रंगने लगे चेहरे, दुकानों पर उमड़ी भीड़, कल होगी रंगों की धूम

लखीमपुर:होलीमेंआगलगनेमेंअभीएकदिनबकायाहैऔरबाजारमेंरंगकीधूमदिखाईदेनेलगीहै।एकदूसरेकेचेहरेपरगुलालमलेहुएलोगसड़कोंपरनिकलरहेहैं,वहींदुकानोंपरभीत्योहारकीखरीदारीबढ़चुकीहै।त्योहारकाउल्लाससाफझलकरहाहै।खपरैलबाजार,सब्जीमंडीसमेतसदरबाजारमेंरंगोंकीदुकानोंपरलोगअबीरगुलालखरीदरहेहैं।वहींखाने-पीनेकीसामग्रीभीबिकरहीहै।जिसमेंढाईसौरुपयेसेचारसौरुपयेकिलोतकमेंबनीहुईगुझिया,डेढ़सौरुपयेमेंमठरी,120रुपयेसे130रुपयेमेंविभिन्नतरहकीदालमोठबिकरहीहैं।

पिचकारीकीदुकानोंपरभीड़बढ़ीहुईहै।प्लास्टिककीपिचकारियोंकोखरीदनेकेलिएबच्चेहीनहींयुवाभीइसबारकाफीहोड़मेंहैं।टैंकवालीपिचकारी,बंदूककेआकारकीपिचकारीलोगज्यादापसंदकररहेहैं।लोगइसकेसाथहीखुशबूवालेगुलाबकेपैकेटकासेटभीखरीदरहेहैं।इसकेसाथहीबाजारमेंसिरकोरंगोंसेबचानेकेलिएतरह-तरहकेबालभीबिकरहेहैं।इसमें350रुपयेसेलेकर400से500तककईरंगोंकेबालहैं।जिन्हेंविगकेतौरपरसिरपरलगायाजासकताहै।बाजारमेंविगकीकाफीभरमारहै,लोगइन्हेंज्यादाखरीदरहेहैं।युवाओंकोमुखौटेकेसाथसाथकईरंगोंकेबालभीपसंदआरहेहैं।मिठाईकीदुकानोंपरभीलोगतरह-तरहकीमिठाइयांखरीदरहेहैं।इसमेंमावाकीबनीहुईमिठाईलोगज्यादाखरीदरहेहैं।