रोजी कमाने के साधन ने ही ले ली मासूम बेटे की जान

सौंधन(सम्भल):हयातनगरथानाक्षेत्रमेंटैंकमेंडूबनेसेमासूमकीमौतहोनेसेपूरापरिवारसदमेमेंहै।किसीकोक्यापताथाकिघरकापालनपोषणकरनेकेलिएपिताद्वाराकियागयारोजगारहीबेटेकीजानकादुश्मनबनजाएगा।मासूमकापिताविपिनमेहनतमजदूरीकरकेपरिवारकापालनपोषणकरताथाऔरइसकेलिएउसनेपंचरजोड़नेकीदुकानखोली,लेकिनइसछोटीदुकानकेकारणपरिवारकीआर्थिकस्थितिमेंभीकोईसुधारनहींहुआथा।इसपरविपिननेसातमाहपहलेहीगाड़ीधोनेकोकामशुरूकियाथा।

उसकामकसदपरिवारकीआर्थिकस्थितिकोमजबूतकरनाथा,लेकिनउसेक्यापताथाकिवहजिसेअपनीरोजीरोटीकासाधनसमझरहाहैउसीकेटैंकमेंडूबकाउसकेघरकाचिरागबुझजाएगा।बेटेकीमौतकेबादपिताविपिनहीनहींमांनीरजभीबदहवासहोरहीथी।जिन्हेंदेखकरबेटीप्रियांशीवबेटारितिकभीरोरहेथे।दोनोंहीअपनेछोटेभाईकोयादकररहेथे।दोनोंभाईबहनकेविलापकोदेखकरवहांपरमौजूदसभीलोगोंकीआंखेनमहोरहीथी।

कबखेलते-खेलतेनिकलगयासार्थकपताहीनहींचला

सौंधन:विपिननेघरकेपासहीपानीकाटैंकबनवालिया,जिसमेंभरेपानीसेवहगाड़ीकोधोताथाऔरबादमेंयहपानीपासमेंहीखेतमेंचलाजाताथा।स्वजनोंनेबतायाकिएकसालकासार्थकखेलखेलमेंघरसेबाहरकीतरफनिकलगया।स्वजनोंकेअनुसारउन्हेंयहआभासहीनहींथाकिवहकबखेलतेखेलतेबाहरचलागया।

जहांउसकेहाथमेंएकबोतलनुमाखिलौनाथा।स्वजनोंनेबतायाकिशायदखेलखेलमेंउसकावहखिलौनाटैंकमेंगिरगया,जिसकोनिकालनेकेप्रयासमेंवहटैंकमेंगिरगया।काफीदेरतकजबवहघरमेंदिखाईनहींदियातोमांनीरजउसेबाहरदेखनेकेलिएआयीठीकउसीसमयपिताविपिनभीकिसीगाड़ीकोधोनेकेलिएवहांपड़ेपाइपकोनिकालनेकेलिएआया।दोनोंकीनजरबच्चेपरपडी।दोनोंकीचीखनिकलगई,जिसेसुनकरअन्यलोगभीवहांपरआगए।ऐसेमेंआननफाननमेंविपिनटैंकमेंकूदगयाऔरबेटेकोनिकालातथाइसकेबादशहरमेंनिजीचिकित्सककेपासलेगया।जहांपरचिकित्सकनेउसेदेखकरमृतघोषितकरदिया।स्वजनोंनेबतायाकिगाडीधोनेकेलिएटैंकमेंएकदिनपहलेहीपानीभराथा।ऐसेमेंसर्दीकामौसमहोनेकेकारणयहपानीकाफीठंडाथाऔरइसीकारणउसमेंगिरनेसेमासूमकीमौतहोगई।