानीसब्जीमंडी,मोतीचौक,गोकलबाजार,रेलवेरोड,काठमंडी,नयाबाजार,अपनाबाजारआदिमेंअतिक्रमणकारियोंनेसड़कपरहीअपनीदुकानेंलगाकरपक्काकब्जाजमानाशुरूकरदियाहै।हैरानकरनेवालीबातयहहैकिस्थितिबदसेबदतरहोतीजारहीहैऔरनगरपरिषदकीटीमबाजारोंमेंनिकलकरस्थितिकोकाबूमेंकरनेकाकोईप्रयासनहींकररहीहै।बड़ीबातयहहैकिइनअतिक्रमणकारियोंसेबाजारकेहीदुकानदारकिरायाभीवसूलकररहेहैं।सरकारीसड़कपरकब्जाकरानेकेनामपरही20से25हजाररुपयेकाकिरायावसूलाजारहाहै।

इसलिएहीफैलरहाकोरोनाकोरोनासेबचावकेलिएशारीरिकदूरीबेहदआवश्यकहैलेकिनबाजारोंमेंजिसकदरजामलगरहेहैं,शारीरिकदूरीकाकोईपालननहींहोरहाहै।कोरोनासंक्रमणकेफैलावकाइसजामकोभीबड़ाकारणमानाजारहाहै।

बाजारमेंजामकोलेकरसोमवारकोकार्रवाईकीजाएगी।अतिक्रमणकोहटायाजाएगाऔरचौपहियावाहनोंकेप्रवेशपरभीरोकलगवाईजाएगी।

-रविद्रयादव,एसडीएमएवंप्रशासकनगरपरिषद